कोरोना,,,,, मरता क्या न करता,,,,,

नेशनल डेस्क। कोरोना के कारण देश भर की सीमाएं सील होने और आवागमन की सुविधाएं बंद होने के कारण अलग-अलग नजारे देखने को मिल रहे हैं कोई अपनी पत्नी को कंधे पर बिठाकर तो कोई सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर अपने घर पहुंच रहा है मुरैना जिले के एक गांव में भी दिलचस्प नजारा देखने को मिला, लॉकडाउन के चलते जिलेभर में वाहनों का आना जाना बंद है। मुरैना जिले के पहाड़गढ़ ब्लॉक से 6 किलोमीटर दूर स्थित सागोरियापुरा गांव में रहने वाले बीमार बुद्धा कुम्हार (65) को जब कोई वाहन नहीं मिला तो वह गुरुवार को अपने गधे पर बैठकर पहाड़गढ़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए। वृद्ध को देखकर पहाड़गढ़ के बाजार में सभी लोग चौक गए। बाद में पता चला कि यह उनकी मजबूरी थी। डॉक्टर्स से चेकअप कराकर और दवाई लेकर वृद्ध गांव लौट गए।


Popular posts
डराने लगा है कोरोना, महिला जज, प्रोफेसर पति पत्नी,, कॉलेज के प्राचार्य सहित 19 पॉजिटिव,
Image
कोरोना के मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि होने से एक और जहां शहर में दहशत , वहीं दूसरी ओर प्रशासन की कार्यप्रणाली भी संदेह के घेरे में है
Image
लोकायुक्त टीम के 3 अधिकारी और 30 सदस्यों की टीम ने तीन स्थानों पर की कार्रवाई
Image
महाशिवरात्रि पर ऑनलाइन , एप अथवा टोल फ्री नंबर पर प्री बुकिंग करवाई जा सकेगी,,,,प्री बुकिंग 5 मार्च से खुलेगी
Image
बरकतउल्ला विवि कार्य परिषद का निर्णय : संविदा पद से डॉ आशा शुक्ला सेवानिवृत्त कुलपति पद पर नियुक्ति मामले में राजभवन को किसने धोखे में रखा
Image