स्वयंसेवी संस्थाएं जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में जरूरतमंदों को भोजन पैकेट निशुल्क वितरित कर रही है

 


उज्जैन  ।कोरोनावायरस से बचाव के लिए लागू किए गए लॉक डाउन एवम  कर्फ्यू के दौरान उज्जैन शहर में कई ऐसे  हिस्सो  में श्रमजीवी लोग निवास करते हैं ,जो दिहाड़ी  कमाई पर निर्भर है। ऐसे लोगों को भोजन की  किसी तरह की तकलीफ नहीं हो तथा  इस हेतु जिला प्रशासन द्वारा स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से निरंतर जरूरतमंद लोगों तक फूड पैकेट 22 मार्च से निरंतर पहुंचाये   जा रहे हैं  ।
   अपर कलेक्टर श्रीमती विदिशा मुखर्जी ने बताया कि  28 मार्च के लिए  निम्नलिखित स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से  विभिन्न क्षेत्रों में फूड पैकेट्स का वितरण किया जाएगा : 


1000 पैकेट...सिख समाज,श्री सुरेंद्र अरोरा 
2000 पैकेट...महाकाल अन्नक्षेत्र
500 पैकेट ....श्री महेश तिवारी  व्ही एच पी 
500 पैकेट ...श्री महेश आंजना,बजरंग दल(शाम को वितरण)
500 पैकेट ...श्री हरि सिंह यादव,श्री रवि राय
500 पैकेट..  नीड ब्लड  डोनेट  ग्रुप ( शाम को वितरण)
500 पैकेट...श्री कमल कांत राजोरिया( शाम को वितरण)
1500 पैकेट ....स्वर्णिम भारत मंच( सुबह शाम दोनों मिलाकर)
1500 पैकेट... माय  हार्ट (सुबह शाम दोनों मिलकर)
250..चामुंडा माता समिति(शाम को वितरण)
500 पैकेट...निर्स्वार्थ सेवा समिति
500पैकेट.....श्री विवेक चौरसिया
500 पैकेट...श्री मुन्ना
200 पैकेट....सुयश सामाजिक संस्था
200 पैकेट ...डेरी एसोसिएशन


         खाद्य  विभाग  को  28  मार्च को  फ़ूड  पैकेट्स  का  कन्फर्मेशन करके   रूट चार्ट निर्धारण कर इनका वितरण सुनिश्चित करने को  कहा  गया  है ।
मिड  डे मील और उज्जयिनी सेवा समिति 10000 पैकेट रोज़ बनाएगी,सुबह 11 बजे तक 5000,दोपहर 12 बजे तक 2000 और शाम 5 बजे तक 3000  देगी। अपर कलेक्टर श्रीमती मुखर्जी ने बताया कि फूड पैकेट्स की आवश्यकता निरंतर बढ़ने के कारण कम्युनिटी किचन की व्यवस्था शुरू की गई है।