कलेक्टर  मनीष सिंह ने बेघर, बेसहारा आदि जरूरतमंद व्यक्तियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिये बनायी नई व्यवस्था

 


इंदौर।कलेक्टर मनीष सिंह ने कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम हेतु लॉक डाउन अवधि में आवागमन के साधनों को बंद किए जाने के कारण जो परिवार अपने निवास स्थान से अन्यंत्र रुके हैं अथवा बेघर, बेसहारा व्यक्तियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराए जाने के लिए आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इन निर्देशों का क्रियान्वयन करने हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  नेहा मीणा को नोडल अधिकारी बनाया है। जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को विशेष जवाबदारी सौंपी गयी है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बेघर, बेसहारा व्यक्ति, प्रवासी श्रमिक मजदूर, जो मजदूरी के अभाव में संकट में है को चिन्हित करने के निर्देश दिए हैं।
 
इस संबंध में जारी किये गये आदेश के अनुसार चिन्हांकित व्यक्तियों की आवश्यकता के अनुरूप खाद्यान्न उपलब्धता जिला आपूर्ति नियंत्रक द्वारा सुनिश्चित की जाएगी।  मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत द्वारा बनाई गई सूची के अनुसार केंद्रों पर खाद्यान्न जिला आपूर्ति नियंत्रक उपलब्ध कराएंगे। खाद्य सामग्री वितरण की व्यवस्था ग्राम पंचायत द्वारा की जाएगी। इस हेतु उचित मूल्य की दुकानें खोले जाने के निर्देश दिए गए हैं। खाद्यान्न वितरण परिवार में दो वयस्क सदस्य होने की स्थिति में 5 किलोग्राम गेहूं एवं एक किलो ग्राम चावल एक सप्ताह हेतु उपलब्ध कराए जाएंगे।


 दो से अधिक वयस्क सदस्य होने पर अधिकतम 10 किलोग्राम गेहूं एवं दो किलोग्राम चावल एक सप्ताह हेतु दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रदाय गेहूं एवं चावल का प्रयोग वास्तविक व्यक्ति द्वारा ही किया जा रहा है, यह सुनिश्चित किया जाए। साथ ही इसे मात्र वास्तविक जरूरतमंदों तक सीमित रखा जाए। किसी भी स्थिति में सक्षम अथवा पूर्व से प्रदत्त राशन वाले परिवार इस श्रेणी में ना आए, इसका विशेष ध्यान रखा जाये। खाद्यान्न के प्रदाय एवं भोजन वितरण पर सतत मानीटरिंग की जाए एवं व्यक्तिगत जिम्मेदारी सौंपी जाए। इन निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।
 उक्त कार्य हेतु जिला स्तर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंदौर श्रीमती मीणा  नोडल अधिकारी रहेंगी। मुख्य अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी  मधुलिका शुक्ला सहयोगी अधिकारी होंगी। जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद स्तर पर नोडल अधिकारी बनाए गए हैं।