हालात अब भी बद्तर,,,,,,,,,, 6 अस्पतालों की चौखट पर रहम की "भीख" नहीं मिली 7वें में मौत,,,,,बड़ा सवाल कहां गया एस्मा ?

उज्जैन।


कहने को तो मध्य प्रदेश में एस्मा लागू है,दावे किए जा रहे हैं कि शहर का कोई भी अस्पताल अपने यहां आने वाले मरीज को ईलाज के लिए मनाही नहीं कर सकता,,, कोवीड 19 के लिए चिन्हित आर डी गार्डी में कॉरोना से हुई मौतों के बवाल के बीच जिलाधीश का तबादला भी कर दिया और दावा किया जाता रहा है कि शहर में अब बेहतर से बेहतर ईलाज किया जा रहा है,,, लेकिन सच्चाई इन सब से इतर है,,,तीन दिन पहले माधव नगर क्षेत्र में आटा चक्की चलाने वाले एक 61 वर्षीय व्यक्ति की मौत का सफर दहला देने वाला है,जिस बेटे ने अपने बाप को तड़प तड़प कर मरते देखा उसका कहना है कि मेरे पिताजी को लंग्स में इंफेक्शन के चलते बीमार होने पर एक के बाद एक 6 अस्पतालों के बाद सातवें अस्पताल में पिताजी को बमुश्किल भर्ती कराने में सफल तो हो गया पर उसके हाथ लाश ही लगी।


मृतक के पुत्र अंकित शर्मा के अनुसार तेजनकर ,संजीवनी,गुरुनानक,पाटीदार, आर डी गार्डी ने तो भर्ती करने से ही इंकार कर दिया ।जिला चिकित्सालय में रात 10 बजे से भर्ती करने के बाद सुबह 10 बजे तक कोई ईलाज ही नहीं किया गया।वहां से सी एच एल अपोलो अस्पताल में शिफ्ट करने पर 24 घंटे का चार्ज 31 हजार रू वसूले,पर बदले में पिता की लाश ही हाथ लगी।


कहानी यहीं खत्म नहीं हुई ,कहानी के क्लाइमेक्स में कोरोना की रिपोर्ट को लेकर भी गंभीर लापरवाही इस ओर इशारा कर रही है कि पॉजिटिव और निगेटिव रिपोर्ट का भी कोई खेल अंदर ही अंदर चल रहा है।


मौत के बाद बकौल अंकित शर्मा,,, उसे बताया गया कि पिताजी की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है इसी आधार पर परिवार के सदस्य अंतिम संस्कार में शामिल भी हुए और लोगों से मिलते जुलते भी रहे । प्रशासन ने भी परिवार को होम क्वॉरेंटाइन नहीं किया लेकिन मौत के तीसरे दिन मृतक की रिपोर्ट पॉजिटिव बता कर परिवार के होश उड़ाने के साथ साथ पड़ोसियों को भी चिंता में डाल दिया । आटा चक्की वाले शख्स की मौत चींख चींख़ के बता रही है कि अभी भी व्यवस्थाएं बदहाल है बड़ा सवाल यह भी है कि जब कोविड 19 के लिए चिन्हित अस्पताल तक गंभीर अवस्था में व्यक्ति पहुंचा तो भी उसे इलाज के लिए भर्ती ना करते हुए जिला अस्पताल में जाने की सलाह दी । मरने वाला तो मर गया, लेकिन यह संदेश भी दे गया कि कोरोना काल में बीमार होना ही दुर्भाग्य है।


Popular posts
महाकालेश्वर मंदिर में 11वीं शताब्दी के मंदिर और मूर्तियां मिलने के बाद अब खुदाई के दौरान नर कंकाल और हडि्डयां मिली
Image
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान महाकाल मंदिर में पूजन में शामिल हुए
Image
उमड़ी भक्तो की भीड़, हर तरफ जय महाकाल की गूंज, उमा भारती भी पहुंची
Image
कावड़ यात्रा निकालने पर उज्जैन जिले की राजस्व सीमा में प्रतिबंध लगाया धारा 144 के तहत आदेश जारी
Image
गुरु पूर्णिमा के अवसर पर ओम साईं फरिश्ते फाउंडेशन एन जी ओ एवं संस्था संकल्प टीम डिवाइन के सहयोग से टावर चौराहा उज्जैन पर साईं बाबा का महा प्रसादी वितरण
Image