काले हिरण के शिकार का मामलाः आरोपी का जमानत आवेदन अपर सत्र न्यायालय ने भी खारिज किया

नरसिंहगढ़। दुर्लभ संरक्षित प्रजाति के काले हिरन (Antelope cervicapra) का शिकार करने वाले आरोपी की जमानत याचिका सुनवाई के बाद माननीय अपर सत्र न्यायालय नरसिहगढ़ की अदालत ने खारिज कर दिया। न्यायाधीश श्रीमती शशि सिंह की अदालत ने संरक्षित प्रजाति के काले हिरन के शिकार को गंभीर मानते हए आरोपी आरोपी शोएब कुरैशी निवारी बैरसिया जिला भोपाल को जमानत देने से इंकार किया है।


 


 घटना दिनांक 06 जनवारी 2020 को आरोपी सहित 4 व्यक्ति नरसिंहगढ़ अभ्यारण क्षेत्र में संरक्षित प्रजाति के काले हिरण का शिकार करने आए थे। सूचना पर वन विभाग ने कार्रवाई करते हए एक आरोपी को पकड़ लिया जबकि आरोपी सहित 3 आरोपी फरार हो गए थे। वन विभाग ने आरोपियो की तलाश जारी रखा। इसी दौरान आरोपी शोएब कुरैशी एक अन्य शिकार प्रकरण में भी जिला जेल भोपाल में बंद था। जिसे वन विभाग के द्वारा प्रोडक्शन वारंट के जरिए नरसिंहगढ़ लाया गया। जिस पर आरोपी ने जमानत आवेदन न्यायालय में लगाया था। 


 


काले हिरण के शिकार को गंभीर मानते हुए राज्य शासन ने आरोपी के जमानत आवेदन की सुनवाई हेतु विशेष लोक अभियोजक के रूप में *राज्य समन्यवक, वन एवं वन्य प्राणी अपराध* श्रीमती सुधा विजय भदौरिया एडीपीओ भोपाल को नियुक्त किया था। जिन्होंने शासन की ओर से अभियोजन का पक्ष समर्थन किया था। अभियोजन की दलीलों पर सहमति जताते हुए माननीय अपर सत्र न्यायालय ने आरोपी के जमानत आवेदन को खारिज कर दिया है।