रात्रि को घर में घुसकर लठ्ठ व डंडो से मारपीट करने वाले आरोपीगण की जमानत निरस्त,,,अवैध रूप से शराब परिवहन करने वाले आरोपी की अग्रिम जमानत निरस्त

जावद। श्री रूपसिंह कनेल, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, जावद द्वारा रात्रि को घर में घुसकर लठ्ठ व डंडो से मारपीट करने वाले आरोपीगण की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन अभियोजन द्वारा आपत्ति करने पर निरस्त कर आरोपीगण को जेल भेजा गया।


सहायक मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ श्री रमेश नावड़े द्वारा घटना की जानकारी देते हुुए बताया की घटना दिनांक 01.05.2020 को रात के 8 बजे सरवानिया महाराज, जावद की हैं। फरियादी रामेश्वर ने थाना जावद में रिपोर्ट लिखाई कि रात्रि लगभग 8 बजे जब मैं अपने घर में था, तभी आरोपीगण मेरे घर में पुरानी रंजीश को लेकर अपने हाथों में लाठी व डंडे लेकर घर में घुस आये व गाली-गलौच करने लगे। मैने गाली-गलौच करने से मना किया तो वे लोग मेरे व मेरी पत्नी के साथ लाठी व डंडो से मारपीट करने लगे, तभी चिल्ला-चोट की आवाज सुनकर हमारे गांव के कुछ लोग आये और उन्होने बीच-बचाव किया। आरोपीगण द्वारा जाते-जाते जान से मारने की धमकी दी गई, जिस पर आरोपीगण के विरूद्ध अपराध क्रमांक 164/20, धारा 452, 458, 323, 294, 506, 34 भादवि के अंतर्गत पंजीबद्ध किया गया। थाना जावद द्वारा आरोपीगण को जावद न्यायालय के समक्ष पेश किया, जहाँ आरोपीगण द्वारा जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया।


 


*श्री रमेश नावड़े, ए.डी.पी.ओ.* द्वारा अभियोजन पक्ष की ओर से तर्क रखा कि आरोपीगण द्वारा रात्रि का फायदा उठाकर फरियादी के साथ घर में घुसकर लाठी व डंडो से मारपीट की, जो कि एक गंभीर अपराध हैं, इसलिए आरोपीगण को जमानत न दी जाये। अभियोजन के तर्को से सहमत होकर *श्री रूपसिंह कनेल, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, जावद* द्वारा आरोपीगण (1) लाला उर्फ उदयलाल पिता शांतिलाल गुर्जर, निवासी झालीनेर, थाना मनासा (2) राहुल पिता भागीरथ गुर्जर, निवासी नगदपुरा, थाना मनासा की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन खारिज कर जेल भेजने का आदेश दिया गया।


मारपीट करने वाले 80 वर्षीय बुजुर्ग की अग्रिम जमानत खारिज कर भेजा जेल


मनासा। श्री अखिलेश कुमार धाकड़, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश, मनासा द्वारा मारपीट करने वाले 80 वर्षीय बुजुर्ग की अग्रिम जमानत आवेदन का अभियोजन द्वारा विरोध करने पर जमानत आवेदन खारिज कर जेल भेजा।


अभियोजन मीडिया सेल को विशेष लोक अभियोजक श्री जगदीश चैहान ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना दिनांक 17.04.2020 थाना मनासा की हैं। 80 वर्षीय बुजुर्ग आरोपी के रिश्तेदार संदीप द्वारा नाबालिग पीड़िता का बारम्बार मना करने पर भी रास्ता रोकता था तथा पीड़िता के मोबाईल पर बारबार मेसेज कर पीछा करता था, जिस पर पीड़िता के पिता की आरोपी के साथ संदीप द्वारा उसकी लडकी का पीछा करने की बात को लेकर कहा-सुनी हो गई थी, जिस पर आरोपी गणेशराम द्वारा अन्य आरोपीगण ललित व कैलाश के साथ मिलकर घटना दिनांक को घर में घुस कर लठ्ठ से उसके साथ तथा उसके माता-पिता के साथ मारपीट करने लगे, तभी चिल्ला-चोट की आवाज सुनकर गांव के कुछ लोग आये और उन्होने बीच-बचाव किया। जिस पर पुलिस ने विवेचना के दौरान आरोपीगण को गिरफ्तार कर थाना मनासा में अपराध क्रमांक 142/20, धारा 452, 354डी, 341, 323, 506, 34 भादवि एवं 11/12 पाॅक्सों एक्ट के अंतर्गत पंजीबद्ध किया गया। आरोपी गणेशराम घटना के बाद से लगभग 3 माह से फरार था व गिरफ्तारी से बच रहा था, जिसे थाना मनासा पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर मनासा न्यायालय के समक्ष पेश किया, जहाँ आरोपी गणेशराम द्वारा अग्रिम जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया। अन्य आरोपीगण ललित व कैलाश पूर्व से प्रतिभूति पर मुक्त है।


 


 *अभियोजन की ओर से श्री जगदीश चैहान, विशेष लोक अभियोजक* द्वारा आरोपी की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन का विरोध किया गया, कि आरोपी द्वारा अन्य आरोपीगण के साथ मिलकर नाबालिग पीड़िता व उसके माता-पिता के साथ मारपीट की, जो की एक गंभीर अपराध हैं। अभियोजन के तर्को से सहमत होकर *श्री अखिलेश कुमार धाकड़, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश, मनासा* द्वारा आरोपी गणेशराम पिता नाथूलाल, उम्र-80 वर्ष, निवासी-गागन्याखेड़ी, तहसील मनासा, जिला नीमच द्वारा प्रस्तुत अग्रिम जमानत आवेदन खारिज कर जेल भेज दिया गया।


अवैध रूप से शराब परिवहन करने वाले आरोपी की अग्रिम जमानत निरस्त


नीमच। श्री अजय सिंह ठाकुर, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश, नीमच द्वारा अवैध रूप से शराब परिवहर करने वाले आरोपी की अग्रिम जमानत निरस्त कर आरोपी को जेल भेजा गया।


 


मीडिया सेल प्रभारी को अपर लोक अभियोजक श्री शादाब खान द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि घटना दिनांक 10.03.2020 को दोपहर 3ः30 बजे हर्कियाखाल फंटा, जीरन की हैं। थाना जीरन में पदस्थ एएसआई कैलाश राठौर होली का त्यौहार होने से पुलिस सहायता केंद्र जीरन पर हमराह स्टाॅफ के साथ वाहन चैंकिग कर रहा था, वाहन चैंकिग के दौरान सफेद रंग की पिकअप एम.पी. 14 जी.सी. 0903 को रोककर उसकी चैंकिग की, जिसमें 7 ड्रम व नीले रंग की 1 टंकी मिली। जिनमें से शराब जैसी तीव्र गंध आ रही थी। आरोपी से पूछताछ करने पर उसने स्प्रिट भरा होना बताया। जिसका लाईसंेस व परमिट पूछने पर नही होना बताया व आरोपी का नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम रवि बताया, उसके कब्जे में रखी कैन को खोला गया तो उसमें शराब जैसी तीव्र गंद स्प्रिट होना पाया गया प्रत्येक ड्रम में 2-2 सौ लीटर तथा नीली टंकी में 50 लीटर, इस प्रकार कुल 1450 बल्क लीटर स्प्रिट भरा होना पाया गया। आरोपी से वाहन के संबंध में पूछताछ करने पर उसने उक्त वाहन गोपालदास का होना बताया, जो उससे शराब का परिवहन करवाता था। जिस पर आवश्यक कार्यवाही कर आरोपीगण के विरूद्ध थाना जीरन में अपराध क्रमांक 87/2020 धारा 34(2) म.प्र. आबकारी अधिनियम में पंजीबद्ध किया गया। इसके पश्चात् थाना जीरन द्वारा आरोपी गोपालदास को नीमच न्यायालय के समक्ष पेश किया, जहाँ आरोपी द्वारा अग्रीम जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया।


 


श्री शादाब खान, अपर लोक अभियोजक द्वारा आरोपी की ओर से प्रस्तुत अग्रिम जमानत आवेदन का विरोध किया गया कि आरोपी द्वारा अवैध रूप से शराब का परिवहन कर रहा था, जिसका अग्रिम जमानत आवेदन खारिज किया जायें। जिससे सहमत होकर *श्री अजय सिंह ठाकुर, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश, नीमच* द्वारा आरोपी गोपालदास पिता बालमुकुंददास बैरागी, उम्र-25 वर्ष, निवासी-हतुनिया, जिला-प्रतापगढ़ (राजस्थान) द्वारा प्रस्तुत अग्रिम जमानत आवेदन खारिज कर जेल भेज दिया गया।


 


 


Popular posts
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image
रावण दहन भी अब ऑनलाइन
Image
अपराधियों के खिलाफ उज्जैन पुलिस ने जनता से मदद मांगी,,,,जनता से शांतिदूत हेल्पलाइन से जुड़ने की अपील ,,अपराधिक गतिविधियों के संबंध में दे सकते हैं,,, सूचना सूचनाकर्ता का नाम रखा जावेगा गोपनीय
Image