रस्सी से बांधकर निर्दयतापूर्वक हत्याकारित करने वाले अभियुक्त की जमानत निरस्त

 


 न्यायालय श्रीमान अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमान एस.सी. पाल, तहसील तराना, जिला उज्जैन के न्यायालय द्वारा अभियुक्त कैलाश पिता रामचन्द्र, निवासी- थाना माकडौन, जिला उज्जैन की जमानत निरस्त की।  


      अभियोजन उप-संचालक डॉ. साकेत व्यास ने बताया कि घटना इस प्रकार है कि दिनांक 04.08.2017 को फरियादी राकेश ने थाना माकडौन पर उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज कराई की मेरा भतीजा नागेश्वर का मकान मेरे मकान के पास में है। आज प्रातः 04ः00 बजे बाबूलाल के घर के तरफ चिल्लाचोट की आवाज हो रही थी तो मैं व मेरी भतीजी, मेरी भाभी हम सब वहां गये तो मेरा भतीजे नागेश्वर को रस्सी से सिद्धू पिता देवा के मकान पर बांध रखा था और उक्त अभियुक्तगण बाबूलाल के हाथ में मोटर सायकल की लोहे की चेन एवं नन्दराम, मोहन, कन्हैयालाल, कैलाश, प्रकाश के हाथ में लाठियां थी और तेजूबाई पति सिद्धू, रीना पति रमेश लात-घूंसो से मारपीट कर रहे थे तो हमने बोला कि नागेश्वर को क्यो मार रहे हो, सिद्धू बोला कि नागेश्वर हमारी गली तरफ क्यो आया है इसी कारण हम इसे मार रहे है, तो मैने कहा कि इनको पुलिस के हवाले कर दो फिर भी नहीं माने और हमे भी गाली-गलौच व भाभी नागेश्वर को बचाने गई तो उसे धक्का देकर गिरा दिया और बोले कि पुलिस को खबर की तो तुम को भी मारेंगे और एक-दो के हाथ पैर तोड़ देंगे। अभियुक्त नन्दराम, बाबूलाल, मोहन, कन्हैयालाल, तेजूबाई, कैलाश, रीना, प्रकाश एवं सिद्धू ने मेरे भतीजे को एकसाथ एकमत होकर रस्सी से बांधकर जान से मारने की नियत से मारपीट की हैं जिससे उसके पूरे बदन पर चोंटे आई जिससे उसकी मृत्यु हो गई। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना माकडोन पर प्रथम सूचना रिपोर्ट लेखबद्ध की गई। 


 अभियुक्त कैलाश द्वारा न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया था। अभियोजन अधिकारी द्वारा निवेदन किया गया कि अभियुक्त कैलाश द्वारा अन्य अभियुक्तगण के साथ मिलकर जंघन्य रूप से हत्या कारित की हैं। माननीय न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर अभियुक्त का अग्रिम जमानत आवेदन निरस्त किया गया।  


 अभियोजन की ओर से पैरवी श्री सुनील परमार, एजीपी, तह0 तराना द्वारा किया गया था। 


 


                    


Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image