विवाहिता लड़की व एक लड़के को भगाकर ले जाने वाले आरोपीगण को न्यायालय ने भेजा जेल,,,,,,,,मध्य प्रदेश में हुई राज्य समन्वयकों की नियुक्ति

गुना। न्यायालय राधौगढ़ में आरोपीगण बुन्देल सिंह बंजारा, घासीराम उर्फ घसिया को गिरफ्तार कर पेश किया गया प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से श्री मयंक भारद्वाज एडीपीओ राधौगढ़ द्वारा की गयीं जिसके आधार पर न्यायालय ने आरोपीगणों को जेल भेज दिया। 


   मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि फरियादिया ने अपने दामाद के साथ उपस्थित होकर रिपोर्ट लेख करायी कि मेरी नातिन जिसकी शादी बड़ोदिया उज्जैन में हुई थी कल हमारे पास आई थी मेरे घर पर रूकी थी जिसे बुन्देल सिंह बंजारा मेरे घर से चप्पल पहनाने के बहाने नातिन तथा 07 वर्षीय लड़के को भगा ले गया हैं उक्त रिपोर्ट पर से थाना राधौगढ़ ने अपराध क्रमांक 99/2020 पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया 


 


 अबोध नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी मांगीलाल की विशेष न्यायालय ने की जमानत ख़ारिज


 


अभियोजन द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पैरवी की गयी


गुना। 8-9 वर्षीय नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी मांगीलाल उर्फ मांगू द्वारा विशेष न्यायालय गुना में जमानत के लिए आवेदन दिया गया जिसमें शासन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक डीपीओ गुना द्वारा करते हुए जमानत आवेदन निरस्त करने हेतु न्यायालय से निवेदन किया की अबोध नाबालिक लड़कियों के साथ बढ़ती घटनाओं को देखते हुए आरोपी के जमानत आवेदन निरस्त किया जाना विधि सम्मत होगा जिसके आधार पर विशेष न्यायालय पॉक्सो गुना ने आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त कर दिया।


        


           मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि फरियादिया ने थाना बमोरी में रिपोर्ट लेख कराते समय अपने कथन में बताया कि दिनांक 17/06/2020 को दोपहर 1:00 बजे फरियादिया घर के बाहर खेलने के दौरान आरोपी मांगीलाल उर्फ मंगू द्वारा जबरदस्ती उसे पकड़कर गांव के बाहर टपरिया पर ले जाना और भूसे में पटक कर मारपीट कर गला दबाना तथा जान से मारने की धमकी देना तथा अश्लील हरकत करना बताया उक्त रिपोर्ट पर से थाना बमोरी द्वारा अपराध क्रमांक 124/2020 धारा 363,354,323,506 भादवि एवं पॉक्सो एक्ट की धारा 9एम/10 में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।


पुरूषोत्तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक लोक अभियोजन म0प्र0 ने नियुक्त किये 05 राज्य समन्वयक


महानिदेशक/संचालक लोक अभियोजन मध्य प्रदेश  पुरूषोत्तम शर्मा, (आई.पी.एस.) द्वारा मध्य प्रदेश में राज्य समन्वयकों की नियुक्ति की गई है।  पुरूषोत्तम शर्मा द्वारा श्री त्रिलोकचंद्र बिल्लौरे, उप संचालक अभियोजन, धार (म.प्र.) को अनुसूचित जाति - अनुसूचित जनजाति अधिनियम के प्रकरणों हेतु, श्री अकरम शेख, जिला अभियोजन अधिकारी, इंदौर (म.प्र.) को एन.डी.पी.एस. अधिनियम के प्रकरणों हेतु, सुश्री सीमा शर्मा, विशेष लोक अभियोजक, रतलाम (म.प्र.) को लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम के प्रकरणों हेतु, श्रीमती मनीषा पटेल, विशेष लोक अभियोजक, भोपाल (म.प्र.) को महिलाओं से संबंधित प्रकरणों हेतु तथा श्रीमती सुधा विजय सिंह भदौरिया सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी, भोपाल (म.प्र.) को वन एवं वन्य प्रणी से संबंधित प्रकरणों हेतु राज्य समन्वयक नियुक्त किया गया है।


 मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि प्रमुख जनसपंर्क अधिकारी, लोक अभियोजन मध्य प्रदेश श्रीमती मोसमी तिवारी द्वारा प्रदत जानकारी अनुसार कि माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान जी एवं माननीय गृहमंत्री, श्री नरोत्तम मिश्रा जी द्वारा समय-समय पर यह निर्देश जारी किए गए हैं कि महिला एवं बालकों के विरूद्ध गंभीर अपराध एवं समाज पर व्यापक प्रभाव डालने वाले प्रकरणों के प्रति मध्य प्रदेश राज्य शासन गंभीर है और इसी को ध्यान में रखते हुए  पुरूषोत्तम शर्मा द्वारा राज्य समन्वयकों की नियुक्ति की गई है। 


 


 


श्री पुरूषोत्तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक लोक अभियोजन मध्य प्रदेश के अनुसार समाज एवं राष्ट्र को प्रभावित करने वाले अपराध जैंसे महिला एवं बालकों के विरूद्ध लैंगिक शोषण, युवाओं की पूरी आने वाली पीढ़ी को प्रभावित करने वाले ड्रग्स के एवं नशीले पदार्थों के अपराध, समाज के अत्यंलत पिछड़े वर्ग अजा एवं अजजा के विरूद्ध भेदभाव वाले अपराध एवं प्रकृति के विरूद्ध किये जाने वाले अपराधों को गंभीरता से लेने की आवश्यकता है इसीलिए मेरे द्वारा उक्त प्रकरणों के प्रभावी अनुसंधान एवं अभियोजन की आवश्य‍कता को समझते हुए 05 राज्यं समन्वरयकों की नियुक्ति की गई है। मैं स्वय उक्त अपराधों के न्यायालयीन निराकरण समय पर होने तथा अपराधियों को अधिक से अधिक दण्ड दिलाने हेतु प्रतिबद्ध हूँ तथा माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी एवं माननीय गृहमंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा जी के मध्य प्रदेश राज्य को अपराध मुक्त तथा महिलाओं एवं बालकों के संरक्षण हेतु सुरक्षित बनाने के संकल्प को मूर्त रूप देने हेतु मैं और मेरा विभाग पूर्णरूप से प्रतिबद्ध एवं प्रयासरत है और इसी तारतम्य में मेरे द्वारा नियुक्त किये गये राज्य समन्वयक मेरे आदेशों के अधीन अपने-अपने क्षेत्रों के पूरे राज्य में अभियोजित किये जा रहे प्रकरणों की मॉनी‍टरिंग कर समय-समय पर मुझे रिपोर्ट प्रेषित करेंगे ताकि मैं स्वयं राज्यो में संचालित इन समस्त् प्रकरणों हेतु उचित दिशा-निर्देश जारी कर सकूँ। राज्य समन्वयक के माध्य्म से समय-समय पर प्रशिक्षण और अन्य सुवि‍धाऐं प्रकरण के संचालनकर्ता अभियोजन अधिकारी को उसकी व्यावसायिक दक्षता के संवर्धन हेतु प्रदान की जा सकेंगी। इस हेतु मेरे द्वारा समस्त राज्य् समन्वयकों को उनका कार्य प्रारम्भ करने हेतु दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। 


श्रीमती तिवारी ने यह भी बताया कि राज्य समन्वयकों की नियुक्ति संचालक महोदय के मुख्य उद्देश्य ''समाज को प्रभावित करने वाले अपराधों का समयानुचित न्यायपूर्ण निराकरण कराना एवं उक्त प्रकरणों में सरल, सुलभ एवं प्रभावी अभियोजन सुनिश्चित करना है।'' निश्चित ही यह प्रयास अपराधियों में भय व्याप्त करेगा एवं पीडि़तों को न्याय प्रदान करने में सहायक होगा।


      


Popular posts
ओ माय गॉड,,,, महाकाल में नौकरी और करतूत इतनी गंदी,,,,,,
Image
अमलतास हॉस्पिटल में पत्रकार सम्मान व कॉकलियर इम्प्लांट ऑपरेशन किया गया।
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image