लकड़ी चोरी करने वाले आरोपियों कि जमानत निरस्त

राजगढ़/जीरापुर।


माननीय न्यायालय जेएमएफसी जीरापुर की अदालत ने थाना माचलपुर के अपराध क्रमांक 300/20 वन अधिनियम के अभियुक्त शिवसिंह, विष्णु और रामप्रसाद की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।


उपरोक्त अभियुक्तों के विरुद्ध भारतीय वन अधिनियम, 1927 की धारा 26, म.प्र. वन उपज (व्यापार विनियमन) अधिनियम, 1969 की धारा 5/16 और भारतीय दंड संहिता, 1860 की धारा 379 के तहत दंडनीय अपराध लगभग 21,000/- रूपये मूल्य की लगभग 21 क्विंटल खैर की गीली लकड़ी के संबंध में कारित किए जाने के आरोप हैं। अभियुक्तगण से इतनी अधिक लकड़ी तब जप्त की गई है जब वे इस लकड़ी को नारायण सिंह सोंधिया नाम के व्यक्ति के खेत की मेढ से काटकर चोरी करके एक चार पहिया वाहन से ले जा रहे थे। 


 


अभियुक्तों ने न्यायालय के समक्ष अपना जमानत आवेदन प्रस्तुत कर जमानत की मांग की थी, जिस पर शासन की ओर से एडीपीओ श्री रवीन्द्र पनिका ने न्यायालय के समक्ष तर्क कर जमानत पर रिहा न लिए जाने का निवेदन किया ।


पर्यावरण संरक्षण की वर्तमान आवश्यकताओं और एडीपीओ के तर्कों को दृष्टिगत रखते हुए माननीय न्यायालय ने आरोपियों कि जमानत खारिज की है।