आयुष विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु सलाह जारी


 
उज्जैन । शासकीय धन्वंतरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ.जेपी चौरसिया द्वारा जानकारी दी गई कि मध्य प्रदेश शासन के आयुष विभाग द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु कुछ सामान्य उपाय और सलाह जारी की गई है। इनके पालन से कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है। जारी सलाह अनुसार आमजन व्यक्तिगत स्वच्छता बनाये रखें, साबुन और पानी से अपने हाथों को कम से कम 20 सेकंड तक धोयें, बिना हाथ धोये अपनी आंखें, नाक और मुंह छूने से बचें। बीमार होने पर घर पर ही रहें, जो लोग बीमार हैं उनके निकट सम्पर्क से बचें, संक्रमण से बचने के लिये सार्वजनिक स्थानों पर यात्रा करते समय या काम करते समय एक एन-95 मास्क का उपयोग करें, सर्दी और खांसी के मरीज साफ-सुथरा रूमाल रखें और रोज बदलें, पानी खूब पीयें तथा पौष्टिक आहार का सेवन करें, स्वस्थ आहार और जीवनशैली के माध्यम से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ायें तथा खांसी और छींक आने पर मुंह व नाक को रूमाल या टीशू पेपर से ढंक लें।


*आयुर्वेदिक औषधि से बढ़ायें रोग प्रतिरोधक क्षमता*
 
आयुर्वेद चिकित्सा में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये कई औषधियों का प्रयोग किया जाता है। इसमें षडंग पानी (मुस्ता, परपट, उशीर, चन्दन, उदीच्य और नागर) का 10 ग्राम पावडर एक लीटर पानी में डालकर उबालें और आधा रह जाने पर प्यास लगने पर पीयें। सशंमनी वटी 500 मिग्रा दिन में दो बार लें। त्रिकटु पावडर 5 ग्राम, तुलसी 3 से 5 पत्तियां एक लीटर पानी में डालकर उबालें तथा आधा होने पर आवश्यकता अनुसार घूंट-घूंट कर पीयें। प्रतिदिन नाक के प्रत्येक नथुने में सुबह अणु/तिल के तेल की दो-दो बूंद डालें। आमजन से अनुरोध है कि उपरोक्त दवाईयों का प्रयोग आयुर्वेद चिकित्सक के परामर्श के बाद ही करें।