बलात्कार करने वाले आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त


शाजापुर।न्यायालय श्रीमान अपर चतुर्थ सत्र न्यायाधीश  महोदय शुजालपुर ने आरोपी निशार पिता अब्दुल रउफ खां  उम्र 38 साल निवासी जाबडिया  भील थाना कालापीपल का जमानत आवेदन पत्र सहा. जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री कमल सिंह गोयल शुजालपुर के तर्क से सहमत होते हुए दिनांक 20.03.2020 को निरस्त किया गया।
 
जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि, दिनांक 15.03.2020 को पीडिता के पापा, मम्मी, भाई खेत पर हाइवेस्टर से गेंहू कटवाने गए थे, वहां घर पर अकेली थी, रात करीब 8 बजे आरोपी निशार पिता अब्दुल रउफ खां घर में घुस आया और उस पर झूम गया और भात में भर लिया तथा नीचे पटक कर उसका पेटीकोट उठा दिया, वहां चिल्लाई तो उसका मुंह दवा दिया और उसके साथ जबरन बलात्कार  किया और बोला की अगर तु किसी से कहेगी तो तुझे व तेरे बच्चों को जान से खत्म कर दूंगा। रात में पापा के आने के बाद उसने घटना बताई। इस घटना के पूर्व भी आरोपी जब पीडिता मजदूरी करने जाती थी तो बुरी नियत से उसे देखता था व उसका  पीछा करता था। पीडिता ने यह बात शर्म और बेइज्जती के कारण किसी को नहीं बताई। पीडिता ने घटना  की रिपोर्ट थाना कालापीपल पर की थी।
थाना कालापीपल के अपराध क्रमांक 98/2020 पर आरोपी के विरूद्ध धारा 376(2)(एन), 456, 506 भादवि के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर अनुसंधान के दौरान आरोपी को गिरफ्तारी उपरांत दिनांक 18.03.2020 को सक्षम न्यायालय मे पेश किया गया। माननीय न्यायालय द्वारा दिनांक 01.04.2020  तक आरोपी को उपजेल शुजालपुर भेजा गया था। आरोपी निशार के ओर से जमानत आवेदन पत्र प्रस्तुत होेने पर अभियोजन की ओर से माननीय न्यायालय के समक्ष तर्क सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री कमल सिंह गोयल शुजालपुर द्वारा किये गये जिनसे सहमत होते हुये आरोपी का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया।
   


Popular posts
अखाड़ा परिषद् अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Image
देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि
स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने के लिए राजनीतिक दल आमंत्रित 
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image