रिश्वत लेकर प्रमाण पत्र बनाने वाले कर्मचारी को निलंबित कर विभागीय जाँच करे
 

देवास। मेडीकल बोर्ड में प्रमाण पत्र रिश्वत लेकर स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनाने वाले शासकीय कर्मचारी दीलिप शर्मा को स्थानांतरण व निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश की मांग को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता आरबी भाई पटेल ने मंगलवार को जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा एवं आवश्यक कार्यवाही हेतु एक प्रति मप्र शासन को भेजी। श्री पटेल ने बताया कि सिविल सर्जन कार्यालय में कार्यरत दिलीप शर्मा ने मेडिकल बोर्ड में प्रमाण पत्र बनाने के लिए 300-300/- रू. की रिश्वत मांगने की शिकायत 3 मार्च 2020 को की थी। दिलीप शर्मा द्वारा पांच वर्ष पूर्व भ्रष्टाचार की शिकायत होने के कारण अपना एच्छीक स्थानांतर देवास से जिला गुना स्वास्थ्य विभाग में करा लिया था। लेकिन वह रिश्वत नहीं मिलने से यहां पुन: अपना स्थानातंरण गुना स्वास्थ्य विभाग से ऐच्छिक देवास में कराकर कार्यालय में विभागीय अधिकारी कर्मचारियों की साठ-गाठ से मेडिकल बोर्ड प्रमाण पत्र बनाने वाले से पिछले कई वर्षों से रिश्वत ले रहा है। पिछले सप्ताह 300-300/- रू. रिश्वत लेने की शिकायत मय प्रमाण के इसकी शिकायत की गई है। लेकिन विभागीय अधिकारी कर्मचारियों की साठ-गाठ से दिलीप शर्मा से कार्य सिविल सर्जन कार्यालय में लिया जा रहा है। श्री पटेल ने कलेक्टर एवं प्रदेश शासन से मांग की है कि जनहित एवं माननीय आधार पर दीलिप शर्मा का स्थानांतरण अन्यत्र कर निलंबित किया जाए। साथ ही विभागीय जांच करने के आदेश एवं निर्देश प्रदान करें। 

Popular posts
अखाड़ा परिषद् अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Image
देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि
स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने के लिए राजनीतिक दल आमंत्रित 
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image