वन मित्र पोर्टल पर ग्राम सभाओं में संकल्प पारित कराने की समय-सीमा निर्धारित


 
उज्जैन । संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा ने गत दिवस आदिम जाति कल्याण तथा अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के जिला अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि वनाधिकार अधिनियम, आदिवासी एवं अन्य परम्परागत वनवासियों के हितों के संरक्षण की महत्वपूर्ण योजना है, इसलिये वनाधिकार के दावों का परीक्षण कर वन अधिकार समिति द्वारा अनुमोदन कराया जाकर वन निवासियों को वनाधिकार के हक के प्रमाण-पत्र का शीघ्र वितरण किया जाये और समस्त अमान्य एवं निरस्त दावों का पंजीयन वनमित्र पोर्टल पर ग्राम सभाओं में संकल्प पारित कराने की समय-सीमा 14 अप्रैल निर्धारित की है। संभागायुक्त ने सम्बन्धित अधिकारियों को समय-सीमा में उक्त कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
 आदिम जाति कल्याण तथा अनुसूचित जाति विकास के संभागीय उपायुक्त ने यह जानकारी देते हुए बताया कि बैठक में संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि अत्याचार निवारण अधिनियम के लम्बित प्रकरणों में पुलिस विभाग से समन्वय स्थापित कर कार्य किया जाना सुनिश्चित करें। राहत के प्रकरणों में जहां उत्तराधिकारियों को रोजगार देना है, उन प्रकरणों में शासकीय सेवा में रोजगार उपलब्ध न होने पर हितग्राहियों को जिला अन्त्यावसायी अथवा आदिवासी वित्त विकास निगम के माध्यम से रोजगार स्थापित करने हेतु बैंक से ऋण दिलवाया जाकर पुनर्वास हेतु कार्य किया जाये।