BREAKING,,,,,,,शहर के प्रतिष्ठित दवा व्यापारी ने इंदौर में अंतिम सांस ली, कोरोना ने गिरफ्त में लिया था, बाद में रिपोर्ट नेगेटिव आई थी

उज्जैन। शहर का एक दवा व्यापारी आखिरकार कोरोना की जंग हार गया, गोला मंडी में रहने वाले और सराफा में होलसेल की दवा दुकान संचालित करने वाले व्यापारी ने अंतिम सांस कल शाम इंदौर के अरविंदो अस्पताल में ली। सराफा में आर के एजेंसी के नाम से आयुर्वेदिक दवाओं का होलसेल व्यापार करने वाले और अग्रवाल समाज के प्रतिष्ठित व्यापारी मदन अग्रवाल को उज्जैन के माधव नगर अस्पताल में लगभग 15 दिन पहले कोरोना के लक्षण के चलते भर्ती किया गया था, बताया जाता है कि उक्त व्यापारी ने क्षेत्र के एक कंपाउंडर से पट्टी बंधवाई थी, बाद में पता चला कि उक्त कंपाउंडर कोरोना पॉजिटिव है, इसलिए स्वयं ही आगे आकर जांच करवाने पर रिजल्ट पॉजिटिव आया, पहले उज्जैन के माधव नगर अस्पताल, और फिर वहां से उन्हें इंदौर के अरविंदो अस्पताल में भर्ती किया गया था, पारिवारिक सूत्र के मुताबिक उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आ गई थी, लेकिन कल शाम अचानक तबीयत बिगड़ने से उन्होंने दम तोड़ दिया, अग्रवाल समाज के प्रतिष्ठित , मिलनसार और आयुर्वेदिक दवाओं के व्यापार की शहर की सबसे पुरानी फर्म के व्यापारी का इस तरह अचानक चले जाने से अग्रवाल समाज और दवा व्यापारियों में शोक व्याप्त है, अग्रवाल समाज के विजय अग्रवाल और भगवानदास एरन ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृत आत्मा को मोक्ष की कामना ईश्वर से की है। श्री अग्रवाल के निधन से दवा बाजार में भी हड़कंप के साथ-साथ शोक व्याप्त है। इधर इंदौर रोड स्थित श्री महाकालेश्वर सिंधी कॉलोनी में रहने वाले एक व्यक्ति में कोरोना के लक्षण के बाद उसका सैंपल लिया गया है और घर के बाहर कोविड-19 होम क्वॉरेंटाइन का पोस्टर चस्पा कर दिया गया है, जिससे क्षेत्र के लोगों में हलचल मच गई है बताया जाता है कि क्षेत्र में क्षेत्र में रहने वाले परिवार के जिस सदस्य को कोरोना के लक्षण है, उसका हेयर सैलून का व्यवसाय है, क्षेत्र के अनेक लोगों ने अनलॉक के बाद अपने बाल इस व्यक्ति के हेयर सैलून कटवाए हैं।


Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image