अभियोजन डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा का अमानवीय चेहरा सामने आया, महिला मित्र के साथ रंगे हाथों पत्नी ने पकड़ा तो पत्नी के साथ क्रूरता से पेश आए, सोशल मीडिया पर दो वीडियो वायरल

भोपाल। पिछले कुछ दिनों से महिला अपराध, बाल अपराध, मूक पशु अपराध आदि पर मानवता का पाठ पढ़ाने वाले मध्य प्रदेश के अभियोजन के डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा के अमानवीय चेहरे को उजागर करने वाला एक वीडियो रविवार को सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ, वीडियो में दिखाई देने वाला शख्स डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा ही है ?इस बात की अभी अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन पुलिस महकमा दबी जुबान से मान रहा है कि यह वीडियो पुरुषोत्तम शर्मा के ही है ,बताया जाता है कि शर्मा ,,अफसर महिला मित्र के घर गए थे, वहां उनकी पत्नी ने दोनों को रंगे हाथों पकड़ लिया, घर लौट कर दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ विवाद के दौरान डीजीपी शर्मा ने अपनी पत्नी के साथ मारपीट की और बाल पकड़कर जमीन पर गिरा भी दिया, यह वीडियो उनके घर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया जिसे उनके ही पुत्र ने मध्यप्रदेश में पुलिस महा निरीक्षक, प्रमुख सचिव और गृह मंत्री को भेज कर पिता के अमानवीय चेहरे को उजागर किया और क्रूरता के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग की, वीडियो की सत्यता की जांच अभी नहीं हो पाई है लेकिन विभाग में इस वीडियो के जारी होने के बाद घमासान मच गया है, बताया जाता है कि रंगीन मिजाज अभियोजन डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा अक्सर महिला मित्र के घर जाया करते थे शक होने पर पत्नी ने रेकी कर उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया ।पुरुषोत्तम शर्मा पिछले कुछ दिनों से लगातार वेबीनार के माध्यम से मध्यप्रदेश में अभियोजन को महिला अपराध ,बाल अपराध मुक पशु अपराध को लेकर लंबे चौड़े भाषण दे रहे थे ,लेकिन किसी को यह नहीं पता था कि भाषण देने वाला शख्स खुद ही इस तरह के अपराध में न सिर्फ शामिल होगा बल्कि अपनी वर्दी का गलत उपयोग करेगा।उल्लेखनीय है कि कुछ महीनों पूर्व उज्जैन में आईजी रहे बी मधु कुमार का भी एक वीडियो रिश्वत बटोर ते हुए वायरल हो गया था उस वक्त भी पुलिस महकमे की किरकिरी होने के बाद जांच के बहाने पूरे मामले को लगभग दफन कर दिया गया था अब अभियोजन डीजीपी का वीडियो पुलिस विभाग की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है, अभी तक इस मामले में कोई ठोस कार्यवाही की जानकारी नहीं है, वीडियो को लेकर भी पुष्टि नहीं की जा रही है। 6 दिन पहले सोशल मीडिया की उपयोगिता पर दिया व्याख्यान भी हो रहा है वायरल 23/09/2020 को मध्य प्रदेश लोक अभिजोजन विभाग के मीडिया सेल हेतु प्रशिक्षण ऑनलाइन वेबीनार के माध्यम से आयोजित किया गया।जिसमें बताया गया की पुरूषोत्‍तम शर्मा महानिदेशक/संचालक लोक अभियोजन म.प्र. पीड़ित व्‍यक्ति के प्रति अति संवेदनशील हैं तथा उन्‍हें सरल, सुलभ एवं त्‍वरित न्‍याय दिलाने हेतु कटिबद्ध हैं। इसी तारतम्‍य में 23सितंबर को म.प्र. लोक अभियोजन के सभी संभागीय जनसंपर्क अधिकारी, मीडिया सेल प्रभारी एवं सहायक मीडिया सेल प्रभारीगण को प्रशिक्षित करने के उद्देश्‍य से यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया था


 पुरूषोत्‍तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक लोक अभियोजन म.प्र ने अपने उद्बोधन में सोशल मीडिया की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा था की आज के इस आधुनिक युग में किसी व्‍यक्ति के विचारों, कार्यों, समाचार इत्‍यादि का प्रचार-प्रसार करने का मीडिया एवम सोशल मीडिया एक बहुत ही सशक्‍त माध्‍यम है तथा इसका प्रभाव प्रत्‍येक व्‍यक्ति पर पड़ता है। मीडिया एवम सोशल मीडिया की इसी उपयोगिता को समझते हुए हमें अभियोजन विभाग के द्वारा किए गए कार्यों का उचित प्रचार-प्रसार मीडिया एवम सोशल मीडिया के माध्‍यम से करना है। उन्‍होंने यह भी कहा कि आज लगभग हर व्‍यक्ति सोशल मीडिया पर सक्रिय है इसलिए हमें हमारे कार्यों को सभी तक पहुंचाना है और जागरूक करना है । शर्मा द्वारा सोशल मीडिया की उपयोगिता बताने वाला यह भाषण स्वयं उन पर ही भारी पड़ जाएगा और सोशल मीडिया उनकी ही पोल खोल देगी शायद इसका उन्हें अंदाजा नहीं था।