धारदार हथियार के द्वारा लोंगो को डराने-धमकाने वाले आरोपी को जेल भेजा गया ‘‘

  • देवास


 जिला अभियोजन अधिकारी राजेन्द्र खाण्डेगर ने बताया कि उपनिरीक्षक थाना खातेंगांव में पदस्थ है दिनांक 21.09.2020 को मुखबिर के द्वारा सूचाना प्राप्त हुई कि संदलपुर बस स्टैण्ड पर श्रवण नाम का एक व्यक्ति खड़ा है जो धारदार छुरा लिये आने-जाने वाले लोंगो एवं दुकानदारों को डरा धमका रहा। सूचना पर विष्वास कर राहगीर पंचान साक्षी को तलब कर मुखबिर की सूचना से अवगत करवाकर हमराह लेकर मुखबिर के बताए स्थान संदलपुर बस स्टैण्ड पर पहुंचा, जहाॅ पर मुखबिर द्वारा बताये गये हुलिया का व्यक्ति खडा दिखा जो पुलिस को देखकर वहाॅ से भागने लगा जिसे पंचानो की मदद से घेराबंदी कर पकड़ा एवं उसका नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम श्रवण विष्नोई पिता राधेष्याम विष्नोई उम्र 40 साल नि0 ग्राम संदलपुर का बताया। उपरोक्त पंचानों के समक्ष उक्त व्यक्ति की जामा तलाषी लेते कमर में दाहिनी और पेंट के नीचे खोंसा हुआ लोहे का धारदार एक छुरा मिला जिसके बारे में उक्त व्यक्ति से छुरा रखने का वैद्य लायसेंस मांगा तो नही होना बताया तब छुरे की नाप करते हुये कुल लम्बाई 12 इंच, फल की लम्बाई 7 इंच, फल की चैडाई करीब 02 इंच फल धारदार आगे से नुकीला, मुठ की लंबाई 05 इंच कीमत लगभग 100 रूपये। आरोपी का यह कृत्य धारा 25 आम्र्स एक्ट के तहत दंडनीय होने से उक्त पंचान के समक्ष मुताबिक जप्ती पंचनामा के तहत छुरा जप्त किया गया। पंचो व आरोपी की हस्ताक्षरित जप्ती चीट छुरे पर चस्पा की गई तथा उक्त आरोपी को उपरोक्त पंचानों के समक्ष विधिवत गिरफ्तार किया गया। वापसी पर अपराध सदर का कायम कर विवेचना में लिया गया।


 


 आरोपी को न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तह. खातेगांव के समक्ष पेश किया गया। जहां शासन की ओर से एडीपीओ श्री रमेश कारपेन्टर द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से दिए गये तर्को से सहमत होकर आरोपी श्रवण विष्नोई पिता राधेष्याम विष्नोई उम्र 40 साल नि0 ग्राम संदलपुर तहसील खातेंगांव जिला देवास को जेल भेजा। 


 


       


Popular posts
अखाड़ा परिषद् अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Image
देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि
स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने के लिए राजनीतिक दल आमंत्रित 
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image