उज्जैन चिंतामन रोड पर युवती को मैजिक से कुचलकर 9 माह पूर्व हत्या करने वाले किराए के हत्यारे इंदौर में पकड़ाये,युवती हिंदूवादी नेता पर शादी का दबाव बना रही थी

उज्‍जैन. 15 नवंबर 2019 को चिंतामन बाईपास पर इंदौर की युवती को कुचलकर मौत के घाट उतारने वाले किराए के हत्यारों को इंदौर पुलिस ने आज 9 महीने बाद गिरफ्तार कर लिया है फरार आरोपियों पर पांच ₹5000 का इनाम भी घोषित था।उज्जैन थाना महाकाल अंतर्गत चिंतामन बाईपास पर 30 वर्षीय स्वाति भट्ट नामक युवती की मौत के मामले में फरार दो आरोपियों को इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हत्या के 9 महीने बाद पकड़कर उज्जैन पुलिस को सौंपा है, दरअसल फर्जी एक्सीडेंट में घायल स्वाति को अस्पताल तक पहुंचाने वाला सुखविंदर खनूजा ही हत्यारा निकला था , जो युवती की ब्लैकमेलिंग से परेशान था, क्योंकि युवती उस पर बार-बार शादी का दबाव बना रही थी ,जबकि खनूजा पहले से ही शादीशुदा था, युवती का कहना था कि वह उसकी पत्नी को छोड़कर युवती से शादी करें। 15 नवंबर को पुलिस को सूचना मिली थी कि एक युवती की एक्सीडेंट में मौत हो गई है. जबकि इस मामले में शक होने पर पुलिस ने अपनी कार्रवाई जारी रखी और हत्या के बाद उज्जैन पुलिस ने प्रेस ब्रीफिंग में बड़ा खुलासा करते हुए बताया था कि 15 नवंबर को दुर्घटना में स्वाति भट्ट नामक युवती की मौत कोई दुर्घटना नहीं थी बल्कि सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या थी. हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि स्वाति का दोस्त सुखविंदर खनूजा ही है, जो कि शिवसेना का जिला अध्यक्ष भी रह चुका है. 15 नवंबर को पुलिस को सूचना मिली थी कि सीएचएल अस्पताल में एक अज्ञात युवक किसी युवती को घायल अवस्था में छोड़कर चला गया है. पुलिस अस्पताल पहुंची उससे पहले ही युवती की मौत हो चुकी थी.


पुलिस को जांच पड़ताल में पता चला कि युवती का नाम स्वाति भट्ट है और उसे अस्पताल पहुंचाने वाला युवक सुखविंदर खनूजा है, जिस पर स्वाति ने 2014 में बलात्कार का आरोप लगाया था. यही नहीं, इस मामले में खनूजा को जेल भी हुई थी, लेकिन बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया और सुखविंदर जेल से बाहर आ गया था. पुलिस इस पूरे मामले को शुरुआत से ही शक की नजर से देख रही थी और यह दुर्घटना कम और हत्या का मामला ज्यादा दिखाई दे रहा था. पुलिस ने जांच की तो पता चला कि स्वाति सुखविंदर से फिर से मिलने लगी थी, जिससे वह परेशान हो गया था. पुलिस ने जांच में पाया कि मैजिक चलाने वाला इंदौर का वाहिद नाम का इस मामले में जुड़ा हुआ है और जब पुलिस ने सख्ती दिखाते उससे पूछताछ की तो उसने सारे राज खोल के रख दिए. घटना के बादअन्य दो आरोपी फरार हो गए थे फरार आरोपी भोला और संजू को इंदौर पुलिस ने आज गिरफ्तार कर लिया है गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच ने आरोपियों को उज्जैन पुलिस को सौंप दिया है ।घटनाक्रम अनुसार 15 नवंबर को युवती चिंतामन बाईपास पर अपने प्रेमी सुखविंदर के ढाबे पर बातचीत के लिए आई थी, प्लानिंग के मुताबिक युवती जैसे ही ऑटो से उतरी वहां पहले से खड़ी एक magic ने तेज रफ्तार से गाड़ी चला कर युवती को कुचल दिया, बाद में जांच करने पर मैजिक पर इंदौर का नंबर होने से पुलिस को शक हुआ कि इंदौर के किराए के हत्यारों ने घटना को अंजाम दिया है ।इसी शक के चलते हैं पुलिस ने सुखविंदर सिंह और एक आरोपी वाहिद को गिरफ्तार कर पूछताछ की थी ,जिससे दोनों ने पूरा घटनाक्रम बताया था।


Popular posts
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
भोले नाथ की शरण में पहुंचे कमलनाथ, कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में ली आमसभा
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image