लुटेरी दुल्हन प्रकरण मे दो आरोपियों को जेल भेजा गया

महिला का हाथ पकड़ने वाला आरोपी जेल पहुंचा


--------------------------------------


बड़वानी - पुलिस थाना अंजड अंतर्गत ग्राम तलवाड़ा बुजुर्ग में एक महिला के घर मे रात्रि में प्रवेश कर घर के अंदर सोई हुई महिला का हाथ बुरी नियत से पकड़ने वाले आरोपी गणेश पिता गुलू निवासी तलवाड़ा बुजुर्ग को गिरफ्तार कर न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथमश्रेणी अमूल मंडलोई के समक्ष प्रस्तुत किया गया।न्यायालय द्वारा आरोपी को जेल भेजा गया।प्रकरण में अभियोजन की ओर से परवी अकरम मंसूरी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी द्वारा की गई।


अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान द्वारा बताया गया कि घटना की रात्रि को पीड़िता परिवार सहित उसके घर के अंदर रात्रि लगभग दस बजे सो गई थी रात्रि लगभग एक बजे आरोपी ने पीड़िता के सामने वाले दरवाज़े से घर के अंदर प्रवेश किया तथा बुरी निय्यत से उसका हाथ दबा दिया था,चिल्लाने पर उसका पति भी जाग गया था तब उसने आरोपी गणेश को पकड़ लिया था लेकिन वो हाथ छुड़ाकर भाग निकला था।


पीड़िता के द्वारा थाना अंजड पर घटना की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी,पुलिस ने अनुसन्धान के दौरान आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के सामने प्रस्तुत किया था जँहा से आरोपी को केंद्रीय जेल बड़वानी भेजा ।


लुटेरी दुल्हन प्रकरण मे दो आरोपियों को जेल भेजा गया


      


     न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी राजपुर निर्भय कुमार गरवा द्वारा आरोपी किशोर पिता कोला उम्र 55 वर्ष निवासी ग्राम कछवानिया व सुरेश पिता बालाराम निवासी ग्राम खलघाट को धारा 420, 120 बी भा.द.वि. के तहत जेल भेजा गया। अभियोजन की ओर से पैरवी श्याम परमार सहायक जिला अभियोजन अधिकारी राजपुर द्वारा की गई।  


   अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया कि फरियादी ने दिनांक 13.10.2020 को थाना राजपुर में मौखिक रिपोर्ट की कि उसकी शादी कि उम्र होने से उसके माता और भाई ने फरीयादी के बुआ के लडके अनिल पिता भजन को कहा था की 'कालु' की शादी के लिये कोई लडकी दिखाना तो अनिल करीबन डेढ माह बाद फरीयादी के घर गया और कहा की ग्राम कछवानिया में उसका रिश्तेदार किशोर पिता कोला मिला था और उसने कहा था की वह कालु के लिए लडकी दिखा देगा।उसके बाद दिनांक 30.08.20 को आरोपी किशोर,जितेन्द्र और आरोपी सुरेश फरीयादी के घर ग्राम डाब्या में गाथापुरा फलिया गये जहा उन्होने सावित्रि (दुल्हन) की फोटो दिखाई जो फरीयादी और उनके घरवालो को लडकी पसंद आ गई। उसके बाद आरोपीगण और फरीयादी परिवार सहीत सेंधवा मंडी केम्पस पहुचे जहां उन्हे लडकी सावित्री दिखाई गई जो उन्हे पंसद आ गई और शुगुन के रूप में फरीयादी द्वारा 1025 रू सावित्री को दिये गये ।उसके बाद दिनांक 06.09.2020 को जितेंद्र, सुरेश और किशोर फरियादी के घर गये और 1,80,000रू. में शादी में देनलेन की बात तय कर ली और दिनांक 18.09.2020 की शादी तय हो गई। तब फरीयादी के भाई राधेश्याम ने किशोर को दिये उसी समय 50,000 रूप्ये दिये जिसमें से 10000रूपये किशोर, 10000रूपये सुरेश और बाकी के 30000रूपये जितेन्द्र ने रख लिये। दिनांक 18.09.2020 को फरीयादी बारात लेकर सेंधवा जा रहा था तभी जितेंद्र का फोन आया की उसके काका की मृत्यु हो गइ है इसलिये तुम लोग बारात लेकर इंद्रपुर आ जाओ उसके बाद फरीयादी बारात लेकर इंद्रपुर पहुचा वहां पर जिंतेन्द्र मोटरसाइकिल से सावित्रि को लेकर आया वहां पर किशोर भी आ गया था। तब जितेंद्र ने कहा की उसके काका की मृत्यु हो गई इसलिये शादी रीति रस्म से नही हो पायेगी जितेंद्र ने फरीयादी से कहा की बाकी रकम 1,00,000रूपये दे दो और कहा की तुम बाकी की शादी की रस्मे तुम्हारे घर पर कर लेना। जितेंद्र ने कहा की वह अपनी बहन सावित्री को कुछ गहने और बर्तन राजपुर से दिला देगा तथा जितेंद्र ने फरीयादी को कहा की वह सावित्री को अपने साथ राजपुर से ही ले जाये। उसके बाद जितेन्द्र ने पलसुद रोड स्टेट बेंक राजपुर के पास मोटर साइकिल रोकी और उसने फरीयादी को भी बोलोरे गाडी रोकने को कहा।फरीयादी बोलेरो गाडी को साइड में लगाकर रूका इतने में जितेंद्र और सावित्री फरीयादी के 1,00,000रूपये लेकर भाग गये। फरीयादी द्वारा उन्हे खोजने का प्रयास किया लेकिन दोनो नही मिले। जितेंद्र ,सावित्री ,किशोर और सुरेश ने मिलकर फरीयादी से शादी के नाम पर 1,50,000 रू लेकर धोखाधडी की जितेंद्र और सावित्री की तलाश की गई परंतु दोनो नही मिले । थाना राजपुर द्वारा फरीयादी की शिकायत पर प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबध की गई। अनुसंधान के दौरान पुलिस द्वारा आरोपी सुरेश ओैर किशोर को गिरफतार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से उन्हे जेल भेजा गया। 


 


                                                


Popular posts
कोरोना के मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि होने से एक और जहां शहर में दहशत , वहीं दूसरी ओर प्रशासन की कार्यप्रणाली भी संदेह के घेरे में है
Image
खुद डूब गया पर डूबने से बचा गया उज्जैन का नाम
Image
श्री तिरूपति बालाजी, श्री सोमनाथजी व मदुरई स्थित मीनाक्षी देवीजी मंदिर का भी अध्ययन करने उज्जैन से दल गया,,, लौटकर बनाएगा श्री महाकालेश्वर मंदिर का प्लान
Image
बरकतउल्ला विवि कार्य परिषद का निर्णय : संविदा पद से डॉ आशा शुक्ला सेवानिवृत्त कुलपति पद पर नियुक्ति मामले में राजभवन को किसने धोखे में रखा
Image
आज सिर्फ 26 जांच,2 पॉजिटिव
Image