उज्जैन में साइंस टूरिज्म की संभावना बढ़ेगी -मंत्री डॉ.यादव, उच्च शिक्षा मंत्री ने प्रेस से चर्चा में कहा*


उज्जैन प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने सोमवार को बृहस्पति भवन में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों से कहा कि मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश के विकास के लिये नितनये आयाम स्थापित कर रही है। इसी तारतम्य में उज्जैन के चहुंमुखी विकास के लिये शासन सतत प्रयासरत है। उज्जैन के तारा मण्डल परिसर में भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से विज्ञान पेरोटोरियम (आंचलिक विज्ञान केन्द्र का निर्माण) इस परिसर में 8.5 करोड़ रुपये की लागत से 4K रिसॉल्यूशन थ्रीडी थिएटर में 16 करोड़ रुपये की लागत का विज्ञान सबसेन्टर (इनोवेशन सेन्टर) स्थापित किया जायेगा, जिससे उज्जैन में साइंस टूरिज्म की संभावना बढ़ेगी।


मंत्री डॉ.यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि श्रीमंत विजयाराजे सिंधिया स्टेडियम नानाखेड़ा के निर्माण की पूर्व में घोषणा की गई थी। इसका प्रस्ताव भी मंजूर हो गया है। 50 करोड़ रुपये की लागत से इसका निर्माण शीघ्र ही प्रारम्भ होगा। न्यायालय (कोर्ट) हेतु एक और नवीन मार्ग, जिसकी हमने घोषणा की थी, इसका निर्माण कार्य प्रारम्भ हो गया है। जिले के एथलेटिक्सों हेतु श्री गुरूजी खेल प्रशाल में 7.49 करोड़ रुपये की लागत से सिंथेटिक्स ट्रेक की स्वीकृति भारत सरकार खेल मंत्रालय से प्राप्त हो चुकी है, जिसकी लम्बे समय से मांग की जा रही थी। इसका निर्माण भी होगा और राष्ट्रीय/अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण उज्जैन के धावकों को मिल सकेगा।


मंत्री डॉ.यादव ने कहा कि उज्जैन के विकास के लिये जो-जो वादे किये थे, उसको पूर्ण करने व कराने के लिये हम आगे बढ़ रहे हैं। अब हमारा आगामी प्रयास रहेगा कि स्वास्थ्य, शिक्षा एवं उद्योग व रोजगार की दिशा में विकास को गति मिले। अभी हाल ही में प्रदेश के उद्योग मंत्री के साथ एक मुलाकात में उज्जैन में औद्योगिक इकाईयों के प्रारम्भ करने का प्रयास जारी है, जिनमें 10 हजार लोगों को रोजगार प्राप्त होगा।


डोंगला वेधशाला परिसर में ऑडिटोरियम का निर्माण कार्य अन्तिम चरण में


मंत्री डॉ.यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी कि प्रदेश में खगोल विज्ञान में शोध एवं प्रचार-प्रसार गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिये मप्र विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा उज्जैन जिले की महिदपुर तहसील के ग्राम डोंगला में खगोल विज्ञान के विद्यार्थियों एवं अनुसंधान के लिये वराह मिहिर वेधशाला की स्थापना 13 जून 2013 में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गई थी। वर्तमान में यह वेधशाला 80400 वर्गफीट क्षेत्र में स्थापित की गई है।


वेधशाला भवन में दो सूट्स एवं कॉन्फ्रेंस हाल निर्मित है। वेधशाला परिसर में 200 सीटर ऑडिटोरियम का निर्माण कार्य अन्तिम चरण में है। प्रतिवर्ष 21 जून को सूर्य की परमउत्तरा क्रान्ति दिवस पर डोंगला वेधशाला में जन-सामान्य के लिये कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। वर्ष 2020 में इंटर स्कूल कार्यक्रम के अन्तर्गत मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों के लिये खगोल विज्ञान पर व्याख्यान, टेलीस्कोप पर हैंडऑन ट्रेनिंग इत्यादि कार्यक्रम आयोजित किये गये। आगामी 18 से 29 जनवरी 2021 को आईआईटी इन्दौर एवं मेपकास्ट के सहयोग से इंटर स्कूल का ऑनलाइन वेबीनार आयोजित किया जायेगा।



Popular posts
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
9 पीठासीन अधिकारी, 26 मतदान अधिकारियों को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image