श्मशान में मौत का तांडव

 दिल्ली से सटे गाजियाबाद में रविवार सुबह हुए एक दर्दनाक हादसे में अब तक 21लोगों की मौत हो चुकी है। इस हादसे में मृतकों की बढ़ती संख्या की एक वजह बारिश को भी माना जा रहा है। दरअसल, आज सुबह से ही जिले में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। बारिश के कारण ही लोग एक छत के नीचे इकट्ठा हो गए थे और हादसे का शिकार हो गए।

अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए मुरादनगर के श्मशान घाट पर करीब 100 से अधिक लोग पहुंचे थे। बारिश के कारण सभी लोग श्मशाम घाट परिसर में बने भवन के छत के नीचे चले गए। तभी भरी हुई मिट्टी धंसने लगी और दीवार के साथ छत भी टूट कर नीचे खड़े लोगों पर गिर गई। माना जा रहा है कि अगर बारिश न हो रही होती तो शायद इतनी बड़ी संख्या में एक ही लेंटर के नीचे लगो एकत्र नहीं हुए होते और हादसे में कम नुकसान होता

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, 21 लोगों की मौत हो चुकी है और कई का इलाज चल रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर शोक व्यक्त किया है और मृतकों के परिजनों के लिए दो-दो लाख रुपए सहायता राशि की घोषणा की है। सीएम ने हादसे की रिपोर्ट भी अधिकारियों से मंगाई है।

बता दें कि हादसे में 40 से अधिक लोग दब गए थे। घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस और प्रशासन की टीम ने रेस्क्यू कर लोगों को निकालना शुरू किया और इलाज के लिए गाजियाबाद जिला अस्पातल में भर्ती कराया। शुरुआत में बारिश के कारण बचाव कार्य में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।