कोरोना पॉजिटिव मरीजों की घोर लापरवाही के बाद अब सभी कंटेनमेंट झोन में शत-प्रतिशत बेरिकेटिंग होगी

 *सभी कंटेनमेंट झोन में शत-प्रतिशत बेरिकेटिंग की जाये, हमें वायरस की रफ्तार को कम करना है -कलेक्टर, कलेक्टर ने इंसीडेंट कमांडर्स की बैठक ली*

शहर में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब जाकर जिला प्रशासन जागृत हुआ और अब आदेश जारी हुआ है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर की पूरी निगरानी बकायदा टीम बनाकर की जाएगी, अभी तक जो हालात थे वह बेहद आपत्तिजनक थे क्योंकि शहर में कोरोना पॉजिटिव होने वाले मरीज कि न तो पूरी जानकारी जिला प्रशासन के पास थी और ना ही उन पर कोई अंकुश था कोरोना पॉजिटिव होने वाला मरीज भी पूरे शहर में वायरस को साथ लेकर तफरी करने में कोई शर्म महसूस नहीं कर रहा था दैनिक मालव क्रांति द्वारा लगातार प्रशासन के संज्ञान में लाया गया की इस तरह की लापरवाही पूरे शहर को कोरोना पॉजिटिव बना देगी अब कहीं जाकर जिला प्रशासन ने आज ताबड़तोड़ अनेक फैसले लिए हैं।

      उज्जैन । कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने मंगलवार को बृहस्पति भवन के सभाकक्ष में जिले में कोविड संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से विभिन्न क्षेत्रों में ड्यूटीरत इंसीडेंट कमांडर्स की बैठक ली। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों से कहा कि जिले में कोरोना के बढ़ते हुए प्रकरणों को देखते हुए कंटेनमेंट झोन में शत-प्रतिशत बेरिकेटिंग करवाई जाये, ताकि हम कोरोना वायरस की रफ्तार को कम किया जा सके। एक भी झोन ऐसा नहीं बचना चाहिये, जहां बेरिकेटिंग न की हो।



      कलेक्टर ने कहा कि कंटेनमेंट झोन का पोस्टर फाड़ा जाता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध एफआईआर की कार्यवाही की जाये। इस तरह के प्रभावी कदम अनिवार्यत: उठाने होंगे, जिसके कारण कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति के घर के अन्य सदस्य घर के बाहर न निकल सकें। कलेक्टर ने उज्जैन में स्पॉट फाइन की स्थिति की भी समीक्षा की। दुकानों में लोगों की संख्या नियंत्रित करने के निर्देश दिये, उन्होंने कहा यदि किसी दुकान पर भीड़भाड़ अधिक पाई जाती है तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जाता है तो दुकान को सील किया जाये।


      कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि उन्हें शत-प्रतिशत अटेण्‍डेंस देना होगा, तभी कोरोना कंट्रोल होगा। कंटेनमेंट झोन में रहने वाले लोगों को यदि किसी प्रकार की समस्या आ रही हो तो उसका भी समय पर निराकरण करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिये गये। कलेक्टर ने कहा कि कंटेनमेंट झोन में कोरोना के एक्टिव पेशेंट्स के घरवालों से भी निरन्तर सम्पर्क में रहें। यदि सदस्य सिम्टोमैटिक हैं तो उनकी अनिवार्यत: जांच करवायें।


      आम जनता से कोरोना रोकथाम के लिये जारी गाईड लाइन का पालन अनिवार्यत: करवाया जाये। कंटेनमेंट झोन के पोस्टर्स पर सेलो टेप का इस्तेमाल कर उन्हें बेरिकेट अथवा घर की दीवार पर चिपकाया जाये, ताकि वे हवा से उड़ न सकें। बेरिकेट के ऊपर कोरोना संक्रमित क्षेत्र के पोस्टर लगवाये जायें। एक्टिव मरीजों पर निगरानी रखने के लिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की भी ड्यूटी लगाई जाये। कलेक्टर ने कहा सभी अधिकारी उनके अधिकार क्षेत्र में लगातार कंटेनमेंट झोन का निरीक्षण करते रहें।



Popular posts
उज्जैन के चरक में भर्ती लड़की का वीडियो वायरल हुआ
Image
Corona breaking,,,,,, पूरा परिवार आ रहा है पॉजिटिव,,,,,, पूर्व विधायक सहित 12 साल की मासूम चपेट में आई,,,,,, होलसेल दवा व्यापारी का पूरा परिवार संक्रमित,,,,, ऋषि नगर, विवेकानंद कॉलोनी और नानाखेड़ा हॉटस्पॉट बने,,,,,, पॉजिटिव आने वालों की चौका देने वाली 23% दर,,,,,, और भी बहुत कुछ,,,,,
Image
5 दिन में 5 फोटोग्राफर मौत के मुंह में समा गए,,,,,
Image
शादी वैवाहिक कार्यक्रम में अनुमति के साथ अधिकतम 50 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे
Image
राजनीति और धर्म के क्षेत्र की दो हस्तियों का दुखद निधन,,,,, कोरोना के कहर से कब उबरेगा शहर
Image