दो दिनों का लगा लॉकडाउन : बाजार में आवश्यक सामाग्री खरीदने के लिए उमड़ी भीड़

 


शहर के विभिन्न क्षेत्रों सहित एमजी रोड़ पर लगा वाहनों का जाम, प्रशासन को करना पड़ी मशक्कत  

देवास। दो दिनों का लॉकडाउन लगाने की घोषणा गुरूवार को मुख्यमंत्री ने की थी, जिसके चलते शुक्रवार शाम 6 बजे से ही लॉकडाउन लगाया जाना था। वहीं शुक्रवार को शहर के बीच शुक्रवारिया हाट में बाजार लगा हुआ था, उसे समेटने में फुटकर व्यापारियों को भारी मशक्कत करना पड़ी थी। वहीं बाजार से जरूरत का सामान लेने वाले लोगों की भीड़ भी बहुत अधिक थी। खासकर एमजी रोड़ पर वाहनों का मानो तो मेला लग गया था, वाहनों से जाम लगने की सूचना पाते ही डीएसपी व यातायात थाना प्रभारी को मोर्चा संभालना पड़ा था। 

दो दिनों का लॉकडाउन शुक्रवार शाम 6 बजे से लगाया गया था, जिसके पूर्व बाजार में अपनी-अपनी जरूरत का सामान लेने वालों की भीड़ अधिक हो गई थी। शहर के मध्य एमजी रोड़ पर वाहनों की कतारें लग गई थी, दो पहिया वाहनों के बीच कई चार पहिया वाहनों के कारण तो जाम जैसी स्थिति निर्मित हो गई थी। इसी प्रकार के हाल शहर के कई क्षेत्रों में देखने को मिले जहां वाहनों की वजह से जाम जैसी स्थिति निर्मित हो गई थी। वहीं शुक्रवार को देवास में हाट बाजार लगता है जिसके चलते आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी लोग यहां आए हुए थे उन्हें भी काफी मशक्कत कर शहर के बाहर निकलना पड़ा था। ऐसे में प्रशासनिक अमले में डीएसपी किरण शर्मा, यातायात थाना प्रभारी सुप्रिया चौधरी सहित अन्य पुलिस बल को काफी मशक्कत करना पड़ी थी। 

धीरे-धीरे भीड़ खत्म हुई सन्नाटा पसरा बाजार में 

शाम 6 बजे से बाजार में लॉकडाउन लगना तय था, लेकिन आवश्यक सामानों की खरीददारी के लिए बाजार में भीड़ हो रही थी। जिस पर प्रशासन को भीड़ हटाने के लिए काफी मशक्कत करना पड़ी थी, वहीं 6 बजे के बाद 1 घंटे में बाजार में पूरी तरह से सन्नाटा छा गया था। वहीं पुलिस बल की शहर के सभी क्षेत्रों में ड्युटी लगाई गई है। 

सोशल मीडिया पर बना चर्चा का विषय

प्रदेश मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने दो दिनों का लॉकडाउन लगाने की घोषणा गुरूवार को की थी। जिस पर शुक्रवार शाम तक बाजार में काफी भीड़ हो गई जिसके चलते सोशल मीडिया पर भीड़ को लेकर कई लोगों ने विभिन्न प्रकार से अपनी बातें सामने रखी। वहीं विपक्षीय पार्टी कांग्रेस के कुछ नेताओं ने तो सरकार के इस फैसले को गलत ठहरा दिया। विपक्षीय पार्टी के कुछ नेताओं ने सोशल मीडिया पर लिखा की शाम 6 बजे सरकार का बाजार बंद करने का फैसला गलत है बाजार में लोग अपनी आवश्यकता के अनुसार सामान खरीद रहे थे, वहीं दुकानदार दुकान को बंद करने में लगा हुआ था। शहर के हर गली, चौराहों पर जाम की स्थिति निर्मित हो गई थी। ऐसे में शहर में प्रशासन सख्ती के साथ लॉकडाउन लगाने में लगा हुआ था। कांग्रेसी नेताओं में एक नेता ने कहा की यही बाजार रात 9 या 10 बजे बंद करने का फैसला लिया होता तो प्रशासन को भी मशक्कत नहीं करना पड़ती।

Popular posts
अखाड़ा परिषद् अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Image
देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि
स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने के लिए राजनीतिक दल आमंत्रित 
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image