उज्जैन के शिक्षा जगत की दो हस्तियों का कोरोना से निधन,,,,, देश के ख्यात पत्रकार भी नहीं रहे

 

उज्जैन। शहर की शिक्षा जगत की दो महान हस्तियों का आज कोरोना के इलाज के दौरान दुखद अवसान हो गया।

दंबग दुनिया के स्थानीय संपादक, राज्य स्तरीय अधिमान्य पत्रकार, प्रेस क्लब उज्जैन के अध्यक्ष  विशाल सिंह हाड़ा के पिता  श्री राजेंद्र सिंह जी हाड़ा का दुखद निधन एक निजी अस्पताल में कोरोना के इलाज के चलते हो गया।

श्री हाड़ा जी सामाजिक धार्मिक कार्यक्रमों में सदैव अग्रणी रहते थे वह उस कार्य को पूर्ण लगन के साथ पूरे समय उपस्थित रहकर उसे सफल बनाते थे जब भी उनसे मिलना होता सदैव चेहरे पर मुस्कुराहट रहती थी व उनका स्नेह आशीर्वाद प्राप्त होता था, हर परिवार के सुख दुख में उनकी उपस्थिति सदा बनी रहे थी ।उनसे शिक्षा प्राप्त अनेक छात्र आज देश विदेश में उच्च पदों पर आसीन है। वे सेवाधाम आश्रम उज्जैन से भी जुड़े थे।।


सादा जीवन उच्च विचार के सिद्धांतों को लेकर चलने वाले व्यक्तित्व का जाना अपूरणीय क्षति है जिसकी पूर्ति असंभव है । श्री हाड़ा की धर्मपत्नी और परिवार के कुछ सदस्य कोरोना से जंग लड़ रहे हैं।



वरिष्ठ पत्रकार, आजतक के संवाददाता-रेडियो दस्तक निदेशक संदीप  कुलश्रेष्ठ के अनुज संजीव कुलश्रेष्ठ का निधन हो गया है। 

वे कोरोना से पीड़ित थे, जिनका उपचार निजी अस्पताल में चल रहा था। संजीव कुलश्रेष्ठ शिक्षा जगत के क्षेत्र में जाने-माने नाम थे और बेहद सादगी का जीवन जीते थे, शहर प्रदेश देश और विदेश में उनकी अनेक शिष्य उच्च पदों पर आसीन है।

मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना की  भी कोरोना से मौत हो गई है। लंबे समय तक जी न्यूज में एंकर रहे रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे। सुधीर चौधरी ने ट्वीट किया, ‘अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है…। ॐ शान्ति।’

Popular posts
ओ माय गॉड,,,, महाकाल में नौकरी और करतूत इतनी गंदी,,,,,,
Image
अमलतास हॉस्पिटल में पत्रकार सम्मान व कॉकलियर इम्प्लांट ऑपरेशन किया गया।
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image