कोरोना के इलाज के दौरान विक्रम के विभागाध्यक्ष की मौत

 विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के इतिहास विभाग के आचार्य एवं विभागाध्यक्ष और विद्यार्थी कल्याण संकाय के अध्यक्ष डॉ राम कुमार अहिरवार का गुरुवार शाम को असामयिक निधन हो गया. वे कुछ दिनों से इंदौर के एक निजी हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमण का उपचार करवा रहे थे. 52 वर्षीय अहिरवार अपने पीछे दो पुत्री और पत्नी को छोड़ गए हैं. उनका अंतिम संस्कार संभवत: 09 अप्रैल को इंदौर में होगा. अहिरवार तो अब वापस नहीं आ सकते लेकिन इस तरह जो मौतें उज्जैन में हो रही है वह यह संदेश जरूर दे रही है कि कोरोना से स्वयं को बचाना होगा क्योंकि वैश्विक महामारी के इस दौर में शासन और प्रशासन के इंतजाम इतने नहीं है कि कॉविड 19 से ग्रसित हर एक मरीज का आसानी से इलाज हो जाए शहर में  अस्पतालों में बेडआसानी से उपलब्ध नहीं है, डॉक्टरों की संख्या में भी कमी है,।


Popular posts
उज्जैन के चरक में भर्ती लड़की का वीडियो वायरल हुआ
Image
Corona breaking,,,,,, पूरा परिवार आ रहा है पॉजिटिव,,,,,, पूर्व विधायक सहित 12 साल की मासूम चपेट में आई,,,,,, होलसेल दवा व्यापारी का पूरा परिवार संक्रमित,,,,, ऋषि नगर, विवेकानंद कॉलोनी और नानाखेड़ा हॉटस्पॉट बने,,,,,, पॉजिटिव आने वालों की चौका देने वाली 23% दर,,,,,, और भी बहुत कुछ,,,,,
Image
5 दिन में 5 फोटोग्राफर मौत के मुंह में समा गए,,,,,
Image
शादी वैवाहिक कार्यक्रम में अनुमति के साथ अधिकतम 50 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे
Image
राजनीति और धर्म के क्षेत्र की दो हस्तियों का दुखद निधन,,,,, कोरोना के कहर से कब उबरेगा शहर
Image