पीएमओ का नकली सलाहकार गिरफ्तार


*माधवनगर पुलिस को मिली एक और सफलता केन्द्रीय सतर्कता आयोग का सदस्य बनकर वरिष्ठ कार्यालय पहचने वाला व्यक्ति पकड़ाया*


*फर्जी ई मेल कर वरिष्ठ अधिकारियों से अपने को सीवीसी का सदस्य बनकर भेजा मेल*


*आरोपी  दुग्ध संघ उज्जैन से सेवा निवृत्त है*


*आरोपी द्वारा अपने आप को पी.एम. ओ में सलाहकार बताकर किया था संपर्क*


*संदिग्ध होने पर थाना माधवनगर पुलिस द्वारा की गई कायमी की कार्यवाही* 

               

दिनांक 17.06.2021 में थाना माधवनगर पुलिस की टीम  द्वारा केन्द्रीय सतर्कता आयोग का सदस्य बनकर अति. पुलिस महानिदेशक कार्यालय से सोहरत हासिल करने के उद्देश्य से पहुंचे व्यक्ति को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है । 

घटना का विवरण इस प्रकार है थाना प्रभारी माधवनगर मनीष लोधा को सूचना प्राप्त हुई कि अति. पुलिस महानिदेशक उज्जैन ,जोन उज्जैन के  कार्यालय में एक व्यक्ति आया है और अपने आप को केन्द्रीय सर्तकता आयोग का सदस्य बता रहा है और ए.डी.जी. साहब से मिलना चाहता है। बोलचाल एवं प्रस्तुतीकरण के तरीक़े पर संदिग्ध होने पर तस्दीक हेतु थाना प्रभारी माधवनगर अपनी टीम के साथ कार्यालय पहुंचकर  तस्दीक करने पर पाया कि एक व्यक्ति जिसका नाम प्रमोद कुमार मेहता पिता स्व. श्री विद्यानंद जी मेहता, उम्र-65 वर्ष बी-09 ऋषिनगर मेनरोड़ उज्जैन का रहने वाले हैं जिन्होंने बताया कि उक्त व्यक्ति केन्द्रीय सर्तकता आयोग का सदस्य  हैं प्रथम् दृष्टया संदिग्ध होने पर विस्तार से नाम पता , कार्यालय की जानकारी प्राप्त करने पर यह सनसनी खेज खुलास हुआ कि उक्त प्रमोद मेहता नाम के व्यक्ति अभी हाल ही में रिटायरड् होकर थाना माधवनगर क्षेत्र में ऋषिनगर में निवास करते हैं तथा अपने आप को सोहरत एवं ख्याति प्राप्त करने के उद्देश्य से केन्द्रीय सदस्यता आयोग का सदस्य एवं पी एम ओ का सलाहकार बताया गया । जो प्रारंभिक जांच में पूरी तरह से असत्य पाया गया । तथा आरोपी द्वारा यह भी बताया गया कि वह उज्जैन दौरे पर  आया है एवं दौरे के दौरान उसे वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात हेतु प्रमोद मेहता के द्वारा अपने फोन के मेल से समय लेना पाया गया ।     पुलिस द्वारा उक्त व्यक्ति से केन्द्रीय सर्तकता आयोग के सदस्य होने का परिचय पत्र मांगा तो कोई परिचय पत्र नहीं होना बताया एवं हिकमत अमली से पूछताछ करने पर बताया कि मैं केन्द्रीय सर्तकता आयोग का सदस्य नहीं हुँ  मैंने अपने पदनाम की गलत जानकारी दी है मैं अधिकारियों से मेल-जोल बढाने एवं अपने निजी काम आसानी से करवाने के लिये मैंने यह झूठी जानकारी दी है। संदेही प्रमोद मेहता के मोबाइल को चैक करने पर प्रमोद मेहता के द्वारा मोबाइल एवं ईमेल आई. डी. prmd.mht@gmail.com से दिनांक 15.06.21 को कमिश्नर उज्जैन एवं दिनांक 16.06.21 केा आई.जी. उज्जैन को ईमेल कर अपना पदनाम सी.वी.सी. का सदस्य होना लेख किया ।   आरोपी  प्रमोद मेहता के विरुद्ध प्रथम् दृष्टया केन्द्रीय सतर्कता आयोग का सदस्य एवं पीएमओ का सलाहकार के पद का प्रतिरुपण करने पर धारा 170, 419, 511 भादवि का अपराध पंजीबध्द कर विवेचना लिया गया।

उल्लेखनीय तथ्य यह भी पाया गया की कमिश्नर कार्यालय एवं आई जी कार्यालय को किए गए ई मेल की प्रतिलिपि ,PMO,  NSA, Cabinet Secretary Govt of India, को भी प्रेषित करना लेख किया ताकि किसी प्रकार का संदेह न हो ।


पुलिस की सतर्कता से एसे धोखेबाज आरोपी को हिरासत में लेकर विस्तार से पूछताछ कर कानूनी कार्यवाही करने में  निरी. मनीष लोधा , उनि महेन्द्र मकाश्रे  एवं आर. 215 धर्मेंन्द्र की भूमिका महत्वपूर्ण रही ।

Popular posts
ओ माय गॉड,,,, महाकाल में नौकरी और करतूत इतनी गंदी,,,,,,
Image
अमलतास हॉस्पिटल में पत्रकार सम्मान व कॉकलियर इम्प्लांट ऑपरेशन किया गया।
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image