602 करोड़ों के खर्चे से संवारा जा रहा है बाबा महाकाल का आंगन शिव की 108 मुद्राएं और अनोखा लेजर शो शिव भक्तों को आकर्षित करेगा सत्रह सौ वाहनों की पार्किंग के साथ अत्याधुनिक कंट्रोल रूम भी बनेगा फेस रीडर कैमरा से संदिग्धों पर रखी जाएगी नजरें फूड जोन से लेकर शॉपिंग सभी कुछ मंदिर परिसर में ही मौजूद रहेगा प्रवेश के लिए भव्य प्रवेश द्वार और मंदिर परिसर में ही भव्य हेरिटेज होटल, सोलर लाइट के जरिए जगमगायेगा संपूर्ण मंदिर परिसर, दो परंपरागत मार्ग भी बंद होंगे,,,, जिलाधीश और पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारों को मंदिर परिसर में चल रहे निर्माण कार्यों का अवलोकन करवाया

 







उज्जैन। श्री महाकालेश्वर मंदिर परिसर में चल रहे 602 करोड़ के कार्य अब धरातल पर नजर आने लगे हैं, 70% से ज्यादा कार्य पूर्ण हो गए हैं, मार्च 2023 तक मंदिर का भव्य और वैभव से परिपूर्ण स्वरूप नजर आएगा। श्रद्धालुओं को कम समय में दर्शन हो सके और देशभर से आने वाले श्रद्धालु उज्जैन में ही रुक कर शहर के पर्यटन को बढ़ावा दें इसके लिए महाकाल मंदिर विस्तार योजना में अनेक आकर्षण शामिल किए गए हैं, रुद्रसागर में प्रस्तावित लेजर शो पूरे देश में चर्चित लेजर शो से अलग और अनोखा होगा, मंदिर विस्तारीकरण में शहर के नागरिक और बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अलग-अलग प्लान बनाए गए हैं। पार्किंग,मनोरंजन,उज्जैन के इतिहास, श्रद्धालुओं की सुरक्षा से लेकर उनके खानपान को लेकर भी अनेक योजनाएं मूर्त रूप लेगी। जो श्रद्धालु ज्यादा पैदल नहीं चलना चाहते हैं उनके लिए एक अलग द्वार और इस द्वार से ई टिकट लेकर ई रिक्शा में मंदिर के समय तक जाने की व्यवस्था रहेगी, उक्त जानकारी जिलाधीश आशीष सिंह और पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र शुक्ल ने आज पत्रकारों को देते हुए बताया कि मंदिर विस्तारीकरण के लिए आवश्यक भू अर्जन पर ही 150 करोड रुपए खर्च किए जा रहे हैं, मंदिर के सामने के 11 मकानों को शीघ्र हटाया जाएगा और प्रस्तावित 70 मीटर चौड़ी रोड का निर्माण भी शीघ्र शुरू किया जा रहा है, जिससे विस्तारित मंदिर परिसर में आने वाले श्रद्धालुओं को अनेक लाभ मिल सके। विस्तारीकरण योजना के एक भाग का काम अंतिम दौर में चल रहा है. महाकाल मंदिर विस्तारीकरण योजना पूरी होने के बाद परिसर में लगभग 1 लाख श्रद्धालुओं की क्षमता हो सकेगी. वर्तमान समय में महाकाल मंदिर का परिसर दो से ढाई हेक्टेयर में फैला हुआ है, जबकि विस्तारीकरण के बाद 20 हेक्टेयर में फैल जाएगा, महाकालेश्वर मंदिर समिति के अध्यक्ष और कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि महाकाल मंदिर का नया स्वरूप सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जा रहा है।प्रतिदिन आने वाले स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के नजदीक से प्रवेश की व्यवस्था रहेगी, जबकि बाहरी भक्तों के लिए अलग से विजिटर सेंटर बनाए जा रहे हैं, जहां उन्हें पूरे परिसर में घूमकर अद्भुत आनंद की अनुभूति होगी. प्राचीन समय में महाकाल मंदिर क्षेत्र को महाकाल वन क्षेत्र कहा जाता था. योजना में प्राचीन स्वरूप को ध्यान में रखते हुए विस्तारीकरण किया जा रहा है. यहां पर सप्त ऋषि के साथ-साथ भगवान शिव के कई रूपों का दर्शन होगा. इसके अलावा नवग्रह भी विराजमान रहेंगे।


जिलाधीश आशीष सिंह ने बताया कि महाराज वाडा स्कूल भवन और महाकाल थाना एवं पुलिस स्टाफ क्वार्टर हटाकर स्कूल को ही रिनोवेट कर भव्य हेरीटेज होटल बनाई जा रही है, यह हेरिटेज होटल मंदिर के परिसर में ही हो इसके लिए महाराज वाडा स्कूल के पास का रास्ता भी बंद कर इसे मंदिर परिसर में ही शामिल किया जा रहा है ।नियमित दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं और उज्जैन के स्थानीय नागरिक चाहे तो वर्तमान महाकाल मंदिर चौराहे से भी मंदिर में प्रवेश कर सकते हैं ,इसके लिए अवंती माता मंदिर के पास की सीढ़ियों को तोड़ा जा चुका है यहां अब रैंप बनाया जा रहा है, श्रद्धालुओं के लिए 6000 जूते चप्पल एक साथ रखने के लिए जूता स्टैंड बनाने के साथ-साथ 3 पार्किंग स्थानों पर सत्रह सौ वाहनों को पार्क किया जा सके ऐसी सुविधा में उपलब्ध करवाई जा रही है। मन्नत गार्डन के पास खाली करवाई के शासकीय जमीन पर 1000 वाहन, त्रिवेणी संग्रहालय के पास बनाए जा रहे हैं भव्य प्रवेश द्वार के पास 450 वाहन के अलावा बेगम बाग मार्ग पर भी 250 वाहनों को पार्किंग किया जा सकेगा । हरी फाटक ब्रिज की सभी शाखाओं को विस्तार कर इन्हें 6 मीटर चौड़ा किया जा रहा है। संपूर्ण मंदिर में विद्युत प्रदाय के लिए त्रिवेणी संग्रहालय के पास बनाए जा रहे पार्किंग के ऊपरी तल पर सोलर पैनल लगाए जा रहे हैं इन्हीं सोलर पैनल के जरिए संपूर्ण मंदिर परिसर में विद्युत प्रदाय किया जाएगा। शिव की 108 मुद्राओं के बीच मिड वे जोन  रहेगा, विस्तारित परिसर में फूड जोन के अलावा मीडिया कक्ष और कंट्रोल रूम भी रहेंगे। रुद्रसागर में होने वाला लेजर शो यूनिक और देशभर में चलाए जा रहे सभी लेजर शो से हटकर रहेगा ।रूद्र सागर मैं मिलने वाले गंदे नालों को रोका जाएगा और कुंभ के दौरान में  यदि कैंप लगाने की आवश्यकता पड़ी तो सागर को खाली भी किया जा सकेगा। इसके अलावा श्रद्धालुओं को मुख्य द्वार के समीप बनाए जा रहे हैं एक और द्वार से भी ई टिकट के माध्यम से प्रवेश दिया जाएगा, इस द्वार से उन श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा जो विस्तारित मंदिर परिसर में प्रवेश करने के स्थान पर सीधे दर्शन करना चाहते हैं, इस सुविधा से बुजुर्ग और निशक्त श्रद्धालुओं के अलावा इस सुविधा का लाभ चाहने वाले सभी श्रद्धालुओं को  ई रिक्शा के जरिए प्रवेश दिया जाएग, फिलहाल यह सुविधा निशुल्क रहेगी।


पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र मिश्र ने जानकारी देते हुए बताया कि विस्तारित परिसर में एक वॉच टावर और कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है जिससे संपूर्ण मंदिर परिसर पर निगाहे रखी जाएगी और समस्त गतिविधियों को देखा जा सकेगा। अत्याधुनिक गैजेट्स और सुरक्षा उपकरणों का उपयोग किया जाएगा, साथ ही फेस रीडर कैमरा के माध्यम से असामाजिक तत्व को पहचाना जाएगा इसके अलावा मंदिर परिसर में अतिरिक्त पुलिस बल भी लगाया जाएगा परिसर में ही अत्याधुनिक कैमरे और स्कैनर  भी लगाए जाएंगे। बाहर से आने वाले श्रद्धालु सुगमता से मंदिर पहुंच सके इसके लिए ट्रैफिक व्यवस्था का पूरा एक प्लान बनाया जा रहा है।

जिलाधीश और पुलिस अधीक्षक ने प्रेस को मंदिर परिसर में चल रहे निर्माण कार्यों का अवलोकन करवाया और आवश्यक सुझाव भी प्लान में शामिल करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र सिंह भी मौजूद थे।


Popular posts
इन्दौर के चिकित्सकों का दल सेवाधाम की हवा और दीवारों की जांचकर ढूंढेगा मौत के कारण*
Image
breaking ,,,,मध्यप्रदेश में पंचायत और निकाय चुनाव कराने के आदेश दिए सुप्रीम कोर्ट ने
Image
किंकिणी कीर्तन राष्ट्रीय नृत्य उत्सव* के माध्यम से फिर एक बार महाकाल की नगरी उज्जैन में कथक नृत्य का एक प्रतिष्ठा पूर्ण आयोजन होने जा रहा है
Image
कलेक्टर ने बैठक में निर्देश दिये कार्यक्रमों का मिनिट टू मिनिट कार्यक्रम तैयार किया जाये,,,,,,,29 मई को राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद का उज्जैन दौरा प्रस्तावित, अ.भा.आयुर्वेद महासम्मेलन व स्व-सहायता समूह के सम्मेलन में भाग लेंगे
Image
बिग ब्रेकिंग ,,,,,,जून में होंगे चुनाव,,,,?
Image