20000 करोड़ की योजनाएं उज्जैन में मूर्त रूप लेगी, डॉ मोहन यादव का दावा सांसद बोले इंजेक्शन से लेकर वेंटिलेटर तक अब उज्जैन में बनेंगे, शहर के आसपास 5600 दो करोड़ के नेशनल हाईवे भी बन रहे हैं पारस जैन का कहना है कि छोटी गाड़ी में बैठ कर महाकाल के चारों तरफ घूम कर शिखर दर्शन कर सके ऐसी योजना बेहद जरूरी, जिनके मकान दुकान टूटे उनका दर्द सब समझते हैं उन्हें विस्थापित करने की भी योजना होनी चाहिए शिप्रा का जल आचमन योग्य है या नहीं इस पर भी सांसद वे वॉक बोले


उज्जैन। शहर में 3000 करोड़ के काम शुरू हो गए हैं, 5000 करोड़ के काम शुरू होने वाले हैं और चरणबद्ध योजनाओं पर 20000 करोड़ के कार्य होंगे। यह दवा मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए किया है। डॉ मोहन यादव के अनुसार उज्जैन शहर देश का सेंटर पॉइंट है यहां न तो क्राइम है और औद्योगिक आंदोलन भी नही होते हैं, ऐसे में उज्जैन शहर को अनेक सौगातें देने की योजनाएं शुरू हो चुकी है। उनके मुताबिक चाइना और जापान मैं बनने वाली मशीनें अब उज्जैन में ही बनने लगेगी जिससे देश और दुनिया के लोग उज्जैन आएंगे आने वाले समय में उज्जैन महानगर बनेगा।



उज्जैन। शहर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी इंदौर का सेटेलाइट कैंपस खोला जाएगा, 100 एकड़ भूमि पर स्थापित यह केंपस अंतरराष्ट्रीय स्तर के शोध केंद्र और अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप उच्च शिक्षा प्रदान करेगा, अपनी तरह का यह देश का पहला शिक्षण संस्थान होगा, रोजगार और स्वरोजगार के प्रोत्साहन में भी यह कैंपस महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। यह जानकारी प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने एक पत्रकार वार्ता में दी। इस अवसर पर सांसद अनिल फिरोजिया एवं पूर्व मंत्री वह विधायक पारस जैन भी उपस्थित थे। डॉ यादव ने बताया कि हाल ही में केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष सरकार से उज्जैन की खगोल विज्ञान, संस्कृति और ज्ञान विज्ञान की विरासत को दृष्टिगत रखते हुए शिक्षण संस्थान खोले जाने की आवश्यकता पर चर्चा की थी, उन्होंने बताया कि आईआईटी इंदौर सेटेलाइट कैंपस की स्थापना के लिए प्रारंभिक डीपीआर तैयार की है, यह हर दृष्टि से पूर्ण होगा और प्रशासनिक निर्णय के लिए स्वतंत्र होगा। कैंपस में छात्रावास और शिक्षकों के लिए आवाज भी होंगे ,यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर की शोध सुविधाएं एवं पाठ्यक्रम संचालित किए जाएंगे ,यह उज्जैन इंदौर की औद्योगिक इकाइयों के लिए रिसर्च भी करेगा, प्रारंभिक चरण में राष्ट्रीय स्तर के शिक्षण केंद्र और इंडस्ट्रियल रिसर्च पार्क खोले जाने का प्रस्ताव है, यह रिसर्च पार्क इंदौर उज्जैन और आसपास के सभी क्षेत्रों की औद्योगिक इकाई के शोध कार्य में मदद करेगा, साथ ही स्टार्ट अप को प्रोत्साहित करेगा इसे टेक्नोलॉजी इनोवेश हब के रूप में स्थापित किया जाएगा, जिसमें 100 से अधिक कंपनियों को जोड़ा जाएगा, अभी आईआईटी चेन्नई और आईआईटी मुंबई में ऐसे ही रिसर्च पार्क कार्य कर रहे हैं। मालवा क्षेत्र में रोजगार और स्वरोजगार निर्माण की दिशा में इस इंडस्ट्रियल पार्क की महत्वपूर्ण भूमिका होगी, जल संसाधन प्रबंधन के लिए यह एक महत्वपूर्ण केंद्र होगा यहां वाटर मैनेजमेंट पर आधारित पाठ्यक्रम भी संचालित किए जाएंगे, यहां स्पेस टेक्नोलॉजी स्पेस इंजीनियरिंग और एस्ट्रो फिजिक्स के पाठ्यक्रम के साथ रिसर्च भी होगा एवं प्रयोगशाला भी स्थापित होगी ।भारतीय ज्ञान परंपरा पर केंद्रित यह केंद्र राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत देश का मॉडल बनेगा।



उज्जैन में मेडिकल डिवाइस पार्क की मंजूरी दे दी गई है, शहर एयरपोर्ट भी बनाया जाएगा उक्त जानकारी सांसद अनिल फिरोजिया ने देते वह बताया कि देवास रोड पर स्थित विक्रम उद्योगपुरी का चयन मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए किया गया है 3 महीने में काम शुरू होने की उम्मीद है उज्जैन के अलावा हिमाचल प्रदेश तमिल नाडु और नोएडा में भी इसी तरह का पार्क बनेगा। सांसद के मुताबिक मेडिकल डिवाइस पार्क में बड़ी कंपनियों के उद्योग आएंगे ,इस पार्क की सौगात से उज्जैन में ही इंजेक्शन से लेकर वेंटिलेटर बनाने तक के उद्योग शुरू हो जाएंगे, कर्नाटक एंटीबॉडी उद्योग शीघ्र शुरू होने वाला है, मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए प्रारंभिक तौर पर 300 करोड रुपए मध्य प्रदेश सरकार लगाइए, इस पार्क के अलावा 1150 करोड रुपए खर्च कर ग्रेसिम भी नागदा में प्रोजेक्ट ला रहा है, एनटीपीसी का भी नागदा में 300 करोड़ का प्रोजेक्ट शुरू होने जा रहा है, 5602 करोड रुपए के नेशनल हाईवे भी उज्जैन के आसपास बनाए जा रहे हैं, संभवत इनकी घोषणा के लिए नितिन गडकरी 18 जनवरी को उज्जैन आएंगे। शहर में रेलवे का ट्रेनिंग सेंटर भी 90 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा है ,इस ट्रेनिंग सेंटर में 800 रेलवे कर्मी ट्रेनिंग ले सकेंगे। उन्होंने यह भी बताएं कि 4000 मजदूरों का रुका हुआ पेमेंट 8 और 9 नंबर के भूखंड बेच कर शीघ्र किया जाएगा उज्जैन इंदौर के बीच मेट्रो प्रोजेक्ट भी 2028 तक प्रारंभ हो जाएगा। सांसद के मुताबिक उज्जैन में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए भी केंद्र सरकार को राजी कर लिया गया है।


 सांसद ने उज्जैन शिप्रा शुद्धिकरण को लेकर यह सनसनीखेज बयान भी दिया है कि शिप्रा का जल स्नान योग्य होना तो दूर की बात है आचमन योग्य भी नहीं है उनके मुताबिक 560 करोड रुपए खर्च के बावजूद हम वही के वही शून्य पर खड़े हैं।



 प्रेस वार्ता में पूर्व मंत्री और विधायक पारस जैन ने कहा कि महाकाल के आसपास विस्तार होना चाहिए ऐसा विस्तार जिससे व्यक्तिक चारों तरफ घूम कर शिखर दर्शन कर सकें। जिनका पक्का मकान टूटेगा उनको दर्द तो होगा लेकिन 12 ज्योतिर्लिंग में से सबसे अच्छा निर्माण महाकाल मंदिर का ही होगा महाकाल विस्तारीकरण से मंदिर के विकास का नया अध्याय शुरू होगा उन्होंने कहा कि मास्टर प्लान बना कर सब कुछ करना चाहिए साथ ही क्षेत्र के प्रभावित दुकानदारों के लिए भी योजना बननी चाहिए

Popular posts
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
तेजरफ्तार बस हुई दुर्घटनाग्रस्त, 3 की मौत, करीब 10 से 12 घायल
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
महापौर मधुकर वर्मा के कांग्रेस की परिषद थी, महापौर थे मधुकर वर्मा तब भी चलता था लेनदेन का खेल ,,, निगम के इंजीनियरों ने रिश्वत की राशि के लिए बना रखा था गंगाजलि फंड
Image
गोवर्धन सागर को अतिक्रमण से मुक्त कराने की कार्रवाई प्रारंभ हुई, 35अतिक्रमण हटाए गए, 28 दुकाने और 7 मकान तोड़े गये
Image