सिटी स्कैन करवाने वालों की रिपोर्ट देखेगा जिला प्रशासन,,,,मास्क और वैक्सीनेशन के जरिए नए वेरिएंट की दस्तक को रोकने की तैयारी 9 में से 8ऑक्सीजन प्लांट वर्किंग पोजीशन में,,,, 5 गुना ज्यादा तेजी से फैलता है नया वेरिएंट मध्यप्रदेश में दे सकता है दस्तक

 




उज्जैन। नया वेरिएंट बहुत तेजी से फैलने वाला है, जिस तरह की रिपोर्ट सामने आ रही है उसके मुताबिक यह डेल्टा से 5 गुना ज्यादा तेजी से फैलता है, भारत में अभी इस वैरीअंट का कोई भी मरीज सामने नहीं आया है लेकिन देश में और मध्य प्रदेश में यह दस्तक दे सकता है। इसलिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिले में ऑक्सीजन प्लांट से लेकर अस्पतालों में बिस्तर और अन्य उपकरणों की जानकारी अपडेट की जा रही है। उक्त जानकारी जिलाधीश आशीष सिंह ने आज जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट टीम के साथ  माधवनगर अस्पताल में जाकर कोविड मैनेजमेंट  की तैयारियों का निरीक्षण के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी । उन्होंने बताया कि पिछली बार अनेक ऐसे मरीज सामने आए थे जिनमें कोरोना की पुष्टि नहीं हुई थी लेकिन सीटी स्कैन के दौरान उनमें लक्षण नजर आए थे, इसी को ध्यान में रखते हुए जिले के सभी सिटी स्कैन सेंटर से रिपोर्ट लेना शुरू कर रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कंटेनमेंट जोन अभी छोटे ही बनेंगे और कोविड प्रतिबंध जो पिछली बार लागू किए गए थे उनको लेकर अभी कोई गाइडलाइन तैयार नहीं हुई है। मास्क पहनने को लेकर प्रशासन का पूरा ध्यान है ,साथ ही वैक्सीनेशन को लेकर भी जिला प्रशासन ऐसी तैयारी कर रहा है जिसके तहत दिसंबर में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा किया जा सके। अस्पतालों में उपयोगी उपकरणों की मरम्मत की जा रही है इसके साथ ही जिले में 9 ऑक्सीजन प्लांट मेसे एक ऑक्सीजन प्लांट महिदपुर का शुरू नहीं हो पाया है ,जिसे शीघ्र शुरू किया जा रहा है ।होम आइसोलेशन को लेकर भी जिलाधीश का मत है कि यदि किसी भी मरीज में कोरोना पॉजिटिव के लक्षण पाए जाते हैं और घर पर ही अलग कमरे की व्यवस्था होने पर उसे अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं है। दवाइयों को लेकर अभी जिला स्तर पर किसी भी प्रकार का भंडारण नहीं किया जा रहा है ,इसके लिए प्रदेश सरकार नीति बना रही है। उन्होंने बताया की 76 प्रतिशत नागरिकों को वैक्सीनेशन  का पहला डोज लग चुका है ,अगले 7 दिन में 90% तक इस आंकड़े को पहुंचाने का लक्ष्य है। उन्होंने यह भी बताया कि कार्यस्थल पर वैक्सीनेशन के बगैर काम करने वालों के विरुद्ध सख्त मुहिम चलाने के अभियान की शुरुआत की जा रही है। लगभग आधे घंटे के निरीक्षण के दौरान जिलाधीश आशीष सिंह मंत्री मोहन यादव ने माधव नगर अस्पताल के चिकित्सकों को अनेक निर्देश दिए।



इधर भोपाल में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि अभी कुछ भी बंद नहीं होगा ,लेकिन कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं ,मास्क को सबसे बड़ा हथियार बताते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि मास्क नहीं लगाने वालों पर ₹500 का जुर्माना किया जाए ।इंदौर भोपाल कोरना मरीजों की संख्या में वृद्धि को लेकर मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जाए तथा बड़े हाल में ज्यादा संख्या में लोग एकत्र न हो इस पर फोकस हो, इधर इंदौर में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद जिला प्रशासन सख्त कदम उठा रहा है अभी तक 40 संस्थान सील किए जा चुके हैं।

Popular posts
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
भोले नाथ की शरण में पहुंचे कमलनाथ, कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में ली आमसभा
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image