कलेक्टर ने बच्चों से पूछा डरे तो नहीं

 *स्कूलों में 15 से 18 वर्ष


के बच्चों को टीका लगाया गया, कलेक्टर ने विभिन्न विद्यालयों का निरीक्षण किया, बच्चों से पूछा टीके से डर तो नहीं लग रहा*


उज्जैन। सोमवार को टीकाकरण अभियान के अन्तर्गत विभिन्न शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में 15 से 18 वर्ष के बच्चों को कोवेक्सीन का पहला डोज लगाया गया। कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने इस दौरान शहर के विभिन्न विद्यालयों का निरीक्षण किया और टीकाकरण के लिये की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कलेक्टर दशहरा मैदान स्थित शासकीय कन्या उमावि में पहुंचे और वहां बच्चों को लगाये जा रहे टीके की स्थिति की जानकारी ली। कलेक्टर टीकाकरण कक्ष में गये और वहां बच्चों से पूछा कि उन्हें टीका लगवाने में डर तो नहीं लग रहा है।


कलेक्टर ने बच्चों से कहा कि डरने की कोई बात नहीं है। आपको टीका लग जायेगा और पता भी नहीं चलेगा। दशहरा मैदान के स्कूल में जब कलेक्टर ने निरीक्षण किया तब तक लगभग 191 बच्चों को टीका लग चुका था। कलेक्टर ने टीकाकरण में ड्यूटीरत स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों से पूछा कि अगर कोई समस्या आये तो वे किससे सम्पर्क करेंगे। इस पर कर्मचारियों ने बताया कि इस हेतु नोडल डॉक्टर से सम्पर्क किया जायेगा।


कलेक्टर ने विद्यालय में टीकाकरण के लिये बनाये गये प्रतीक्षालय कक्ष और ऑब्जर्वेशन कक्ष का भी निरीक्षण किया और वहां के कर्मचारियों से पूछा कि किसी प्रकार की कोई समस्या तो नहीं है। इस पर जानकारी दी गई कि टीकाकरण में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं हुई है।


कलेक्टर नीलगंगा स्थित लोकमान्य टिलक विद्यालय में निरीक्षण के लिये पहुंचे। वहां उन्होंने पूछा कि बच्चों के वेरिफिकेशन में किसी प्रकार की कोई दिक्कत तो नहीं आ रही है। आपात स्थिति में नोडल डॉक्टर का सम्पर्क नम्बर अवश्य रखें। लोकमान्य टिलक विद्यालय में निरीक्षण के दौरान लगभग 110 बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका था। इसके पश्चात कलेक्टर ने माधवगंज स्थित शासकीय उमावि का निरीक्षण किया।


इस दौरान नगर निगम आयुक्त श्री अंशुल गुप्ता और सीईओ जिला पंचायत सुश्री अंकिता धाकरे मौजूद थे।



Popular posts
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
तेजरफ्तार बस हुई दुर्घटनाग्रस्त, 3 की मौत, करीब 10 से 12 घायल
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
महापौर मधुकर वर्मा के कांग्रेस की परिषद थी, महापौर थे मधुकर वर्मा तब भी चलता था लेनदेन का खेल ,,, निगम के इंजीनियरों ने रिश्वत की राशि के लिए बना रखा था गंगाजलि फंड
Image
गोवर्धन सागर को अतिक्रमण से मुक्त कराने की कार्रवाई प्रारंभ हुई, 35अतिक्रमण हटाए गए, 28 दुकाने और 7 मकान तोड़े गये
Image