इन्दौर के चिकित्सकों का दल सेवाधाम की हवा और दीवारों की जांचकर ढूंढेगा मौत के कारण*

 *उज्जैन के स्वास्थ्य विभाग के अमले ने खून-भोजन-पानी सहित अनेक जाँचे की* 


 *उज्जैन  के चिकित्सकों द्वारा लगातार जांच,,,,,, इन्दौर के चिकित्सकों का दल सेवाधाम की हवा और दीवारों की जांचकर ढूंढेगा मौत के कारण* 


 *शादी में बचा हुआ खाना सेवाधाम में परोसा यह कथन झूठ की पराकाष्ठा, सिद्ध करने वाले को ₹100000 (एक लाख) के इनाम की घोषणा* 


 *सुधीर भाई ने कहा जिन आश्रम वासियों की मौत हुई वह मेरे पुत्र के समान थे, मेरे परिवार पर आयी विपदा का दर्द मैं ही जानता हूं* 


अंकित ग्राम सेवाधाम आश्रम में अचानक एक के बाद एक 4 युवाओं की मौत के बाद आश्रम संस्थापक सुधीर भाई गोयल स्तब्ध है, और अपनी पूरी ऊर्जा और क्षमता के साथ सेवाधाम में आई इस विपत्ति से बचने की कार्य योजना में जुटे हैं, वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन के मुखिया जिलाधीश आशीष सिंह भी लगातार मानिटरिंग कर एसडीएम और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ डॉक्टरों की टीम को पिछले 2 दिनों से लगातार आश्रम भेज कर आश्रम में मौजूद 700 से अधिक सदस्यों की जांच करवा रहे है, लेकिन कुछ षड्यंत्रकारी अचानक आई इस विकट स्थिति का लाभ उठाकर यह षडयंत्र पूर्वक लगातार प्रचार कर रहे हैं कि 2 दिन पूर्व किसी की शादी का बचा हुआ खाना आश्रम वासियों को खिलाया गया था जिसकी वजह से लगातार मौतें हो रही है, आश्रम संचालक सुधीर भाई का पूरा परिवार और सेवा कार्यकर्ता लगातार जान पर खेलकर आश्रम के संभावित संक्रमित प्रेमाश्रय वार्ड और संपूर्ण परिसर में मरणासन्न, एचआईवी पीड़ित, बहु  दिव्यांग, हार्ट और किडनी के रोगी, गैंग्रीन, मल -मूत्र से सने, दिव्यांग, वर्षों से बिस्तर पर ही नित्य कर्म करने वाले, मनोरोगी, मिर्गी और ऐसे रोगी जिनके शरीर में न जाने कितने जानलेवा कीटाणुओं का प्रवेश आश्रम में आने से पहले हो चुका था, उनकी सेवा में लगे हैं। कोरोना काल में जब बड़ी संख्या में सामान्य और स्वस्थ युवाओं और बुजुर्गों की मौत हुई उस वक्त भी आश्रम में मौजूद सैकड़ों आश्रमवासियों जिनकी इम्यूनिटी नगण्य थी लेकिन एक भी आश्रम वासी संक्रमित नहीं हुआ उस वक्त भी आश्रम के संस्थापक सुधीर भाई और उनके परिवार एवं सेवा कार्यकर्ताओं ने जान की परवाह किए बगैर परिजनों के भारी विरोध के बावजूद सेवाधाम में सेवा कार्य किए, कोरोना काल में सुधीर भाई स्वयं कोरोना पीड़ित हुए लेकिन एक भी आश्रम वासी को कोरोना नहीं होना सद्गुरू का आशीष और ईश्वरीय चमत्कार ही था और इसी चमत्कार से प्रेरणा लेकर विगत 2 दिनों से आश्रम में हो रही मौतों से डर कर भागने की अपेक्षा सेवा कार्यकर्ता और सुधीर भाई अपने परिवार के साथ प्रेमाश्रय वार्ड में मौजूद गंभीर बीमारियों से ग्रस्त आश्रम वासियों की सेवा कर उनकी जान बचाने का प्रयास कर रहे हैं। 4 और 5 मई की दरमियानी रात  भी स्वस्थ और प्रसन्न चित्त रहने वाले सुदामा की अचानक तबीयत बिगड़ी और उसे अस्पताल ले जाया गया जबकि सुदामा का 3 मई को जिला प्रशासन की टीम ने स्वास्थ्य परीक्षण किया था,  उसे स्वस्थ पाया था, जिससे यह आशंका प्रबल होती है कि अब तक अज्ञात वायरस का आश्रम में प्रेमाश्रय वार्ड में किसी संक्रमित रोगी के कारण प्रवेश हुआ होगा और इसकी चपेट में आने से लगातार चार युवाओं की जिनकी उम्र 21 से 30 वर्ष के बीच है मौत हो गई। मौत के कारणों की जांच के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और चिकित्सकों की टीम लगातार आश्रमवासियों की जांच के साथ-साथ कारणों का पता लगाने के कार्य में जुटी है लेकिन अब तक मौतों की प्रमाणिक वजह सामने नहीं आ सकी।


 *_जिनकी  मौत हुई वह मेरे ही परिवार के सदस्य-सुधीर भाई*  

सेवाधाम आश्रम में जिन 4 युवाओं की अब तक मौत हुई है मैं उनका कानूनन धर्म पिता हूं उन्हें पिता की जगह मैंने अपना नाम दिया है आधार कार्ड पर भी धर्म पिता के रूप में मेरा ही नाम दर्ज है इसलिए मैं बहुत व्यथित हूं, क्योंकि मरने वाले मेरे ही परिवार के सदस्य थे ,मेरे बेटे थे और जब परिवार में मौत होती है तो उसका दुख ,उसका दर्द और मानसिक पीड़ा का अनुभव जो चैंबीसों घण्टे उनके साथ रहता है जिनमें संवेदना नही वे इस वेदना को नही समझ सकते।


 *इंदौर के चिकित्सकों का दल सेवाधाम पहुंचकर हवा और इनफेक्टेड प्रेमाश्रय वार्ड की दीवारों की जांच कर मौत की वजह ढूंढेगा* 


सुधीरभाई ने बताया कि आश्रम में अचानक 4 मौत और कुछ अन्य के बीमार होने के कारणों का पता अब तक नहीं लगने से आश्रम में मौजूद 750 से अधिक सदस्यों की प्राण रक्षा के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं, इंदौर के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉक्टर बी डी खंडेलवाल और डॉक्टर रूपेश मोदी उज्जैन पहुँचे और आश्रम में मौजूद एसडीएम घट्टिया श्री वीरेन्द्र सिंह डांगी, सीएमएचओ डाॅ. संजय शर्मा, कोरोना संक्रमण विशेषज्ञ डाॅ. एचपी सोनानिया आदि से चर्चा की। आश्रम की हवा में मौजूद कीटाणुओं की जांच के साथ पानी, भोजन, खाद्य पदार्थ, ब्लड आदि के साथ चिकित्सकों की टीम प्रेमाश्रय वार्ड जहां निवासरत चार लोगों की मौत हुई है उस वार्ड की दीवारों में भी कीटाणुओं की मौजूदगी का पता लगाएगी और आवश्यक सुझाव देकर आश्रम वासियों की प्राण रक्षा के कदम उठाएगी, विशेषज्ञों की टीम इंफेक्शन के कारणों का भी पता लगाने का प्रयास करेगी।


 *भोजन को लेकर षडयंत्र पूर्वक फैलाई जा रही है भ्रांतियां* 


सुधीर भाई ने बताया कि आश्रम के नियम अनुसार शादी अन्य मांगलिक अवसरों और मृत्यु भोज जैसे कार्यक्रमों में बचे हुए भोजन को आश्रम वासियों के लिए स्वीकार नहीं किया जाता है, जब इस तरह के भोजन को स्वीकार ही नहीं किया जाता है तो फिर आश्रम वासियों को खिलाने का तो प्रश्न ही नहीं उठता ,उन्होंने बताया कि सेवाधाम आश्रम में हाइजीनिक तरीके से निर्मित शुद्ध और ताजा पौष्टिक और उच्च गुणवत्ता वाला भोजन परोसा जाता है, इसके अलावा विशेष अवसरों और आश्रम में होने वाले कार्यक्रमों में शहर के प्रतिष्ठित ओम हलवाई से भोजन बनवाया जाता है ,लेकिन कतिपय तत्व सेवाधाम को एक षड्यंत्र के तहत बदनाम करने का प्रयत्न कर यह भ्रांति फैला रहे हैं कि 2 दिन पूर्व शादी में बचा खाना परोसा गया था जो निराधार, भ्रामक, असत्य और  मनगढ़ंत तथ्यों पर आधारित है।


 *शादी का खाना परोसा था सिद्ध करने पर 100000 (एक लाख) का इनाम* 


सुधीर भाई गोयल सेवाधाम आश्रम के विरुद्ध इस संकट के समय किए जा रहे हैं षडयंत्र पूर्वक झूठे प्रचार और शादी का बचा हुआ खाना आश्रम वासियों को खिलाने का जो भ्रम फैलाया जा रहा है, उससे हैरत में है उन्होंने घोषणा की है कि फैलाए जा रहे झूठ को सिद्ध करने वाले को ₹100000 (एक लाख) का नगद इनाम दिया जाएगा।


 *48 घंटे से लगातार सेवा में लगे सेवा सारथी और आश्रम की युवा टीम भी हैरत में है* 


सेवाधाम आश्रम में अभी तक जिन चार की मौत हुई है उनकी उम्र 21 से 30 वर्ष के बीच है, सभी अनेक गंभीर बीमारियों से ग्रसित थे, लेकिन सेवाधाम में खुशहाल थे अचानक मौत से स्तब्ध सुधीर भाई गोयल आश्रम में मौजूद मिर्गी ,बहु दिव्यांग, मनोरोगी, बिस्तर पर संक्रमणों के शिकार पर सेवा पर जीवन गुजारने वाले और मानसिक कमजोर कि हर कीमत पर जान बचाने के प्रयास में लगे हैं जो वर्षों से आश्रम में सेवा-सुश्रुषा का लाभ प्राप्त कर रहे है। इसके लिए सबसे पहले प्रेमाश्रय वार्ड से सभी को वज्र-हेम विश्रान्ति गृह श्रीमती अनीता रामविलास अग्रवाल और कमला देवी जोगानी भवन में शिफ्ट किया गया है, उन पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है, आश्रम में सभी की स्क्रीनिंग की जा रही है साथ ही रात में भी उपचार दिया जा रहा है।


 *सेवा की अपील* 














सुधीर भाई गोयल ने सेवाधाम आश्रम में आई अचानक विपत्ति में शहर के समाज सेवियों और समाजसेवी संस्थाओं से अपील की है कि वे सेवाधाम आश्रम में जान पर खेलकर आश्रम वासियों की पिछले 48 घंटे से अनवरत सेवा कर रहे हैं। ऐसे सेवासार्थियो का मनोबल बढ़ाएं और तन मन से सेवाधाम आकर सेवा कार्य कर अनूठा उदाहरण पेश करें।



 *समाचार के साथ संलग्न चित्र आश्रम में प्रवेश करने वाले गंभीर बीमारियों से पीड़ित उन लोगों के हैं जो चित्र में दर्शाई गई हालत में आश्रम आते हैं इतनी दयनीय और मरणासन्न हालत में आश्रम आने वाले भी अनेक वर्षों तक जीवित रहते हैं जो किसी चमत्कार से कम नहीं है*

Popular posts
कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव का निधन
Image
श्री महाकालेश्वर कॉरिडोर का अद्भुत नजारा
Image
ब्रेकिंग,,,,,,,,नयापुरा के जैन परिवार पर आफत का पहाड़ टूटा, सलूजा नर्सिंग होम में भर्ती बहू से परिवार में संक्रमण आने की आशंका जताई
शहर के नौनिहाल आज पर फोकस कर नित नए कीर्तिमन रच रहे हैं, हाल ही में शहर में आयोजित हुई माइंड पॉवर अबेकस की राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में बच्चों ने इतिहास रच दिया
Image
उज्जैन में परिवार में फेल रहा है संक्रमण, बड़ी संख्या में पति पत्नी और बाप बेटे संक्रमित,,,, फेसबुक पर जारी की गई एक पोस्ट ने रेंगटे खड़े कर दिए
Image