विश्व के 21 देश की हस्तियां पहली बार उज्जैन में एक मंच पर आएगी, संयुक्त चेतना सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी के योग गुरु भी शामिल होंगे,,कुछ हस्तियां चार्टर प्लेन से भी आएगीश्री महाकालेश्वर का 21 देश के पानी से जलाभिषेक भी होगा
विश्व के 21 देश की हस्तियां पहली बार उज्जैन में एक मंच पर आएगी, संयुक्त चेतना सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी के योग गुरु भी शामिल होंगे,,कुछ हस्तियां चार्टर प्लेन से भी आएगी

श्री महाकालेश्वर का 21 देश ऑन के पानी से जलाभिषेक भी होगा




उज्जैन ।शहर में पहली बार विश्व के 20 से अधिक देशों के महारथी जो अलग- अलग विधाओं,आध्यात्मिक गुरु , जीवन कोच , लेखक , संगीतकार , प्रसिद्ध विद्वान जो फायर ब्राण्ड स्पीक के किए जाने जाते हैं , एक मंच पर एकत्र होकर संयुक्त चेतना सम्मेलन का हिस्सा बनेगे और व्यक्तियों , विचारकों , विद्वानों आध्यात्मिक संगठनों को एक ही चेतना से जोड़ने के उद्देश्य को पूरा करेंगे . उक्त जानकारी आयोजक ग्रुप के डॉ . विक्रांत सिंह तोमर ने पत्रकारों को देते हुए बताया कि संयुक्त चेतना सम्मेलन का यूरोपीय योग फेडरेशन और योग विद्या जर्मनी जैसे प्रमुख संगठनों के साथ मिलकर विभिन्न देशों के दृष्टिकोणों  को एक साथ लाने का प्रयास है । इस आयोजन में भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के योग गुरु
 डॉ . नागेन्द्र के अतिरिक्त विश्वभर के 21 देशों के चिंतक , विचारक,योगगुरु शामिल होंगे । कालिदास अकादमी में आयोजित होने वाले भारत में होने वाले इस पहले अन्तर्राष्ट्रीय आयोजन का शुभारम्भ 15 दिसम्बर को  दोपहर 12 बजे होगा , समापन 17 दिसम्बर को शाम 6 बजे कर्नाटक के राज्यपाल थावर चन्द गेहलोत के मुख्य आतिथ्य में होगा । 8 सत्रों में होने वाले इस आयोजन के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है , जिसका शुल्क रु . 1000 है , उज्जैन की अक्षरा किड्स अकादमी में फार्म भरकर निःशुल्क प्रवेश पत्र प्राप्त किया जा सकता है । डॉ.- तोमर ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि पूरे विश्व से आने वाली हस्तियाँ उज्जैन आने को आतुर है , कुछ हस्तियाँ चार्टर प्लेन से भी आयेगी , अजमेर शरीफ के  सलमान सैयद चिश्ती भी आयेगे । आयोजन , भारत में कहा हो इसके लिए उज्जैन सबसे उपयुक्त माना गया , क्योंकि श्री कृष्णा योगेश्वर है और भगवान शिव आदी योगी है , भारतीयता की सुगंध और आध्यात्म की नगरी उज्जयिनी ही है । 10 से अधिक राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाए इस आयोजन को सफल बनाने में महती भूमिका निभा रही है । कनाड़ा , जर्मनी , अमेरिका , साउथ कोरिया , आस्ट्रेलिया आदि देशों की हस्तियाँ सम्मेलन में मैजूद लोगों के प्रश्नों के उत्तर भी देंगे ।

 *आयोजन की विशेषता* आयोजन में 40 से अधिक स्पीकर , 24 से अधिक विषयों पर अपना स्पीच देंगे , 15 कार्यशालाए भी इस कार्यक्रम का एक हिस्सा होगी।

 *सबसे खास,,,, श्री महाकालेश्वर का 21 देशों के पानी से जलाभिषेक* 
इस आयोजन का सबसे खास और रोमांचित करने वाला पल होगा श्री . महाकालेश्वर का जलाभिषेक , यह अभिषेक सारे विश्व की नदियों के जल से होगा , इसके लिए 20 से अधिक देशों से आने वाले महारथी अपने साथ उस देश का जल लायेंगे , इस जल को एक पात्र में  एकत्र कर जलाभिषेक के बाद प्रशाद के रूप में प्राप्त जल को इस संकल्प के साथ कि दुनिया का जल एक है , रगों में बहने वाला रक्त एक है , चेतना भी एक ही है , क्षिप्रा के जल में प्रवाहित किया जाएगा ।

 *United Consciousness क्या है ?* 
 United Consciousness , जिसे प्रोजेक्ट सेल्फ इकॉपॉरिटेड यूएसए और भारत के द्वारा प्रमोट किया गया है , यह एक वैश्विक संगठन है जो एकात्मकता , आध्यात्मिक जाने और जीवन को पूरे यह पर प्रोत्साहित करता है । हमने अब तक दुनिया भर में 0.30 लाख से अधिक लोगों के संपूर्ण कल्याण में योगदान दिया है । हमने सफलतापूर्वक आयोजित किया है ।
• ग्लोबल यूनाइटेड कॉन्शियसनेस कॉन्क्लेव 2020 ( 12-13-19-20 दिसंबर 2020 ) , संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय प्रसन्न्ता दिवस ( यूसीआईडीएच 2021 )220 मार्च 2021 को,,, यूनाइटेड कॉन्शियसनेस अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस ( यू सीआईडीपी ) 16 मई 2021 को, यूनाइटेड कोन्शियसनेस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ( यू सीआईवाईडी ) 19-20-21 जून 2021 को ,,, ग्लोबल यूनाइटेड कॉन्शियसनेस कॉन्क्लेव 2021 ( 11-12-18-19 दिसंबर 2021 ) , • यूनाइटेड कॉन्शियसनेस अंतरराष्ट्रीय योग सप्ताह ( यूसीआईवाई ) 18-26 जून 2022 को 

. *वक्ता और विशेषज्ञ कौन होंगे*
  25 देशों के आध्यात्मिक गुरु , जीवन कोच , लेखक , संगीतकार , प्रसिद्ध विद्वान मौजूद रहेंगे । विवरण के लिए united consciousness वेबसाइट पर जाएं ।

 *उद्देश्य क्या हैं ? •* 
चेतना अध्ययन को प्रोत्साहित करना । आध्यात्मिक लोकतंत्र को प्रोत्साहित करना । आध्यात्मिकता के माध्यम से समग्र जीवन को प्रोत्साहित करना । • • आध्यात्मिकता में अनुसंधान और विकास के लिए एक मंच बनाना । ● प्राचीन ज्ञान को आधुनिक जीवन में फिर से शामिल करना । *आयोजन का उद्देश्य :* United Consciousness Conclave 2023 का मुख्य उद्देश्य विभिन्न पृष्ठभूमियों से आए व्यक्तियों के लिए एक सामूहिक उत्थान , सामाजिक प्रगति , व्यावसायिक विकास , मानसिक शांति , शारीरिक ऊर्जा , व्यक्तिगत परिवर्तन और सच्चे जीवन के रूप में आध्यात्मिकता की खोज , सभी को अपनाने और आत्मसात करने के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करना है । इवेंट का उद्देश्य आध्यात्मिक मूल्यों को जीवन के विभिन्न पहलुओं में मिलाने , और व्यक्तियों को मानवता और ग्रह के उत्थान के लिए योगदान देने के लिए प्ररित करना है । *UC की विशेष पहल* सारे विद्वान अपने अपने देशों से नदियों का जल लेकर आने वाले है और इस जल से United Consciousness संघठन द्वारा भगवन महाकाल का जल अभिषेक किया जाने वाला है और इस जल अभिषेक के साथ उस पवित्र जल को भगवन महाकाल के जल प्रसाद के साथ मोक्ष दायनी माता शिप्रा के कल में प्रवाहित किया जायेगा और दुनिया को ये सन्देश दिया जायेगा की दुनिया का जल एक है . हम सभी की रगों में बेहता हुआ रक्त एक है और हम सभी की चेतना भी एक है ।
Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है  इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है ,मेले में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ मुशायरा
पूर्व मंत्री बोले सरकार तो कांग्रेस की ही बनेगी
Image
नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को उज्जैन तथा अन्य जिलों से आए जनप्रतिनिधियों कार्यकर्ताओं और परिचितों ने लालघाटी स्थित वीआईपी विश्रामगृह पहुंचकर बधाई और शुभकामनाएं दी
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image