खैराल गढ़ में चरण छू गंगा संत रविदास के पैर के अगूंठे से प्रकट हुई : महाराज आनंद


उज्जैन। संत शिरोमणि रविदास जी खैराल गढ़ गए थे। वहां उन्होंने अपने पैर के अंगूठे से गंगा को प्रकट किया था। इस स्थान का नाम 'चरण छू गंगा पड़ गया। जो आज भी विद्यमान है।
आगर रोड स्थित सामाजिक न्याय परिसर में आयोजित संत शिरोमणि रविदास जी की कथा के छठवें दिन महाराज आनंद जी ने बताया कि संत रविदास जी की महिला का बखान करते हुए कहा  कि सदाना कसाई जो कि मुल्तान शहर का रहने वाला था। वह जीव हत्या कर अपना जीवन पालन करता था। संतश्री ने इन्हें अपने सत्संग के माध्यम से ज्ञान अर्जित करवाया। जिससे प्रेरित होकर वह मुस्लिम होकर भी संतश्री का शिष्य बन गए व भक्ति आराधना करने लगे।
आज सत्संग प्रांगण में विश्व हिन्दू परिषद के जिलाध्यक्ष अशोक जैन एवं विनोद शर्मा, महेश तिवारी, मनीष रावल, दर्शन परमार (मठ मंदिर के प्रमुख), आशुतोष दुबे एवं अन्य समाजजनों ने भी संत शिरोमणि रविदासजी महाराज की तस्वीर माल्यार्पण कर कथा का रसपान किया। सभी अतिथियों का समाज अध्यक्ष राधेश्याम राठौर एवं अशोक सूर्यवंशी जी ने स्वागत किया। आज की महाआरती अंधक ग्रुप की ओर से की गई। तत्पश्चात समिति के कर्मठ कार्यकर्ता संजय बैगाना जी का जन्मदिन मनाया गया। जिसमें उन्होंने कथा में हलवे का प्रसाद वितरण किया।  


Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है  इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है ,मेले में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ मुशायरा
पूर्व मंत्री बोले सरकार तो कांग्रेस की ही बनेगी
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
विश्व के 21 देश की हस्तियां पहली बार उज्जैन में एक मंच पर आएगी, संयुक्त चेतना सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी के योग गुरु भी शामिल होंगे,,कुछ हस्तियां चार्टर प्लेन से भी आएगीश्री महाकालेश्वर का 21 देश के पानी से जलाभिषेक भी होगा
Image