महिला के साथ घर में घुसकर अश्लील हरकत करने पर 1-1 वर्ष की सजा

शाजापुर।माननीय न्यायालय श्रीमती शर्मिला बिलवार जेएमएफसी शाजापुर द्वारा आरोपी ओमप्रकाश पिता मांगीलाल मालवीय, निवासी ग्राम सारसी को भा0द0सं0 की धारा 354 में 1 वर्ष का सश्रम कारावास व 1000 रु. का अर्थदण्ड, भा0द0सं0 की धारा 354(क)1(प) में 1 वर्ष के सश्रम कारावास व 1000 रु. के अर्थदण्ड तथा भा0द0सं0 की धारा 452 में 1 वर्ष के सश्रम कारावास व 1000 रु. के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया।
 मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि, फरियादिया ने पुलिस थाना मोहन बडोदिया पर दिनांक 16.07.2017 को घटना की रिपोर्ट लिखाई थी। दिनांक 16.07.2017 को फरियादिया उसके घर पर अकेली थी वह बाथरूम से नहाकर घर के अंदर गई और सिर के बाल झटक रही थी तभी दोपहर करीब 03ः00 बजे आरोपी ओमप्रकाश मालवीय फरियादिया को अकेली देखकर घर के अंदर घुस गया और फरियादिया से बोला की वह उससे बात करे तब फरियादिया ने आरोपी ओमप्रकाश से कहा की उसका पति घर पर नही है वह बात नही करेगी। इतने में आरोपी ओमप्रकाश ने फरियादिया का बुरी नियत से हाथ पकड़कर उसकी साड़ी खींच दी और फरियादिया के साथ अश्लील हरकत की। फरियादिया के चिल्ला चोट करने पर आरोपी ओमप्रकाश वहां से डरकर भाग गया। जब फरियादिया का पति घर वापस आया तब फरियादिया ने उसे पुरी घटना बताई और पति को साथ लेकर पुलिस थाना मोहन बडोदिया पर रिपेार्ट करने आई।
  फरियादिया द्वारा पुलिस थाना मोहन बडोदिया पर की गई घटना की रिपोर्ट पर से  थाना मोहन बडोदिया ने थाने के अपराध क्रमांक 128/17 पर आरोपी के विरूद्ध भादवि की धारा 452, 354, 354(ए) के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की थी। विवेचना उपरांत सक्षम न्यायालय में आरोपी के विरूद्ध चालान प्रस्तुत किये जाने पर अभियोजन की ओर से गवाह कराये गये। प्रकरण में पैरवीकर्ता श्री शैलेन्द्र जीनवाल सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी शाजापुर द्वारा किये गये अंतिम तर्कांे से सहमत होते हुये माननीय न्यायालय श्रीमती शर्मिला बिलवार, जेएमएफसी शाजापुर द्वारा आरोपी को दोषसिद्ध किया गया।


 अभियोजन की ओर से पैरवी श्री शैलेन्द्र जीनवाल, सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी शाजापुर द्वारा की गई।