आर्थिक आपातकाल के कयास निराधार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8:00 बजे देश के नाम अपना छटा संबोधन देंगे, इस बीच सोशल मीडिया पर यह खबर शेयर की जा रही है कि देश में आर्थिक आपातकाल लग सकता है हालांकि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि अभी फाइनेंसियल इमरजेंसी लगाने का कोई प्लान नहीं है। उल्लेखनीय है कि अनुच्छेद 360 के तहत आर्थिक आपातकाल की घोषणा राष्ट्रपति उस वक्त कर सकते हैं, जब उन्हें लगे कि देश में ऐसा आर्थिक संकट बना हुआ है, जिसके कारण भारत के वित्तीय स्थायित्व या साख को खतरा है।


दरअसल, आर्थिक स्थिति बदतर होने पर या फिर सरकार दिवालिया होने के कगार पर आ जाती है, या फिर भारत की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त होने की कगार पर आ जाती है, तब इस आर्थिक आपातकाल के अनुच्छेद का इस्तेमाल किया जा सकता है।


Popular posts
महाकाल मंदिर परिसर में 9 दरवाजे रहेंगे, बेगम बाग के नाले पर बने मकान 15 मार्च से हटेंगे, आधा अपंगआश्रम मार्ग चौड़ीकरण कि जद में आएगा, महाकाल मंदिर चौराहा मार्ग 24 मीटर चौड़ा होगा, 128 करोड़ का मुआवजा मार्ग चौड़ीकरण में प्रभावितों को दिया जाएगा
Image
डराने लगा है कोरोना, महिला जज, प्रोफेसर पति पत्नी,, कॉलेज के प्राचार्य सहित 19 पॉजिटिव,
Image
कोरोना फिर निकला नगर भ्रमण पर पॉजिटिव आने वालों में बिल्डर ,अधिवक्ता शिक्षक ,इंजीनियर और छात्रा शामिल
Image
देश के 50 धार्मिक स्थलों में से महाकाल मंदिर भी अब बनेगा चाईल्ड फ्रेंडली, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग नईदिल्ली द्वारा चयनित
Image
उज्जैन लोकायुक्त ने बिल्डर सहित नगर निगम के चार अधिकारियों पर FIR दर्ज की
Image