दिग्विजय सिंह गिरफ्तार

भोपाल/बेंगलुरु। फ्लोर टेस्ट से मुंह मोड़ने वाले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह बेंगलुरु पहुंचे जहां उन्होंने प्रदेश के बागी विधायकों से मिलने का प्रयास किया लेकिन वे इसमें सफल हो सकें और उन्हें बेंगलुरु पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, दिग्विजय सिंह इसे अलोकतांत्रिक बताते हुए कहा कि हमारे विधायकों को बंधक बनाकर रखा हुआ है उन्होंने दावा किया है कि बंधक बनाए विधायकों में से पांच विधायक कांग्रेस के पक्ष में हैं,मध्य प्रदेश में सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। राज्यपाल की ओर से दो बार आदेश मिलने के बाद भी फ्लोर टेस्ट से इनकार करने वाली कांग्रेस अब बागियों को मनाने की कोशिश में है। कांग्रेस से बागी हुए सिंधिया गुट के 22 विधायक 10 दिन से बेंगलुरु में हैं। बुधवार सुबह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कांग्रेस नेताओं के साथ बेंगलुरु पहुंच गए। लेकिन कर्नाटक पुलिस ने उन्हें रमादा होटल के बाहर ही रोक दिया। इसके बाद सभी कांग्रेस नेता सड़क पर धरने पर बैठ गए, बाद में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। दिग्विजय ने कहा है कि अब वे थाने में भूख हड़ताल करेंगे।
5 विधायक हमारे पक्ष में: दिग्विजय


दिग्विजय सिंह ने कहा, ''पुलिस हमें विधायकों से मिलने नहीं दे रही है,हमारे विधायकों को यहां होटल में बंधक बनाकर रखा गया है। वे हमसे बात करना चाहते हैं, लेकिन उनके मोबाइल छीन लिए गए। विधायकों की जान को खतरा है। मेरे पास हाथ में ना बम है, ना पिस्तौल है और ना हथियार है। फिर भी पुलिस मुझे क्यों रोक रही है।'' हिरासत में लिए जाने के बाद उन्होंने कहा- हमें उम्मीद है कि विधायक लौटेंगे। 5 विधायकों से मेरी बात हुई तो उन्होंने बंधक होने की जानकारी दी। होटल में 27 घंटे पुलिस का पहरा है। विधायकों की हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।


Popular posts
क्या सारे कुए में भांग मिली है?
Image
सिंहस्थ क्षेत्र में 2016 के बाद बने हुए पक्के निर्माण कार्य हटाए जाएंगे,,,,,,, कलेक्टर ने चिन्हित करने के निर्देश दिए
Image
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सावधानी व कर्तव्य परायणता के साथ पीड़ित को न्याय दिलाना चाहिए
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image