इस्तीफे में झलका दर्द,, लिखा रास्ता 1 वर्ष पहले ही बन गया था

नई दिल्ली। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली है, सिंधिया ने श्रीमती सोनिया गांधी को जो पत्र लिखा है , उससे स्पष्ट है कि पिछले 1 वर्षों से सिंधिया जी को कांग्रेसमें उचित सम्मान नहीं मिल रहा था उन्होंने इस्तीफे में लिखा कि यह रास्ता 1 वर्ष पहले स्वयं ही बनना शुरू हो गया था, उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही सिंधिया गुट की घोर उपेक्षा की जा रही थी, यहां तक कि कमलनाथ उनका अपमान करने से भी नहीं चूक रहे थे, सिंधिया जी ने श्रीमती सोनिया गांधी को जनसेवा सौंपा है उसमें उनका दर्द साफ झलक रहा है                  यह लिखा इस्तीफे में                           सिंधिया ने इस्तीफे में लिखा- ‘‘डियर मिसेज गांधी, मैं पिछले 18 वर्षों से कांग्रेस पार्टी का प्राथमिक सदस्य हूं। अब वक्त हा गया कि मुझे नई शुरुआत के साथ आगे बढ़ना चाहिए। मैं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा दे रहा हूं और जैसा कि आप जानती हैं, यह वह रास्ता है जो पिछले वर्ष खुद बनना शुरू हो गया था। हालांकि, जन सेवा का मेरा लक्ष्य उसी तरह का बना रहेगा जो शुरुआत से ही हमेशा रहा है, मैं अपने प्रदेश और देश के लोगों की उसी तरह से सेवा करता रहूंगा, मुझे लगता है कि मैं आगे यह काम इस पार्टी (कांग्रेस) में रहकर करने में सक्षम नहीं हूं। अपने लोगों और अपने कार्यकर्ताओं की भावनाओं को प्रदर्शित करने और उसे जाहिर करने के लिए, मुझे लगता है कि यह सबसे अच्छा होगा कि मैं आगे की ओर देखूं और एक नई शुरुआत करूं। मुझे देश सेवा के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए मैं आपको बहुत धन्यवाद देता हूं और आपके माध्यम से कांग्रेस पार्टी के मेरे साथियों को भी धन्यवाद देता हूं। सादर,


आपका ज्योतिरादित्य सिंधिया।’