मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा मरीज इंदौर में,,,, अभी भी वक्त है संभलने का

इंदौर। जिस तरह शहर में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है, उससे यह स्पष्ट है कि अभी भी पर्याप्त सावधानियां नहीं बरती जा रही है। मध्यप्रदेश में सिर्फ इंदौर में हीअ तक इस बीमारी की चपेट में 24 मरीज आ चुके हैं जो मप्र में सबसे ज्यादा है। एक सप्ताह में सामने आए पॉजिटिव मामलों के बाद अब इंदौर में कोरोना के बढ़ते हुए कदमों को रोकना बेहद जरूरी हो गया है। क्योंकि पॉजिटिव निकले अधिकांश मरीजों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री ना होने से लग रहा है कि  जो सावधानियां बरतनी चाहिए वह नहीं बढ़ती जा रही है, नवागत जिलाधीश मनीष सिंह लगातार व्यवस्थाओं पर नजर रखे हुए हैं।
डॉक्टर्स मानते हैं कि संक्रमण अब कम्युनिटी स्तर पर है। हम स्टेज-1 या स्टेज-2 की बजाय सीधे स्टेज-3 में पहुंच चुके हैं। अब तक 24 मामले सामने आए, जिनमें दो-तीन मरीजों को छोड़ किसी की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं थी। इनमें से कुछ एक-दूसरे के संपर्क में आने से संक्रमित हो गए हैं। पॉजिटिव मरीजों की उम्र 14 से 70 साल के बीच है। जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है, उनकी स्थिति क्रिटिकल है और उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा है।


Popular posts
अखाड़ा परिषद् अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Image
देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि
स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने के लिए राजनीतिक दल आमंत्रित 
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
सरकारी जमीन पर तान दी मल्टी, टीएनसीपी ने निरस्त की अनुमति, नगर निगम ने भ्रष्टाचार की सीमा तोड़ी,,, बिल्डर ने शासकीय अधिकारी एवं इंजीनियरों से सांठगांठ कर अवैध मल्टी का निर्माण करने पर नगर निगम इंजीनियर मीनाक्षी शर्मा, भवन अधिकारी रामबाबू शर्मा, नगर निवेशक मनोज पाठक पर धारा 420, 467, 468, 471, 120-बी भादवी एवं भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज करने की मांग की थी
Image