संतोषी मां सुनायेंगी तेजस्वी देवी बगलामुखी व्रत के पीछे की कहानी



समर्पण या ‘भक्ति’ को सबसे महत्वपूर्ण मानवीय भावनाओं में से एक माना  जाता है। हर भगवान के लिये एक भक्त है और उसी तरह हर भक्त के लिये भगवान, जो अपने भक्तों का खुशहाली और समृद्धि के मार्ग पर सहयोग और मार्गदर्शन करते हैं। भक्त की जिंदगी में भगवान का निरंतर मार्गदर्शन और उपस्थिति भक्त के भक्तिमय सफर को मजबूत बनाता है। ऐसी ही कहानी संतोषी मां की है, जिनकी मौजूदगी उनकी परम भक्त के जीवन में शांति और संतोष लेकर आया है। ‘भक्त और भगवान’ के बीच के इस पवित्र रिश्ते को दर्शाता है, &TV का शो ‘संतोषी मां सुनाये व्रत कथायें।’ इस शो हफ्ते दर हफ्ते हर व्रत के पीछे की अलग-अलग मान्यताओं तथा कहानियां की पेशकश की जाती है।

अपनी परम भक्त स्वाति (तन्वी डोगरा) को एक और मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकलने में मदद करने के दौरान, संतोषी मां (ग्रेसी सिंह) ‘बगलामुखी व्रत’ के नाम से प्रसिद्ध व्रत के महत्व के बारे में बतायेंगी। इस व्रत का महत्व उस समय सामने आता है जब दुष्ट पालोमी, स्वाति का अंत करने के लिये अपना सारा क्रोध उस पर निकाल देती है। वह तबाही के लिये काले जादू के अपने हथियार का इस्तेमाल करती है। संतोषी मां अपना सारा आशीर्वाद और शक्तियां लेकर स्वाति के बचाव के लिये आगे आती है और पालोमी के गुस्से को खत्म करने के लिये बगलामुखी व्रत रखने को कहती है। देवी बगलामुखी की बेहतरीन भूमिका, ऐक्टर यशाश्री चिपलूनकर निभायेंगी।

महाविद्या की आठवीं शक्ति के रूप में ख्यात, बगलामुखी देवी दुर्जनों और उसकी पूरी दुष्ट सेना तथा सजिशों को कमजोर बना देती है,जिससे वे शक्तिहीन हो जाते हैं। उनका रूप पिघले हुये  सोने के समान है। वह सारी बुरी ताकतों और शैतानी शक्तियों का नाश करती हैं। उनके एक हाथ में गदा है और दूसरे हाथ से वह दुष्टों का संहार करती है। वह अपने उदार व्यवहार के लिये जानी जाती हैं, लेकिन जब बात दुष्टों को सजा देने की होती है तो उनका उग्र रूप सामने आता है।

अपने किरदार के बारे में बताते हुए, अभिनेत्री यशाश्री चिपलूनकर कहती हैं, ‘‘दर्शक कई सारी देवियों को जानते हैं, जिन्हें किसी ना किसी रूप में टेलीविजन पर दिखाया गया है। बगलामुखी एक ऐसी देवी है, जिन्हें टेलीविजन पर ज्यादा नहीं दिखाया गया है। बगलामुखी देवी, दस महाविद्याओं में से आठवीं हैं और उनके मंत्रों का जाप हर तरह से सुरक्षा पाने, खुशहाली तथा स्थिरता पाने में काफी लाभकारी होता है। मैं खुशकिस्मत हूं कि मुझे इस शो का हिस्सा बनने और ग्रेसी जी के साथ काम करने का मौका मिला।’’

संतोषी मां के मार्गदर्शन में बगलामुखी का व्रत रखने से क्या स्वाति, पालोमी की शक्तियों और उसकी शैतानी चालों का सामना करने में सक्षम हो पायेगी?


और अधिक जानने के लिये देखिये, ‘संतोषी मां सुनाये व्रत कथायें’, हर सोमवार से शुक्रवार,
 रात 9 बजे केवल &TV पर


Popular posts
जिले में आज से ही लेफ्ट राइट के नियम का पालन करते हुए शाम 7:00 बजे तक खुली रहेगी दुकाने ,,,,, धार्मिक स्थल नहीं खुलेंगे,,,,,ब्लैक फगस के 89 मरीज हैं जिनका उपचार चल रहा है,,,,,,,कलेक्टर ने कहा कि अब आगे से कोरोना के जितने भी प्रकरण पॉजिटिव आएंगे उन सभी को होम क्वॉरेंटाइन के स्थान पर कोविड केयर सेंटर में रखा जाएगा
Image
आज 11 जून से ही संपूर्ण बाजार खुलेगा लेफ्ट राइट का नियम तत्काल प्रभाव से समाप्त
Image
पारस जैन और मंत्री डॉ मोहन यादव ने मुख्यमंत्री से कहा की वैवाहिक आयोजनों के लिए वर पक्ष को 100 एवं वधु पक्ष को 100 व्यक्तियों की अनुमति प्रदान की जाए
Image
पटवारियों की दुर्घटना में मौत के बाद एक्सिस बैंक ने उनके नामिनी को दिए 20 20 लाख रुपए, जिलाधीश ने सोपे चेक
Image
चौबीस घंटे पर्दे के पीछे रहकर कर रही है टीम डाटा कलेक्शन का काम*
Image