शिप्रा किनारे वृहद रूप से वृक्षारोपण कराये जाने की कार्य योजना बनाई, संभागायुक्त ने अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी

 


उज्जैन ।। संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा की अध्यक्षता में गत दिवस शिप्रा किनारे वृक्षारोपण के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गई। बैठक में संभागायुक्त ने अधिकारियों को वर्षाकाल के समय शिप्रा किनारे वृहद पैमाने पर वृक्षारोपण कराये जाने की कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये। बैठक में अधिकारियों को शिप्रा किनारे वृहद रूप से वृक्षारोपण करने की जिम्मेदारी सौंपी और समय-सीमा में उक्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार उज्जैन ग्रामीण, कोठी महल, शहर को 28 मार्च तक शिप्रा किनारे शासकीय भूमि का चिन्हांकन तथा निजी कृषकों की भूमि सहित जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। वन मण्डलाधिकारी उज्जैन, उप संचालक उद्यानिकी तथा कृषि विज्ञान केन्द्र के अधिकारियों को 28 मार्च तक शिप्रा नदी किनारे की जमीनों का मिट्टी परीक्षण एवं वृक्षों की किस्मों की उपयुक्ता का कार्य सौंपा गया है। संभागायुक्त ने अपर कलेक्टर राजस्व को 10 मई तक शासकीय भूमि आवंटन की कार्यवाही करने के निर्देश दिये। वन मण्डलाधिकारी एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारी को संयुक्त रूप से क्षेत्र परीक्षण तथा कृषक संगोष्ठी का आयोजन 7 अप्रैल तक करने के निर्देश दिये। वन मण्डलाधिकारी उज्जैन, उद्यानिकी एवं परियोजना संचालक के अधिकारियों को निर्देश दिये कि निजी कृषकों का भ्रमण 20 अप्रैल तक करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार संभागायुक्त ने वन मण्डलाधिकारी एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को नदी किनारे चिन्हित निजी कृषकों को योजना से 15 मई तक जोड़ा जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन अधिकारियों को कार्य योजना अनुसार कार्य सौंपे हैं, वे समय-सीमा में कार्य पूर्ण करें। प्रत्येक टीएल बैठक में इसकी समीक्षा की जायेगी। बैठक में मुख्य वन संरक्षक श्री अजय कुमार यादव, कलेक्टर श्री शशांक मिश्र, वन मण्डलाधिकारी श्रीमती किरण बिसेन, अपर कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल आदि उपस्थित थे।