आगे चलकर मोबाईल, इंटरनेट ठप्प हो जाएंगे ,,,सन्त उमाकान्त जी महाराज


उज्जैन (मप्र)


मनुष्य शरीर को मालिक की याद में लगाओ- महाराज जी 


देश और दुनियां को आनेवाली मुसीबतों से बचाने के लिए सन्त उमाकान्त जी महाराज ने संदेश देते हुए कहा कि हमको तो लोगों की रक्षा की फिक्र है ।क्योंकि फिर ये मनुष्य शरीर जल्दी मिलने वाला नही है,ये मानव मन्दिर है । जैसा मैंने बताया कि रोज़ मन्दिर जाते थे, मन्दिर बढियां से बढियां बनवाया, भगवान को भोग लगाया,नहलाया, धुलाया, पूजा पाठ करते थे , अब वही भगवान ताले में बन्द हो गए, वहां तक पहुँच नही पा रहे है,कर्फ्यू लगा हुआ है, आदेश हो गया कि इकट्ठा नही हो सकते । तो यही मानव मन्दिर काम आ रहा है ।तो इसी मानव मन्दिर से पूजा उपासना करों । इसी में असली भगवान है इसी में देवी-देवता है,इसी में सब मिलते है, आज तक जिसको मिलते है इसी में मिलते है और मिलेंगे और रास्ता भी बताया लोगों को । तो ये बात गलत नहीं हो सकती । ये वेद,पुराण,कुरान जो संतो ने लिख दिया,महात्माओं ने लिख दिया,जो धार्मिक ग्रन्थ महात्माओं ने लिख दिया वो गलत नही हो सकते । आप लिखने में,छापने में गलती कर सकते हो, अपने हिसाब से तोड़-मरोड़ सकते हो ,लेकिन उसका जो आशय है उसे आप ख़तम नही कर सकते हो। उसी को पकड़कर अगर उसी पर चलने लगे तो सब समझ आ जाये ।लेकिन अब आदमी को समय ही कहाँ है।पहले तो कुछ समय इस काम के लिए लोग निकलते थे,पर अब पेट के चक्कर मे दिन रात दौड़ते रहते है । हालांकि इस समय तो सब बन्द हो गया,मज़बूरी हो गई बैठने की । इमरजेंसी, कर्फ्यू लगा हुआ है पूरे देश मे । तो अभी समय ही समय है तो इस मनुष्य मन्दिर से उस मालिक की याद में लग जाओ ।


जयगुरुदेव नाम भगवान का नाम है इस नाम से लोगों की रक्षा होगी


महाराज जी ने बताया ये जयगुरुदेव नाम प्रभु, भगवान का नाम है, महापुरुष का जगाया हुआ नाम है मान्यता प्राप्त नाम है। उस मालिक से जुड़ा हुआ नाम है। तो इस समय इस जयगुरुदेव नाम की ध्वनि ही सब लोग बोलते रहों ।


आगे मोबाईल, इंटरनेट सेवाओं पर भारी प्रभाव पड़ेगा ।


महाराज जी ने फरमाया अब जगह-जगह, गावँ में जाकर प्रचार करने, भाषण देने का समय नही है।इमरजंसी का समय लगा हुआ है, बाहर नही जा सकते। लेकिन और साधन बन्द नही हुए है । लेकिन आगे चलकर ये भी ठप्प हो जाएंगे । ये मोबाईल, इंटरनेट और ये सब इस पर भी भारी प्रभाव पड़ेगा । इस समय जब तक ये साधन मौजूद है आप अपने-अपने तौर तरीके से ही प्रेमियों जो जहाँ पर हो।इसका प्रचार करों जयगुरुदेव नाम की ध्वनि के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को बताओ ।
जो लोग पैदल जा रहे है ऐसे बैठे हुए है,जगह-जगह है इस वक्त पर देश मे ये हालात चल रही है भगदड़ मची हुई है । सब जयगुरुदेव बोलते हुए ही आवे-जावे , जहां कही पानी पिलाओ,रोटी खिलाओ वहां भी जयगुरुदेव नाम की ध्वनि बुलवाओ, जयगुरुदेव नाम रटवा दो । जयगुरुदेव नाम कलोगों की तकलीफ में आराम देगा ।


Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
11 वर्षो से महाकालेश्वर से बोरेश्वर महादेव की यह यात्रा अनवरत जारी है
इस स्वतंत्रता दिवस, चलिए प्लास्टिक से होते हैं स्वतंत्र
Image
वदतु संस्कृतं, जयतु भारतं,,,,,,,,, संस्कृत एवं भारतीय संस्कृति को समूचे विश्व में फैलाना है, महर्षि पाणिनि संस्कृत विश्वविद्यालय का प्रथम दीक्षांत समारोह सम्पन्न,
Image