भोपाल की तरह उज्जैन में भी किराना दुकाने खोलने की मांग

भोपाल में किराना सामग्री की होम डिलीवरी में आ रही परेशानियों को देखते हुए जिला प्रशासन ने शहर की सभी किराना दुकानें खोलने की अनुमति दे दी है। कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने बताया कि दुकानों पर भीड़ लगने पर दुकानों का गुमाश्ता लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा। दुकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए काउंटर के आगे रस्सी बांधकर रखना होगी। ग्राहकों के खड़े रहने के लिए गोले बनाना होंगे।


कलेक्टर ने दुकानदारों से कहा है कि वे ग्राहकों को टोकन नंबर देकर और एक निश्चित समय पर बुलाकर भी सामान सप्लाई कर सकते हैं। कलेक्टर ने कहा कि एक घर से केवल एक ही व्यक्ति घर के पास की किराना दुकान से सामान लेकर निकल सकेगा। भोपाल कलेक्टर के आदेश के बाद उज्जैन शहर के नागरिकों ने जिलाधीश से मांग की है कि शहर में भी किराना सामान सप्लाई की जनक है शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी किराना सामान की सप्लाई नहीं हो पा रही है ऐसी स्थिति में भोपाल कलेक्टर के आदेश का अनुसरण कर उज्जैन जिलाधीश भी किराना की दुकान खोलने के निर्देश जारी करें आम नागरिकों ने यह भी मांग की है कि किराना सामग्री के दाम भी जिला प्रशासन निर्धारित करें , शहर में अभी 10 से 15 प्रतिशत अधिक पर सामग्री उपलब्ध हो रही है ज्यादा दाम देने के बावजूद कहीं-कहीं सामग्री 3 से 4 दिन में पहुंच रही है।