बोरा भरकर नोट ले जाएँगे तब भी झोला भरकर अनाज नही मिलेगा - महाराज जी

 


बोरा भरकर नोट ले जाएँगे तब भी झोला भरकर अनाज नही मिलेगा - महाराज जी


जब जान पर आफत आती है तो इंसान धन, दौलत,हीरा छोड़ कर भागता है - संत उमाकान्त जी महाराज


अपने गुनाहों की माफ़ी मांगो तो बच सकते हो- महाराज जी


बाबा जयगुरुदेव महाराज के आध्यत्मिक उत्तराधिकारी और शाकाहार, नशामुक्त समाज के निर्माण का लक्ष्य रखने वाले पूज्य संत उमाकान्त महाराज जी द्वारा देश विदेशों के लोगो को संदेश देते हुए कहा कि हमको तो वो समय दिखाई पड़ रहा है जब लोग बोरा भरकर नोट ले जाएंगे और झोला भरकर भी अनाज नही मिलेगा और मिलेगा भी तो दूसरे लोग देखते रहेंगे की ये अनाज ले जा रहे है तो छीन कर भाग जाएंगे । वो समय आ रहा है। बहुत खराब समय आ रहा है । जिसको इंसान समझ नही पा रहा है क्योंकि अभी घर मे है लेकिन जब खत्म हो जाएगा,आमदनी खत्म हो जाएगी तब अहसास होगा एक मिनिट में ख़ुदा भगवान याद आ जायेगा ऐसा वक्त हमको दिखाई पड़ रहा है ।


सरकार का स्टॉक भी खत्म हो जाएगा,तो कुर्सी छोड़ कर भागेंगे राजनेता


महाराज जी ने आगे के समय के बारे में बताते हुए कहा कि ऐसे समय मे सरकार भी कितना करेगी, कहा से लाएगी जब सब कुछ बन्द हो जाएगा तो धीरे-धीरे सरकार का स्टॉक भी तो खत्म होगा ऐसे समय मे देशों में भगदड़ मचेगी और कर्मचारी ,अधिकारी , राजनेता कुर्सियां छोड़ -छोड़ कर भागेंगे


विदेशों में मचा है कोहराम


विदेशों की हालत तो बेहद खराब है आपको पता नही है कुछ देशों की तो हालात चरमरा गई है । कोई कीमत नही है आदमी की,जिसके परिवार में चार लोग थे तो उनमें से तीन मर गए अब उनका समान जो कहता था ये मेरे बेटे का है बहु का है उसे देखकर रो रहा है ।अफसोस कर रहा है कि पूरे जीवन केवल दुनिया बनाई थोड़ा दीन भी बना लेता तो आज ये ना होता ।


अब सबको मौत याद आ रही है 


महाराज जी ने बताया अब आदमी ये सोचने पर मजबूर हो गया है की मौत सबको आएगी ये गए तो हमको भी जाना पड़ेगा ।
रुपये, पैसे, हीरे, जवाहरात की अब कोई कीमत नही, जब जान पर आफ़त आती है तो इंसान जान बचाने के लिए इनको छोड़कर भागता है ।


तड़प रहे कलेजे के टुकड़े


महाराज जी ने कहा ये ऐसी बीमारी आई के अपने बच्चे जिसे आप कलेजे के टुकड़े कहते हो तड़प-तड़प के मर रहे है और आप अंतिम समय मे उनके पास भी नही जा सकते । अगर अब भी ना सम्हले तो बड़ी तकलीफ आ रही है । क्योंकि जब वो सज़ा देता है तो कई तरह से देता है ।


अगर बचना है तो माफ़ी मांगो अपने गुनाहों की


महाराज जी ने जनता से अपील करते हुए कहा कि अगर बचना है तो सब लोग ईश्वर से अपने अपने गुनाहों की माफ़ी मांग लो ।और धर्म के रास्ते पर आ जाओ तो बचत हो जाएगी वरना कुदरत है नाराज़ खड़ी - आगे तबाही बड़ी-बड़ी


जयगुरुदेव है संजीवनी


महाराज जी ने कहा ये जयगुरुदेव  नाम कलयुग का जगाया हुआ नाम है कोई भी शाकाहारी,नशामुक्त व्यक्ति जब मुसीबत के समय जयगुरुदेव नाम बोलेगा तो उसकी मदद होगी । आप आज़मा लो । इसलिए जयगुरुदेव नाम का जाप करते रहो ये संजीवनी का काम करेगी ।


Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image