ड्रग ट्रायल के लिए उज्जैन के महंत ने की, "देहदान "की पेशकश, बोले मेरा जीवन महामारी से लड़ने के काम आ जाए तो यह मेरा सौभाग्य होगा

उज्जैन।कोरोना एक ऐसी महामारी है जिसका इलाज ढूंढने में वैज्ञानिकों के पसीने छूट रहे हैं और नतीजा यह हो रहा है कि अस्पतालों और केयर होम में हर दिन सैंकड़ों लोगों की मौत हो रही है। दुनिया ने टेक्नॉलजी और विज्ञान के क्षेत्र में चाहे जितनी भी तरक्की कर ली हो और लेकिन कोरोना का वैक्सीन ढूंढने में अभी तक इसे कामयाबी नहीं मिल पाई है। 21वीं सदी में हो रहे अत्याधुनिक प्रयोगों के बीच भी वैज्ञानिकों को फिर 100 साल पीछे जाने को मजबूर हो गए हैं।इधर कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में अच्छी खबर है। देश में  कोरोनावायरस की वैक्सीन का जानवरों पर प्रयोग शुरू हो गया है। नतीजे आने में4 से 6 महीने का वक्त लगेगा। गुजरात की जायडस कैडिला कंपनी यह वैक्सीन बना रही है। इसी कंपनी ने 2010 में देश में स्वाइन फ्लू की सबसे पहली वैक्सीन तैयार की थी।


मार्च से ही वैक्सीन पर काम चल रहा है
मार्च में ही कंपनी ने सूचना दी थी कि हम कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन बना रहे हैं। कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर शर्विल पटेल ने  बातचीत में पुष्टि की कि हम कोरोनाकी वैक्सीन पर काम कर रहे हैं। वैक्सीन का ट्रायल समय लेने वाली प्रक्रिया होती है। हमें इसमें कामयाबी मिलने की उम्मीद है।
                              शरीर दान देने की पेशकश।                         
इस समय देश में अनेक कोरोना योद्धा अपनी जान जोखिम में डालकर देश सेवा की अनोखी मिसाल पेश कर रहे हैं ।इसी कड़ी में उज्जैन में जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी श्री ज्योति गिरी जी महाराज के शिष्य, हरियाणा सेवा आश्रम, नरसिंह घाट पर  रहने वाले जुना अखाड़े के महंत कृष्ण गिरी जी महाराज ने कोरोना वैक्सीन तैयार करने के लिए, ड्रग ट्रायल करने के लिए, अपने शरीर को दान देने की पेशकश की है। उन्होंने दैनिक मालव क्रांति के हवाले से यह घोषणा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश या देश के डॉक्टरों या वैज्ञानिकों को यदि वैक्सीन की सफलता के लिए किसी मानव शरीर की आवश्यकता हो तो मैं अपने शरीर विधिवत दान देना चाहता हूं। जिससे वैक्सीन बनाने में सफलता मिले और देश और दुनिया में प्राण गंवाने वालों के प्राणों की रक्षा हो सके और मानव कल्याण में मेरा शरीर काम आ सके। उल्लेखनीय है कि कृष्ण गिरी जी महाराज शहर के पहले महंत हैं  जिन्होंने अपना आश्रम कोरोना योद्धाओं को ठहरने के लिए और उनके भोजन, नाश्ते,और अन्य आवश्यक सुविधाएं प्रशासन को देने की पेशकश की थी। उल्लेखनीय है कि सनातन धर्म की देखभाल करने वाले सभी तेरह अखाड़ों के सरक्षक श्री महंत हरि गिरि जी महाराज ने भी संकट की इस घड़ी में शासन प्रशासन को पूरी मदद करने का आव्हान किया है ।


Popular posts
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
9 पीठासीन अधिकारी, 26 मतदान अधिकारियों को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image