कांग्रेस उतरी मैदान में,,,,,,,प्रशासन व भाजपा नेताओं की मिलीभगत से उज्जैन को मौतों की प्रयोगशाला बना दिया,,, कार्यकर्ता लगाएंगे काले झंडे, बड़े आंदोलन की तैयारी

 


कांग्रेस की आपात बैठक, भाजपा विधायक का मांगा इस्तीफा


विरोध स्वरूप हर कार्यकर्ता घर पर लगाएगा काले झंडे, व्यवस्था नहीं सुधरी तो जल्द होगा बड़ा आंदोलन


उज्जैन कोविड-19 पर आज कांग्रेस कार्यालय में एक आपातकालीन बैठक आयोजित की गई जिसमें कांग्रेस पदाधिकारियों ने शहर में फैल रहे संक्रमण और इस संक्रमण पर हो रही लगातार मौतों पर सुझाव मांगे कांग्रेस पदाधिकारियों ने शासन और प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री पारस जैन के इस्तीफे की मांग की और हाल ही में हुई भाजपा पार्षद मुजफ्फर हुसैन की अचानक मौत पर न्यायिक जांच की मांग भी की ।


मीडिया प्रभारी विवेक सोनी ने  बताया कि शहर कांग्रेस कार्यालय मैं शहर अध्यक्ष श्री महेश सोनी की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण को लेकर एक आपातकालीन बैठक आयोजित की गई । बैठक में समस्त पदाधिकारियों से कोरोना वायरस संक्रमण पर प्राप्त सुझावों में पदाधिकारियों ने शहर में हुई 40 से अधिक मौतों पर शासन और प्रशासन तथा भाजपा नेताओं को दोषी ठहराया है प्रशासन व भाजपा नेताओं की मिलीभगत से उज्जैन को मौतों की प्रयोगशाला बना दिया गया जबकि शासन द्वारा जिस आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज को कोरोनावायरस पेशेंटो के इलाज के लिए अधिकृत किया वहां 40 से अधिक मरीजों की मृत्यु हो जाना शासन व प्रशासन की गंभीर लापरवाही को उजागर करता है। जबकि अधिकारियों व भाजपा के स्थानीय नेताओं की मिलीभगत से आर डी गार्डी हॉस्पिटल को शासन द्वारा 4 करोड़ रुपए प्रतिमाह से भुगतान किया जाना सुनिश्चित किया है। इस पर तत्काल रोक लगाई जा कर  कोरोना के नाम पर किए जा रहे भ्रष्टाचार को रोकना होगा। जिस तरह से शहर में मौतों का तांडव मचा है वह भी आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज को कटघरे में खड़ा करता है समाचार पत्रों के माध्यम से ज्ञात हुआ कि हॉस्पिटल में जानवर मृत पाए गए। बावजूद इसके प्रशासन द्वारा इसे गंभीरता से नहीं लिया गया जिसका परिणाम हमें आज दिनांक तक लगातार मौतों के रूप में मिला। आज जिले का डेथ रेट 21.73% पहुंच चुका है और हमारे कोरोना पॉजिटिव बढ़ते ही जा रहे हैं कोरोना संक्रमण में उन डॉक्टरों से इलाज करवाया जा रहा है जो वर्तमान में मेडिकल कॉलेज में पीजी के स्टूडेंट है तथा एमबीबीएस के प्रशिक्षु डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जा रही है इसकी भी मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से जांच कराई जानी चाहिए। वही मेडिकल कॉलेज के  एचडी  पढ़ाने वाले  डॉक्टर व  शहर के नामचीन डॉक्टर  इस आपातकाल में सेवाएं नहीं दे रहे  हैं  जबकि  आज अनुभवी डॉक्टर की जरूरत है  कांग्रेस पार्टी की  डॉक्टरों  से विनम्र अपील है कि  वह मोर्चा संभाले  और शहर को  मौतों से बचाए ।


आर डी गार्डी मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर डॉक्टर महाडिक द्वारा शहर में कोरोना संक्रमण फैलाये जाने पर भी आज दिनांक तक प्रशासन द्वारा उन पर अपराध पंजीबद्ध नहीं किया गया जबकि आज ही उनके परिवार में दो लोग पॉजिटिव पाए गए। संक्रमित मरीज की मृत्यु पर उनकी मेडिकल रिपोर्ट नहीं दी गई जा रही तथा मृत्यु उपरांत भी उनके सैंपल की रिपोर्ट अंत्येष्टि के कई दिनों के बाद आना ही इस व्यवस्था पर सवाल खड़े करता है आज दिनांक तक जितने लोगों की जान गई उनकी मृत्यु अन्य बीमारी से हुई या कोरोनावायरस उसका खुलासा भी प्रशासन ने आज तक नहीं किया 


सवाल उठता है कि लगभग 50 कंटेनमेंट इलाके बनाए गए उसकी परिभाषा क्या सिर्फ इलाकों को सील कर देना ही है जबकि कंटेनमेंट इलाकों की जांच कर लोगों को उपचार देकर उन्हें स्वस्थ बनाना होता है परंतु सिर्फ कंटेनमेंट झोन को ओपन किया बाकी सब अभी भी इलाज की बाट जो रहे हैं दैनिक आवश्यकताओं की वस्तुओं की कालाबाजारी भी जनता पर दोहरी मार कर रही है इस पर भी प्रशासन को ध्यान देने की आवश्यकता है कोरोना संक्रमण से संक्रमित मरीजों के अलावा अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों पर भी प्रशासन को ध्यान देना चाहिए क्योंकि इलाज के अभाव में स्वयं मरीज ही नहीं बल्कि उनका परिवार भी भय ग्रस्त है कांग्रेस संगठन ने कांग्रेस कार्यकर्ता नेता पदाधिकारी वह आम जनता से अपील की है कि यदि प्रशासनिक व्यवस्था व चिकित्सा सुविधा में 3 दिनों के अंदर सुधार नहीं आया तो सभी आम जन मिलकर विरोध स्वरूप 10 मई से अपने अपने घरों पर काले झंडा या प्रतीक स्वरूप काले रंग का कपड़ा टांग कर विरोध करेंगे।


आपातकालीन बैठक में इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ बटुकशंकर जोशी पूर्व निगम सभापति श्री आजाद यादव प्रदेश कांग्रेस के सचिव श्री चेतन यादव पूर्व पार्षद लालचंद भारती श्री सुनील कछवाय पूर्व पार्षद रवि राय इकबाल भाई भेरूगढ़ शिव लश्करी विजय यादव बबलू खींची जाहिद नूर एडवोकेट शैलेंद्र व्यास तबरेज खान वरुण शर्मा हाफिज कुरैशी जितेंद्र गोयल धर्मेंद्र खूबचंदानी राकेश गिरजे लक्ष्मण मीणा पुरुषोत्तम कहार विशाल पठान दीपेश जैन अंकित सोनी अजय राठौर सोनिया ठाकुर राजेश चौहान रितेश तिवारी दीपक मित्तल डॉक्टर जमील आनंद मीणा अंकित सोनी रानू घुंघराले विष्णु कामरेड बबलू खान आदि उपस्थित थे।