जनता के पास पैसा नहीं, केंद्र एवं राज्य सरकार खुली लूट मचा रही हैं- रवि राय

 


सरकारों को घाटा हो रहा है तो अपने खर्चों में कटौती करें, परेशान जनता पर टैक्स निंदनीय


उज्जैन। देश के नागरिकों के पास पैसा नहीं है परंतु केंद्र और राज्य सरकारें टैक्स बढ़ा रही है। उक्त आरोप लगाते हुए शहर कांग्रेस कमेटी कार्यकारी अध्यक्ष रवि राय ने कहा कि डीजल पेट्रोल में वर्तमान में कच्चे तेल की कीमत में 66 प्रतिशत की कमी हुई है और पेट्रोल का वास्तविक मूल्य डीलर के कमीशन के पश्चात 20 रूपये ही पड़ रहा है। ऐसी स्थिति में केंद्र और राज्य सरकारें अपने खजाने को भरने के लिए पेट्रोल डीजल पर 32 रूपये से अधिक एक्साइज ड्यूटी के नाम पर वसूल कर रही है। इसी प्रकार राज्य सरकार 16 रूपये का वेट टैक्स वसूल करती थी परंतु आज राज्य सरकार द्वारा 4 रूपये की वृद्धि करते हुए लगभग 20 रूपये प्रति लीटर वेट ले रही है।


रवि राय ने बताया कि एक रुपए का नया शुल्क कोविड महामारी का लगाया गया है जबकि राज्य सरकार को केंद्र से एवं डब्ल्यूएचओ द्वारा भी करोड़ों रुपए की राशि मिली है। ऐसी स्थिति में जब शहर के प्रदेश के और देश के नागरिक आर्थिक संकट से जूझ रहे हो जिन्होंने 4 माह से कोई कार्य नहीं किया हो ऐसी स्थिति में इन सरकारों द्वारा बड़े ही शर्मनाक तरीके से डीजल और पेट्रोल की कीमतों में अचानक मूल्य वृद्धि कर जनता से खुली लूट की जा रही है। जबकि दैनिक उपयोग की वस्तुओं डीजल और पेट्रोल जो पूरे देश के नागरिकों की प्राथमिकता होती है ऐसी स्थिति में उनकी जेबों को जिसमें पूर्व से ही पैसे नहीं है उसमें 45 रूपये से अधिक करना जो वस्तु 20 रूपये की होती है उसको बेचना खुली लूट है। इस लूट का कांग्रेस पार्टी विरोध करती है और देश के नागरिकों से मांग करती है कि जिस भारतीय जनता पार्टी की सरकारों को भारी मतों से बिठाया था वह खुली लूट करने में लगी हैं। आने वाले समय में इन सब बातों को देखकर अच्छे बुरे की पहचान करना आवश्यक है। रवि राय ने केंद्र और राज्य सरकारों की निंदा करते हुए कहा कि अगर किसी प्रकार का सरकारों को घाटा हो रहा है तो अपने खर्चों में कटौती करना चाहिए ना कि आम जनता से जो पहले से हर तरफ से परेशान है उस पर टैक्स लगाकर के वसूली करना निंदनीय है।