बंदूक से फायर करने वाले आरोपी ,सुरैय्या बाई पारदी का जमानत आवेदन निरस्त जेल में ही रहना होगा,,,,,,,,,,,,,,,,पिता पर बंदूक से फायर करने वाले पुत्र को न्यायालय ने भेजा जेल

गुना। न्यायालय राधौगढ़ में जान से मारने की नियत से बंदूक से फायर करने वाले आरोपी गण में सहभागी सुरैया बाई ने जमानत के लिये आवेदन पेश किया जिसे न्यायालय ने खारिज कर दिया।


         एडीपीओ मयंक भारद्वाज ने बताया कि दिनांक 13.03.2020 को धरमराज पारदी, करन पारदी, सुरईया बाई राजमल पारदी, रंजीताबाई, जोनी, गिर्राज पारदी निवासीगण बीलाखेड़ी फसल काट रहे थे तभी प्रमोद, देवेन्द्र, उसकी पत्नीे व बहन बेदरा वाले खेत पर करीब 2 बजे पहुंचे और इन लोगो से फसल काटने से मना किया बहन ने कहा कि यह फसल मैने बोई है तुम क्यों काट रहें हो तो तभी धरमराज ने उसे जान से मारने की नियत से अपनी बारह बोर बंदूक से उसके ऊपर फायर किया जिसका छर्रा मेरे बाये पैर के अंगूठा के पास आकर लगा। उक्त आरोपीया को पूर्व में गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया था जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया।


पिता पर बंदूक से फायर करने वाले पुत्र को न्यायालय ने भेजा जेल


 


 //जमीन बंटवारे को लेकर चल रहा था विवाद//


 


गुना। जेएमएफसी न्यायालय गुना में जमीन बटवारे को लेकर पिता पर जान से मारने की नियत से बंदूक से फायर करने वाले आरोपी राजू जाट पुत्र सीताराम जाट को बजरंगगढ़ पुलिस पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 


             सहायक मीडिया प्रभारी डॉली गुप्ता ने बताया कि फरियादी सीताराम ने अपने चार लड़को को बराबर-बराबर जमीन बाटकर हिस्से कर दिये हैं जो अपनी-अपनी खेती कर रहे हैं दिनांक 25/06/2020 के रात्रि 09 बजे की बात हैं मेरा बड़ा लड़का राजू जाट शराब पीकर आया बोला कि मुझे जमीन में ज्यादा हिस्सा चाहियें मैंने कहां कि मैंने सबको बराबर-बराबर दे दिया हैं इसी बात पर से राजू बिना लायसेसी बंदूक लेकर आया और जान से मारने की नियत से दो फायर कर दिये जो मुझमें न लगते हुयें मेरी घर की दीवार में गोली लगी।


                


Popular posts
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
तेजरफ्तार बस हुई दुर्घटनाग्रस्त, 3 की मौत, करीब 10 से 12 घायल
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
महापौर मधुकर वर्मा के कांग्रेस की परिषद थी, महापौर थे मधुकर वर्मा तब भी चलता था लेनदेन का खेल ,,, निगम के इंजीनियरों ने रिश्वत की राशि के लिए बना रखा था गंगाजलि फंड
Image
गोवर्धन सागर को अतिक्रमण से मुक्त कराने की कार्रवाई प्रारंभ हुई, 35अतिक्रमण हटाए गए, 28 दुकाने और 7 मकान तोड़े गये
Image