प्रदेश का प्रथम लाईव डोनर लीवर ट्रांसप्लांट सफलतापूर्वक,,,, सी.एच.एल. हाॅस्पिटल में संपन्न

इन्दौर । सी.एच.एल. हाॅस्पिटल, इन्दौर प्रदेश का पहला लाईव डोनर लीवर ट्रासंप्लांट ऑपरेशन संपन्न हुआ है। इंदौर के डाॅ. विनित गौतम, डाॅ. अमित गांगुली, दिल्ली के डाॅ वासुदेवन एवं टीम के सहयोग से इस प्रथम सफल लाईव लीविंग डोनर लीवर ट्रांसप्लांट ऑपरेशन को किया है। इंदौर में लाईव डोनर लीवर ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन होने के बाद अब मरीजो को इसके लिए महानगरों का रुख नही करना पडेगा । इससे उनके समय और धन की बचत होगी । 


उपरोक्त जानकारी सीएचएल हाॅस्पीटल के चेयरमेन श्री राजेश भार्गव ने पत्रकारवार्ता में दी । उन्होने बताया कि  मरीज श्री तेज सिंह मेवाड़ा जो कि लंबे समय से लीवर की समस्या से पीड़ित होकर पेट में बार-बार पानी भरने की समस्या से परेशान थे, जिनका ईलाज डाॅ. अमोल पाटील से चल रहा था, इस बीमारी का ईलाज दवाईयों द्वारा संभव नहीं था इसलिए उन्हें डाॅ. विनित गौतम से सम्पर्क करने को कहा गया, उन्होंने मरीज को लीवर ट्रांसप्लांट की सलाह दी । सारी प्रक्रिया समझने के बाद मरीज श्री तेजसिंह मेवाड़ा की पत्नी श्रीमती लाडकुंवर ने अपने लीवर का हिस्सा देने की सहमति जताई । उसके बाद मरीज एवं उनकी पत्नी की सभी जाँचे सी.एच.एल. हाॅस्पिटल, इन्दौर में हुई तत्पष्चात दिनांक 16 जुलाई को उनके परिवारजनों की सहमति से लाईव डोनर लीवर ट्रांसप्लांट सर्जरी सफलतापूर्वक की गई ।


लाईव डोनर लीवर ट्रांसप्लांट ऑपरेशन पूर्णतः सफल रहा एवं मरीज श्री तेज सिंह की पत्नी श्रीमती लाड़कुंवर मेवाड़ा 1 सप्ताह में पूर्णतः स्वस्थ हो कर घर जा चुकी है एवं आज 2 सप्ताह बाद मरीज भी श्री तेज सिंह मेवाड़ा स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर जा रहे है । यह म.प्र.में इन्दौर का प्रथम सफल लीविंग डोनर लीवर ट्रांसप्लांट है । इससे पहले भी सी.एच.एल. अस्पताल में 4 केडेवर (Cadaver) लीवर ट्रांसप्लांट, 13 लाईव किडनी ट्रांसप्लांट एवं 10 केडेवर (Cadaver) किडनी ट्रांसप्लांट सफलतापूर्वक हो चुके है और म.प्र का पहला हृदय ट्रांसप्लांट भी सी.एच.एल. अस्पताल में हुआ था ।  


डाॅ. ज्योति बिंदल, डीन (एम.जी.एम. मेडीकल काॅलेज, इन्दौर) एवं अंग प्रत्यारोपण प्राधिकार समिति, गांधी मेडिकल काॅलेज, भोपाल के सहयोग एवं अनुमति से ही यह संभव हो पाया । 


 


Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image