वन को हानि पहुंचाने वाले को भेजा जेल,,,,,,एलईडी टीवी चोरी करने वाला आरोपी जेल में ही रहेगा*

 


 एलईडी टीवी चोरी करने वाला आरोपी जेल में ही रहेगा


राजगढ । न्यायालय माननीय मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी श्रीमान गोपेश गर्ग राजगढ की अदालत ने थाना राजगढ के अपराध क्रमांक 57/2020 में एलईडी टीवी चोरी करने वाले अभियुक्त नाजिस की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।


  अभियोजन मीडिया प्रभारी आशीष दुबे ने जानकारी देते हुये बताया है कि दिनांक 24 जनवरी 2020 को फरियादी ने थाना राजगढ में रिपोर्ट लिखवाई कि 23 जनवरी को आॅफिस के कर्मचारी द्वारा आॅफिस बंद कर ताला लगा दिया गया था। घटना दिनांक 24 जनवरी को आॅफिस खोला और व्ही.सी. रूम में जाकर देखा तो वहां पर लगी एलईडी टीव्ही नहीं दिखी व खिड़की खुली दिखी थी। कर्मचारी ने इस घटना के बारे में दूरसंचार पर फरियादी को जानकारी दी थी। फरियादी की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 57/2020 अंतर्गत धारा 379 भादवि का अपराध कायम कर प्रकरण की विवेचना प्रारंभ की गई। संदेहियों से पूछताछ की गई एवं साक्षियों के कथन लेख किये गये थे। जिसके उपरांत एलईडी टीवी बरामद कर अभियुक्तगण को गिरफ्तार किया गया था। अभियुक्त दिनांक 8 सितम्बर 2020 से न्यायिक अभिरक्षा में होकर जेल में है। 


           अभियुक्त नाजिस ने न्यायालय के समक्ष अपना जमानत आवेदन प्रस्तुत कर जमानत की मांग की थी। राज्य की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री राजेश कुमार शाक्य ने तर्क प्रस्तुत कर जमानत न दिये जाने का आग्रह किया। जिस पर विचारण करते हुये माननीय न्यायालय ने जमानत आवेदन खारिज कर दिया।


*वन को हानि पहुंचाने वाले को भेजा जेल


ब्यावरा । न्यायालय माननीय न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी सुश्री प्राची शर्मा उपाध्याय की अदालत ने वन परिक्षेत्र ब्यावरा के पीओआर क्रमांक 25619/11 में वृक्षो को काटकर क्षति पहुंचाने, वन्यप्राणियों के प्राकृतिक आवास को नष्ट करने वाले एवं झाडी कटाई, जलाई करने वाले अभियुक्तगण की जमानत अर्जी खारिज कर जेल भेज दिया है। 


अभियोजन मीडिया प्रभारी श्री आशीष दुबे ने बताया है कि आरोपीगण (1) बुधराम पिता लक्ष्मण भील, उम्र 40 वर्ष, निवासी ग्राम खजुरखाडी तहसील ब्यावरा जिला राजगढ म.प्र. (2) सुनील पिता रोडजी भील उम्र 22 वर्ष, निवासी ग्राम खजुरखाडी तहसील ब्यावरा, जिला राजगढ म.प्र द्वारा अन्य साथियो के साथ मिलकर वनपरिक्षेत्र ब्यावरा के वृत्त मलावर की बीट उमरेड के वृक्ष कमांक पी-09 में प्रवेश कर सामूहिक रूप से 49 बडे वृक्षो को काटकर क्षति पहुंचाई, वन्यप्राणियों के प्राकृतिक आवास को नष्ट किया एवं झाडी कटाई, जलाई की जिसमे अनुसूची-1 के वन्य प्राणी राष्ट्रीय पक्षी मोर का अण्डा नष्ट किया। दीमक की बामी व मधुमक्खी का छत्ता नष्ट किया। सेकडो दीमक व मधुमक्खी आग में झूलस कर दब कर मर गये। मौके से मोर का जलाकर नष्ट किया हुआ अण्डा, मृत मधुमक्खी व छत्ता, मृत दीमक व बामी जप्त किया गया हैं। मौके से अन्य आरोपी फरार हो गये हैं आरोपी भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33(1) क, ग, 52, एवं वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2(16), के दोषी हैं। अतः आरोपियों के खिलाफ वन अपराध प्रकरण कमांक 25619/11 दिनांक 10.09.2020 कायम किया जाकर अभियुक्तो को गिरफ्तार कर दिनांक 11.09.2020 को अधीनस्थ न्यायालय श्रीमान न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी ब्यावरा के समक्ष पेश किया हैं एवं 12. 09.20 को सुनवाई हेतु न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है। एडीपीओ श्रीमति नीरज भार्गव द्वारा लिखित आवेदन प्रस्तुत कर जमानत का विरोध किया गया जिस पर से माननीय न्यायालय द्वारा अभियुक्तो को जेल भेजा गया है।


           


                                                                


Popular posts
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
9 पीठासीन अधिकारी, 26 मतदान अधिकारियों को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image