CHL उज्जैन में हुई विशेष प्रकार की हार्ट सर्जरी,,,,,,, डॉ प्रदीप पोखरना ,डॉ किशोर थोराट एवं डॉ नीलेश शर्मा ,डॉक्टर अनिमेष जैन ,डॉ सुरेश बैंड वाल ,डॉ कुशाग्र भटनागर ने कमाल किया

सीएचएल मेडिकल सेंटर में पिछले हफ्ते एक विशेष प्रकार की हार्ट सर्जरी की गई जिसमें महिला की उम्र 35 वर्ष हे। वह महिला काफी समय से एक बीमारी से परेशान थी और कई जगह दिखाने पर भी इलाज नहीं मिल पा रहा था फिर उसने सी एच एल मेडिकल सेंटर में डॉ प्रदीप पोखरना सीनियर का कार्डियक सर्जन को दिखाया तो मरीज की कुछ जांचे करवाने पर पता चला कि उसके हृदय में एक दुर्लभ प्रकार की जन्मजात खराबी है जिसे चिकित्सा ही भाषा में आई वी सी टाइप का साइनस विनोसस एवं सेकंडम ए एस डी एवं पी ए पी वी सी टू आईवीसी नामक बीमारी कहां जाता है आम भाषा में कहें तो मरीज के दिल में दो छेद थे एवं एक नस गलत जगह से जुड़ी हुई थी जन्मजात खराबी होने की वजह से उसके दिल पर काफी दबाव बन रहा था एवं फेफड़ों में सूजन आ रही थी! उसे चलने फिरने में सांस भरना शारीरिक कमजोरी एवं बार-बार तकलीफ होती थी डॉ प्रदीप पोखरना की सलाह पर यह तय हुआ कि इसका इलाज ऑपरेशन द्वारा ही संभव है यह बीमारी दुर्लभ होने के साथ ही इसका ऑपरेशन भी काफी कठिन होता है एवं कई प्रकार की मशीन के विशेष चिकित्सकीय दक्षता ओं की आवश्यकता होती है इस ऑपरेशन में मरीज के परिजनों की अनुमति होने पर इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक किया गया यह ऑपरेशन मध्य भारत का अपने प्रकार का प्रथम ऑपरेशन है जिसमें सीएचएल मेडिकल सेंटर उज्जैन की टीम डॉ प्रदीप पोखरना ,डॉ किशोर थोराट एवं डॉ नीलेश शर्मा ,डॉक्टर अनिमेष जैन ,डॉ सुरेश बैंड वाल ,डॉ कुशाग्र भटनागर एवं सहयोगी स्टाफ का सराहनीय योगदान रहा !विगत कुछ माह से सीएचएल मेडिकल सेंटर उज्जैन में आयुष्मण भारत योजना के तहत इस प्रकार के जटिल ऑपरेशन जिसमें इन ज्योग्राफी, एंजो प्लास्टिक पेसमेकर ,बायपास ,वॉल रिप्लेसमेंट एवं जन्मजात दिल के छेद आदि प्रकार के सभी ऑपरेशन अब अब हमारे शहर उज्जैन में सीएचएल मेडिकल सेंटर हॉस्पिटल में योजना के तहत निशुल्क किए जा रहे हैं उक्त जानकारी सीएचएल हॉस्पिटल के प्रतिनिधि सुशील उपाध्याय/ जितेंद्र रायकवार एवं आयुष्मान मित्र निखिल गोठवाल द्वारा दी गई 


Popular posts
कोरोना के मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि होने से एक और जहां शहर में दहशत , वहीं दूसरी ओर प्रशासन की कार्यप्रणाली भी संदेह के घेरे में है
Image
खुद डूब गया पर डूबने से बचा गया उज्जैन का नाम
Image
श्री तिरूपति बालाजी, श्री सोमनाथजी व मदुरई स्थित मीनाक्षी देवीजी मंदिर का भी अध्ययन करने उज्जैन से दल गया,,, लौटकर बनाएगा श्री महाकालेश्वर मंदिर का प्लान
Image
बरकतउल्ला विवि कार्य परिषद का निर्णय : संविदा पद से डॉ आशा शुक्ला सेवानिवृत्त कुलपति पद पर नियुक्ति मामले में राजभवन को किसने धोखे में रखा
Image
आज सिर्फ 26 जांच,2 पॉजिटिव
Image