पहली बार आप के हर सवाल का जवाब

 *कोविड-19 वेक्सीन के बारे में महत्वपूर्ण प्रश्न तथा उनके उत्तर*


उज्जैन


। 16 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण प्रारम्भ हो रहा है। कोविड-19 वेक्सीन के बारे में प्राय: पूछे जाने वाले प्रश्न तथा उनके संभावित उत्तर जारी करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ.सुधीर सोनी ने बताया कि प्रमुख रूप से पूछे जाने वाले प्रश्न इस प्रकार हैं :-


लक्षित समूह - आम जनमानस


प्रश्न 1- क्या कोविड वैक्सीन का टीका जल्द ही लगने वाला है?

संभावित उत्तर- हां, वैक्सीन के मूल्यांकन की प्रक्रिया अंतिम चरणों में है। भारत सरकार कोविड-19 की वैक्सीन लगाने के लिए आवश्यक तैयारियां पूर्ण हो गई है। वैक्सीन के बारे में ज्यादा जानकारी तथा अपडेट के लिए www.mohfw.gov.in पर क्लिक करें।


प्रश्न 2- क्या कोविड-19 वैक्सीन का टीका सभी व्यक्तियों को एक साथ दिया जायेगा?

संभावित उत्तर- टीकों की संभावित उपलब्धता एवं उच्च जोखिम के आधार पर भारत सरकार ने प्राथमिक समूहों का चयन किया है, जिन्हें प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाया जायेगा। पहले समूह में स्वास्थ्य सेवा प्रदाता तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल है। कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने वाला दूसरा समूह 50 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्ति तथा 50 वर्ष से कम वाले व्यक्ति जो कोमार्बिड वाली स्थिति में है।


प्रश्न 3- क्या कोविड-19 वैक्सीन लेना जरूरी है?

संभावित उत्तर- कोविड-19 वैक्सीन का टीकाकरण स्वैच्छिक है। हांलाकि, इस बीमारी से बचाव के लिए कोविड-19 वैक्सीन का पूरा शेड्यूल प्राप्त करना उचित है। जिससे कि स्वयं की सुरक्षा तथा क्लोज कान्टेक्ट में परिवार के सदस्यों, दोस्तों, रिश्तेदारों ओर सहकर्मियों में बीमारी को फैलने से रोका जा सके।


प्रश्न 4- क्या यह वैक्सीन सुरक्षित है क्योंकि इसे बहुत कम समय के परीक्षण के बाद ही उपयोग करने की अनुमति दी जा रही है?

संभावित उत्तर- देश में वैक्सीन का उपयोग तभी किया जायेगा जब नियामक संस्थाओं के द्वारा वैक्सीन की प्रभाविकता तथा सुरक्षा की अनुमति दे दी जाएगी।


प्रश्न 5- क्या वर्तमान में कोविड-19 (कंफर्म्ड तथा संदिग्ध ) संक्रमित वाले व्यक्ति को टीका लगाया जा सकता है?

संभावित उत्तर- कोविड-19 (कन्फर्म्ड तथा संदिग्ध) संक्रमित व्यक्ति से टीकाकरण स्थल पर किसी अन्य को भी इस बीमारी के फैलने का खतरा बढ़ सकता है। इसीलिये संक्रमित व्यक्ति के लक्षण ठीक होने के 14 दिन तक टीकाकरण को स्थगित कर देना चाहिये।


प्रश्न 6- क्या कोविड-19 बीमारी से स्वस्थ होने के बाद व्यक्ति को टीका लगाया जाना आवश्यक है?

संभावित उत्तर- हां, कोविड-19 बीमारी से स्वस्थ्य होने के बाद भी कोविड-19 वैक्सीन का टीकाकरण का पूरा शेड्युल लगाना उचित है। यह टीका बीमारी के विरूद्ध एक प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित करने में मदद प्रदान करेगा।


प्रश्न 7- उपलब्ध कई टीकों में से, टीका लगाने के लिए एक या एक से अधिक वैक्सीन को कैसे चुना जायेगा?

संभावित उत्तर- हमारे देश में ड्रग रेगुलेटर के द्वारा वैक्सीन कंडीडेट्स के क्लिनिकल ट्रायल्स की सुरक्षा तथा प्रभाविकता के डेटा के आधार पर लाइसेंस दिया जाता है। इसलिए लाइसेंस प्राप्त करने वाली समस्त कोविड-19 वैक्सीन में तुलनात्मक सुरक्षा तथा प्रभाविकता होगी। परंतु यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि केवल एक ही प्रकार के कोविड-19 वैक्सीन से शेड्यूल पूरा करना चाहिए, अन्य प्रकार के कोविड-19 वैक्सीन से बदलकर नहीं करना चाहिए।


प्रश्न 8- क्या भारत में कोविड-19 वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर स्टोर करने तथा आवष्यक तापमान पर परिवहन करने की क्षमता हैं?

संभावित उत्तर- भारत प्रतिवर्ष 2 करोड़ 60 लाख से अधिक नवजात शिशुओं और 2 करोड 90 लाख गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए विश्व में सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम चलाता है। देश की बड़ी और विविध आबादी को प्रभावी ढंग से टीकाकरण को पूरा करने के लिये कार्यक्रम तंत्र को विशेष रूप से मजबूत/तैयार किया जा रहा है।


प्रश्न 9- क्या भारत में पेश किया गया वैक्सीन उतना ही प्रभावशाली होगा जितना अन्य देशों में शुरू किया गया है?

संभावित उत्तर- हां, भारत में प्रारम्भ की गई कोविड-19 वैक्सीन अन्य देशों द्वारा विकसित की गयी किसी भी वैक्सीन जितनी ही प्रभावी होगी। इसकी सुरक्षा और प्रभाविकता सुनिश्चित करने के लिए टीका परीक्षणों के विभिन्न चरणों के प्रक्रियाधीन है।


प्रश्न 10- अगर मैं टीकाकरण के लिए पात्र हूं तो मुझे कैसे पता चलेगा?

संभावित उत्तर- प्रारंभिक चरण में, प्राथमिकता वाला समूह- स्वास्थ्य सेवा प्रदाता और फ्रंट-लाइन वर्कर्स को कोविड-19 वैक्सीन का टीका दिया जाएगा। टीके की उपलब्धता के आधार पर 50 से अधिक आयु वर्ग को भी टीका लगाने की शुरुआत हो सकती है। पात्र लाभार्थियों को उनके पंजीकृत मोबाइल नंबर के माध्यम से टीकाकरण सत्र स्थल के बारे में सूचित किया जाएगा कि किस निर्धारित दिनांक तथा स्थान पर टीका प्रदान किया जाएगा। यह सुविधा लाभार्थियों के पंजीकरण और टीकाकरण में किसी भी असुविधा से बचने के लिए किया गया है।


प्रश्न 11- क्या कोई व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग के पंजीकरण के बिना कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त कर सकता है?

संभावित उत्तर- नहीं, कोविड-19 के टीकाकरण के लिए लाभार्थी का पंजीकरण अनिवार्य है। पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल पर जाने और समय की जानकारी लाभार्थी के साथ साझा की जाएगी।


प्रश्न 12- पात्र लाभार्थी के लिए कौन से दस्तावेज आवष्यक है?

संभावित उत्तर- नीचे दिये गये किसी भी फोटोयुक्त पहचान पत्र का पंजीकरण के समय प्रस्तुत किया जा सकता है :-


❖ड्राइविंग लाइसेंस

❖स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी किया गया

❖महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम जॉब कार्ड

❖सांसदों/विधायकों/एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र

❖पैन कार्ड

❖बैंक/डाकघर द्वारा जारी पासबुक

❖पासपोर्ट

❖पेंशन दस्तावेज़

❖केंद्रीय/राज्य सरकार/पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किया गया सेवा पहचान पत्र

❖ मतदाता पहचान पत्र


प्रश्न 13- क्या पंजीकरण के समय फोटो युक्त पहचान पत्र की आवष्यकता होगी?

संभावित उत्तर- पंजीकरण के समय जिस फोटोयुक्त पहचान पत्र का उपयोग किया गया है उसे टीकाकरण के समय दिखाना आवश्यक है।


प्रश्न 14- यदि कोई व्यक्ति फोटोयुक्त पहचान पत्र को टीकाकरण के समय दिखाने में सक्षम नही है तो क्या उसे टीका लगाया जायेगा या नही?

संभावित उत्तर- फोटोयुक्त पहचान पत्र का सत्र स्थल पर लाभार्थी के पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अपेक्षित लाभार्थी/ व्यक्ति को टीका लगाया गया है।


प्रश्न 15- टीकाकरण के लिए निर्धारित दिनांक के बारे में लाभार्थी को जानकारी कैसे प्राप्त होगी?

संभावित उत्तर- ऑनलाइन पंजीकरण के बाद, लाभार्थी को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर नियत तारीख, स्थान और टीकाकरण के समय के बारे में एसएमएस प्राप्त होगा।


प्रश्न 16- क्या टीकाकरण हो जाने के बाद लाभार्थियों को टीकाकरण की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त होगी?

संभावित उत्तर- हाँ। कोविड-19 वैक्सीन की उचित खुराक मिलने पर, लाभार्थी को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस प्राप्त होगा। टीके की सभी खुराक लगने के बाद, लाभार्थी के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक क्यूआर कोड आधारित प्रमाण पत्र भी भेजा जाएगा।


प्रश्न 17- यदि कोई कैंसर, मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि जैसी बीमारियों की दवाई ले रहा है तो क्या वह कोविड-19 वैक्सीन ले सकता है?

संभावित उत्तर- हां। इनमें से एक या अधिक बीमारियों से ग्रसित परिस्थितियों वाले व्यक्तियों को उच्च जोखिम वाली श्रेणी माना जाता है। उन्हें कोविड-19 टीकाकरण कराने की आवश्यकता है।


प्रश्न 18- लाभार्थी द्वारा किसी भी सत्र स्थल पर बीमारी की रोकथाम के लिए क्या उपाय तथा सावधानी को पालन करने की आवश्यकता है?

संभावित उत्तर- हम आपसे अनुरोध करते हैं कि कोविड-19 वैक्सीन लेने के कम से कम 30 मिनट तक टीकाकरण केंद्र पर प्रतीक्षा करें। यदि आपको कोई असुविधा या बेचैनी महसूस होती है, तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों/एएनएम/आशा को सूचित करें। कोविड-19 सम्बंधी उपयुक्त व्यवहार का पालन करें जैसे मास्क पहनना, हाथ की सफाई और शारीरिक दूरी बनाए रखना (6 फीट या दो गज)।


प्रश्न 19- कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के पश्चात संभावित प्रतिकूल प्रभाव क्या हैं?

संभावित उत्तर- सुरक्षा सिद्ध होने पर ही कोविड वैक्सीन को उपयोग में लिया जायेगा। अन्य टीकों की तरह ही कुछ व्यक्तियों में इंजेक्शन की जगह पर हल्का दर्द, बुखार आदि जैसे प्रतिकूल प्रभाव हो सकते है, जो स्वतः ही जल्द ठीक हो जाते हैं। राज्यों से कहा गया है कि वे किसी भी कोविड-19 वैक्सीन से संबंधित दुष्प्रभावों से निपटने के लिए व्यवस्था करना सुनिश्चित करें ताकि लोगों को सुरक्षित वैक्सीन उपलब्ध करायी जा सके।


प्रश्न 20- मुझे वैक्सीन की कितनी खुराक तथा किस अंतराल पर लेनी होगी?

संभावित उत्तर- टीकाकरण के शेड्यूल के अनुसार, एक व्यक्ति के द्वारा कोविड-19 वैक्सीन की दो खुराकें 28 दिनों के अंतराल पर लिया जाना है।


प्रश्न 21- एंटीबाडीज कब विकसित होगीं? एक खुराक लेने के बाद, दो खुराक लेने के बाद या बहुत दिनों के बाद?

संभावित उत्तर- कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक प्राप्त करने के दो सप्ताह बाद एंटीबॉडी का सुरक्षात्मक स्तर आमतौर पर विकसित होता है।


लक्षित समूह - स्वास्थ्य सेवा प्रदाता / फ्रंटलाइन वर्कस


प्रश्न 1- मुझे कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के लिए क्यों चुना जा रहा है?

संभावित उत्तर- भारत सरकार ने सबसे अधिक जोखिम/उच्च जोखिम वाले समूहों को प्राथमिकता दी है, जो पहले वैक्सीन प्राप्त करेंगें। स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व किया है। सरकार चाहती है कि वायरस से जुड़े जोखिम के डर के बिना आप अपना काम जारी रख सकें। इसलिए, स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं और फ्रंटलाइन वर्क र्स देश में टीकाकरण करने वाले लोगों के पहले समूह में से हैं।


प्रश्न 2- पहले चरण में किन समूहों का टीकाकरण किया जाना है?

संभावित उत्तर- टीकों की संभावित उपलब्धता के आधार पर भारत सरकार ने प्राथमिकता वाले समूहों का चयन किया है जिन्हें प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाया जाएगा क्योंकि वे उच्च जोखिम में हैं। पहले समूह में स्वास्थ्य सेवा प्रदाता शामिल है क्योंकि वे संक्रमण के सम्पर्क में आने वाले उच्च जोखिम में है और आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को बनाए रखने के लिए उन्हें सुरक्षित रखना आवश्यक है। फ्रंटलाइन वर्क र्स के टीकाकरण से कोविड-19 बीमारी को रोककर सामाजिक और आर्थिक प्रभाव को कम करने में मदद मिलेगी। कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने वाला अगला समूह 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति और 50 वर्ष से कम आयु के अन्य बीमारी से ग्रसित व्यक्ति होंगे क्योंकि इस श्रेणी में मृत्यु दर अधिक है। टीकाकरण के लिए 50 वर्ष से अधिक आयु वर्ग को शामिल करने का कारण यह है कि यह कोमोर्बिड वाले 78 प्रतिशत व्यक्तियों को कवर करने में सक्षम होगा और इस तरह कोविड-19 के कारण होने वाली मृत्यु दर को कम करेगा। 50 वर्ष से अधिक आयु समूह को दो उप समूहों में विभाजित किया गया है। एक उप समूह 60 वर्ष से अधिक है, उन्हें पहले टीका लगाया जाएगा। दूसरा उपसमूह 50 से 60 वर्ष के आयु वर्ग के बीच है, उन्हें पहले उप समूह के कवर होने के बाद टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण क्रमिक तरीके नहीं हो सकता है। वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर सभी लाभार्थियों के लिए एक समयांतराल में टीकाकरण किया जा सकता है।


प्रश्न 3- क्या मेरे परिवार को भी वैक्सीन दी जायेगी?

संभावित उत्तर- प्रारंभिक चरण में सीमित वैक्सीन की आपूर्ति के कारण, यह पहले उन लोगों का टीकाकरण किया जाएगा, जिन्हें कोविड-19 के संक्रमण का अधिक खतरा है। बाद के चरणों में कोविड-19 वैक्सीन को अन्य सभी को उसकी जरूरत के अनुसार उपलब्ध कराया जाएगा।


प्रश्न 4- क्या यह वैक्सीन सुरक्षित है?

संभावित उत्तर- हां, परीक्षण के विभिन्न चरणों के माध्यम से, टीके की सुरक्षा और प्रभाविकता सुनिश्चित की जाएगी और उसके बाद ही वैक्सीन को टीकाकरण के लिए उपलब्ध की जाएगी।


प्रश्न 5- क्या कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने के बाद मास्क पहनने, हाथ साफ करने, सामाजिक दूरी जैसे रोकथाम उपायों का पालन करने की आवश्यकता है?

संभावित उत्तर- कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने के बाद भी, हमें फेस कवर या मास्क, हैंड सैनिटाइजेशन और डिस्टेंसिंग (6 फीट या 2 गज) के उपयोग जैसी सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए। इन व्यवहारों को सत्र स्थल और सामान्य रूप से, दोनों जगहों पर पालन करना चाहिए।


प्रश्न 6- कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के पश्चात संभावित प्रतिकूल प्रभाव क्या हैं?

संभावित उत्तर- कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित तथा प्रभावकारी है। परंतु अन्य टीकों की तरह ही कुछ व्यक्तियों में इंजेक्शन की जगह पर हल्का दर्द, बुखार आदि जैसे प्रतिकूल प्रभाव हो सकते हैं।



Popular posts
शहर के वरिष्ठ पत्रकार के परिवार में तीसरी मौत,दो भाईयों के बाद अब बहु की मौत,,,,,, अनेक पत्रकार कोरोना से लड़ रहे हैं जंग
Image
केंद्रीय मंत्री थावर चंद जी की पुत्री की मृत्यु
Image
चारों तरफ मौत का तांडव और ऐसे में बेड के सौदागरो की करतूत का सामने आना बेहद शर्मनाक,,,,,, सोशल मीडिया पर वायरल चैट का सच सामने आना चाहिए
Image
सारे रिकॉर्ड टूटे,,,आज 410 पॉजीटिव
Image
कोरोना का नया ट्रेंड पूरा परिवार आ रहा है चपेट में,,,,, पूर्व सांसद का पुत्र संक्रमित हुआ,,,,, विद्यापति कॉलोनी में एक ही परिवार की चार महिलाएं पॉजिटिव आई,,,,,,,,, ऋषि नगर और आजाद नगर में भी पूरा परिवार पॉजिटिव,,,,,,,,
Image